राफाल सौदे की कीमत से कोई समझौता नहींः पर्रिकर 

रक्षा मंत्री ने कहा कि फ्रांस को इस सौदे के जटिल मुद्दों को लेकर फंसे पेंचों को दूर करने के लिए खामियों से रहित समाधान सुझाना होगा।

By: Jyoti

Published: 17 Mar 2015, 04:46 PM IST

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने लंबे समय से लटके पड़ेे 126 राफाल लडाकू विमानों के सौदे पर स्थिति स्पष्ट करते हुए मंगलवार कहा कि कीमत और अंतर्राष्ट्रीय टेंडर की मूल शर्तों के साथ किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। 

रक्षा मंत्री ने कहा कि फ्रांस को इस सौदे के जटिल मुद्दों को लेकर फंसे पेंचों को दूर करने के लिए खामियों से रहित समाधान सुझाना होगा। पर्रिकर ने यहां पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा कि राफाल की निर्माता कंपनी डसाल्ट के साथ सौदे को लेकर बातचीत जारी है लेकिन हिन्दुस्तान एरोनोटिक्स लिमिटेड को उसके साथ कुछ मुद्दों का समाधान करना है। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अप्रैल में फ्रांस यात्रा के मद्देनजर रक्षा मंत्री की यह बेबाक टिप्पणी काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि दोनों देश उनकी यात्रा से पहले इस सौदे पर तेजी से काम में जुटे हैं। 

पर्रिकर ने कहा उन्हें (फ्रांस) कुछ मुद्दों के बारे में हमे खामी रहित समाधान देना होगा । उन्हें निर्णय लेना है इधर या उधर। उन्होंने कहा कि हमेें बताएं क्या आप (डसाल्ट) ऐसा कर सकते हैं। हम लंबे समय तक इंतजार नहीं कर सकते।

 राफाल को सबसे कम कीमत के आधार पर ही चुना गया था। पर्रिकर ने कहा अंतर्राष्ट्रीय टेंडर की शर्त और नीलामी में लगाई गई कीमत को हर हालत में बरकरार रखना है।
Jyoti Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned