scriptNagaland: NPF MLAs joining NDPP was to debar a third party, says Zelia | नागालैंड: BJP के खिलाफ NDPP ने बनाई रणनीति, जेनियांग ने तीसरे पक्ष को लेकर किया खुलासा | Patrika News

नागालैंड: BJP के खिलाफ NDPP ने बनाई रणनीति, जेनियांग ने तीसरे पक्ष को लेकर किया खुलासा

संयुक्त जनतांत्रिक गठबंधन के अध्यक्ष टीआर जेलियांग ने कहा कि उनके 20 अन्य नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) विधायकों के साथ मुख्यमंत्री नेफिउ रियो की नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) में शामिल होने का उद्देश्य तीसरे पक्ष को लाभ लेने से रोकना था।

नई दिल्ली

Published: May 07, 2022 10:29:21 am

नागालैंड में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले है। इन चुनावों को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपने कमर कस ली है। पिछले महीने नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) ने 21 विधायकों ने पाला बदलते हुए नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) में शामिल हो गए थे। प्रदेश में एनपीएफ और एनडीपीपी क्षेत्रीय पार्टियां काफी मजबूत है। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस भी अपनी जड़े मजबूत करने में जुटी हुई है। इसी बीच संयुक्त जनतांत्रिक गठबंधन के अध्यक्ष टीआर जेलियांग ने कहा कि उनके 20 अन्य एनपीएफ विधायकों के साथ मुख्यमंत्री नेफिउ रियो की एनडीपीपी में शामिल होने का उद्देश्य 'तीसरे पक्ष' को लाभ लेने से रोकना था। नागालैंड की चुनावी रणनीति पर बात करते हुए कहा कि राज्य में दो मजबूत क्षेत्रीय दल है।

TR Zeliang
TR Zeliang

तीसरे पक्ष को फायदा उठाने से रोकना
यह पूछे जाने पर कि क्या उनका मतलब तीसरा पक्ष भाजपा से है। इस पर जेलियांग ने कहा कि यह भाजपा, कांग्रेस या कोई अन्य पार्टी हो सकती है। उनके मुताबिक जब राज्य में दो मजबूत क्षेत्रीय दल होंगे तो कोई तीसरा पक्ष इसका फायदा कैसे उठाएगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने 29 मार्च को एनडीपीपी में 21 एनपीएफ विधायकों के शामिल होने के बाद सार्वजनिक डोमेन में सामने आए कुछ भ्रम को दूर करने के लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई।

एनडीपीपी और एनपीएफ के बीच गहन विचार-विमर्श
यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने मुख्यमंत्री रियो की पार्टी में शामिल होकर अपने राजनीतिक करियर के साथ समझौता किया था, जेलियांग ने कहा, इससे कोई विवाद नहीं होगा। उन्होंने समझाया कि हालिया राजनीतिक विकास रातोंरात निर्णय नहीं था बल्कि 2021 से एनडीपीपी और एनपीएफ के बीच गहन विचार-विमर्श का परिणाम था।

यह भी पढ़ें

नागालैंड में सियासी बवाल: NPF के 21 विधायक NDPP में शामिल, भाजपा से भिड़ने की तैयारी




दोनों दलों के बीच एकता पर जोर
जेलियांग ने कहा कि निर्वाचित सदस्यों, विशेष रूप से राज्य में दो क्षेत्रीय दलों एनपीएफ और एनडीपीपी के बीच एकता की यह मांग जोर से गूँजती है क्योंकि भारत सरकार और नागा वार्ता समूहों के बीच राजनीतिक बातचीत में गतिरोध था। उन्होंने कहा कि चल रही राजनीतिक गतिशीलता के कारण, राज्य में एक मजबूत क्षेत्रीय पार्टी होने का विचार फिर से उभरा और दो क्षेत्रीय दलों एनडीपीपी और एनपीएफ को मिलाने के लिए एक स्वीकार्य सूत्र पर काम करने के लिए उच्चतम स्तर पर बातचीत की गई।

यह भी पढ़ें

त्रिपुरा : जम्मू से आए 10 बच्चे सहित 24 रोहिंग्या को पकड़ा



सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: बीजेपी ऐसे भिखारियों का हाथ पकड़कर खुद को बता रही महाशक्ति.. ‘सामना’ के जरिए फिर शिवसेना ने कसा तंजAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: शिवसेना के पुणे शहर प्रमुख संजय मोरे ने खुलेआम दी धमकी, कहा- बागी विधायकों के दफ्तरों पर करेंगे हमला, किसी को नहीं छोड़ेंगेMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.