scriptNew labor code may be implemented from July 1 | 1 जुलाई से लागू हो सकता है नया लेबर कोड, हफ्ते में 4 दिन काम के बाद मिलेगी 3 दिन की छुट्टी | Patrika News

1 जुलाई से लागू हो सकता है नया लेबर कोड, हफ्ते में 4 दिन काम के बाद मिलेगी 3 दिन की छुट्टी

New labor code: देश में 1 जुलाई से नया लेबर कोड लागू हो सकता है, जिसके बाद पीएफ, कर्मचारियों के काम के घंटे, कर्मचारियों की वेतन का स्ट्रक्चर, बेसिक सैलरी, ग्रेच्युटी सहित कई अन्य नियम में बड़े बदलाव हो सकते हैं।

 

नई दिल्ली

Published: June 23, 2022 05:04:41 pm

New labor code: 1 जुलाई से आपके काम को लेकर कई बड़े बदलाव हो सकते हैं। केंद्र सरकार 1 जुलाई से देश में नया लेबर कोड लागू कर सकती है। नया लेबर कोड लागू होने के बाद आप एक दिन में 12 घंटे काम करना पड़ सकता है। हालांकि 1 दिन में 12 घंटे काम करने वाले व्यक्ति को 1 हफ्ते में 3 दिन की छूट्टी मिलेगी, उसे हफ्ते में केवल 4 दिन ही काम करना पड़ेगा। इसके साथ ही अलग-अलग जो जितने घंटे काम करेगा उस हिसाब से उसकी छूट्टी का निर्धारण होगा। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सरकार ने 44 सेंट्रल लेबर एक्ट को मिलाकर 4 नए लेबर कोड बनाए हैं, जिसे लागू करने के लिए कई कंपनियों ने तैयारी कर ली है।
new-labor-code-may-be-implemented-from-july-1.jpg
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार देश में नया लेबर कोड को केंद्र सरकार 1 जुलाई से लागू कर सकती है, हालांकि सरकार की ओर से इस बारे में अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है और न ही कोई अधिसूचना जारी की गई है।

तीन शिफ्ट में काम को मिल सकती है मंजूरी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार देश में नया लेबर कोड लागू होने के बाद तीन शिफ्ट में काम को मंजूरी मिल सकती है, जिसमें काम के घंटे के हिसाब से हफ्ते में छुट्टी का निर्धारण होगा।
- रोजाना 12 घंटे काम करने वाले को व्यक्ति को मिलेगी 3 दिन की छुट्टी
-रोजाना 10 घंटे काम करने वाले को व्यक्ति को मिलेगी 2 दिन की छुट्टी
- रोजाना 8 घंटे काम करने वाले को व्यक्ति को मिलेगी 1 दिन की छुट्टी

रिटायरमेंट के बाद कटेगी सुकून की जिंदगी

नया लेबर कोड लागू होने के बाद कर्मचारियों की सैलरी स्ट्रक्चर में भी बदलाव हो सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बेसिक सैलरी कुल सैलरी का 50% से अधिक होना जरूरी होगा, जिसके बाद बेसिक सैलरी में भी इजाफा हो सकता है। वहीं पीएफ में पहले के मुकावले ज्यादा पैसे जमा हो सकते हैं, जिसके कारण रिटायरमेंट तक ज्यादा पैसा जमा हो सकता है। इसके साथ ही कंपनियों को भी अभी के मुकाबले पीएफ अकाउंट में ज्यादा पैसा जमा करना पड़ सकता है। इस कारण से रिटायरमेंट तक ज्यादा पैसा जमा हो जाएगा,जिसके कारण रिटायरमेंट के बाद सुकून की जिंदगी कटेगी।

इंडस्ट्रियल रिलेशंस कोड को भी मिल सकती है मंजूरी

इंडस्ट्रियल रिलेशंस कोड में कंपनियों को काफी छूट दी गई है। नया लेबर कोड लागू होने के बाद 300 से कम संख्या वाली कंपनियां सरकार की बिना किसी मंजूरी के छंटनी कर सकती हैं। 2019 के पुराने लेबर कोड में 100 संख्या वाली कंपनियों को यह छूट दी गई है।

इन देशों में पहले से लागू है ये नियम

स्पेन, जापान, न्यूजीलैंड, आयरलैंड, स्कॉटलैंड और आइसलैंड जैसे कई देशों में हफ्ते में 4 दिन काम करना पड़ता है। इसके साथ ही इन देशों में साप्ताहिक काम के घंटों में भी कमी की गई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना से बागी एकनाथ शिंदे ने टाला मुंबई आने का प्लान, नासिक में पोस्टर पर पोती गई कालिखMaharashtra Political Crisis: शरद पवार से मुलाकात के बाद संजय राउत के तेवर सख्त, बोले-फ्लोर टेस्ट में जीतेंगे, बागियों से बातचीत का निकल गया वक्तMaharashtra Political Crisis: गुवाहटी के होटल में विधायकों पर पानी की तरह बहाया जा रहा पैसा, जानिए रहने और खाने पर कितना हो रहा खर्चPresidential Election: द्रौपदी मुर्मू ने दाखिल किया राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन, जगन मोहन रेड्डी और पटनायक के समर्थन से जीत तयगुजरात दंगाः जाकिया जाफरी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, SIT की क्लीन चिट के खिलाफ याचिका खारिजMaharashtra Political Crisis: केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने उद्धव सरकार पर कसा तंज, बोले-ये लोग आपस में झगड़ कर खुद गिरा लेंगे सरकारवरुण गांधी ने एक बार फिर भाजपा पर उठाया सवाल कहा, अग्निवीर पेंशन के हकदार नही हैं तो जनप्रतिनिधियों को यह ‘सहूलियत’ क्यों?असम के बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य के लिए तैनात किए गए गरुड़ एयरोस्पेस ड्रोन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.