scriptOmar Abdullah raised kashmir accession issue, target centre as well | पता होता हमें दबाया जाएगा तो कश्मीर विलय पर हमारा फैसला कुछ और होता- उमर अब्दुल्ला | Patrika News

पता होता हमें दबाया जाएगा तो कश्मीर विलय पर हमारा फैसला कुछ और होता- उमर अब्दुल्ला

Omar Abdullah on Jammu Kashmir Accession: जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने आज मीडिया से बातचीत में लाउडस्पीकर, अजान, हिजाब जैसे उन मुद्दों को उठाया जिसको लेकर देशभर में कोई न कोई विवाद चल रहा है।

Updated: April 28, 2022 07:30:19 am

Omar Abdullah on Jammu Kashmir Accession: जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने देश में चल रहे हलाल, लाउडस्पीकर और हिजाब जैसे मुद्दों पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। इस दौरान उन्होंने ये भी कहा कि यदि कश्मीर के विलय के समय हमें पता होता कि हमारे साथ ऐसा व्यवहार होगा तो शायद हमारा फैसला तब अलग होता। इस बयान पर सोशल मीडिया पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं भी देखने को मिली। कुछ यूजर्स ने कश्मीरी पंडितों का मुद्दा एक बार फिर से उठाया।
Omar Abdullah raised kashmir accession issue, target centre as well
Omar Abdullah raised kashmir accession issue, target centre as well
उमर अब्दुल्ला ने मीडिया से बातचीत में कहा, "सियासत के लिए गलत माहौल बनाया जा रहा है। ये सिर्फ हिजाब की बात नहीं है, हमें कहा जा रहा है कि मस्जिदों में लाउड स्पीकर इस्तेमाल नहीं होने चाहिए। क्यों? अगर बाकी जगहों पर लाउड स्पीकर इस्तेमाल होते हैं तो मस्जिदों में क्यों नहीं? दिन में पाँच बार ही अजान होती है तो इसमें गुनाह क्या है?"

उमर अब्दुल्ला ने आगे कहा, "आप हमें कहते हो कि हमें हलाल मीट नहीं बिकना चाहिए। हमारे मजहब में लिखा है कि हलाल मीट ही खाना है। आप इसपर रोक क्यों लगा रहे हैं? हम आपको हलाल मीट खाने पर मजबूर नहीं कर रहे कि आप हलाल मीट खाएं। आप अपने हिसाब से खाइए हम अपने हिसाब से कहयएंगे। हम आपसे नहीं कहते कि मंदिरों में माइक नहीं लगने चाहिए। क्या मंदिरों, गुरुद्वारे में माइक नहीं लगते? लेकिन आपको सिर्फ हमारा माइक खटकता है, आपको सिर्फ हमारा मजहब खटकता है। आपको सिर्फ हमारे कपड़े पसंद नहीं हैं। आपको सिर्फ हमारा नमाज पढ़ने का तरीका पसंद नहीं है। बाकियों से आपको कोई ऐतराज नहीं है।"

यह भी पढ़ें

जनता का ध्यान भटकाने के लिए लाउड स्पीकर को विवाद बनाया गया - अखिलेश यादव

उन्होंने नफरत की राजनीति का भी उल्लेख किया और कहा, "ये एक एक नफरत यहाँ डाली जा रही है। मैं फिर कहता हूँ कि ये वो हिंदुस्तान नहीं है जिसके साथ जम्मू-कश्मीर ने समझौता किया था। हमने उस हिंदुस्तान के साथ समझौता किया था जिसमें हर मजहब को बराबरी की नजर से देखा जाएगा। हमें ये नहीं देखा था कि एक मजहब को ज्यादा अहमियत दी जाएगी और दूसरे मजहब को दबाया जाएगा। हमें ये कहा गया था कि आपको बराबरी का दर्जा मिलेगा तब हमने सोच समझकर फैसला लिया था। लेकिन हमें ये कहा गया होता कि बराबरी नहीं होगी तो शायद हमारा फैसला कुछ और होता।"

उन्होंने कहा कि "हम भाईचारे की बात करते हैं लेकिन हमारा मुकाबला उन लोगों के साथ है जो भाई चारे को तहस-नहस करने की बात करते हैं। हम इसकी इजाजत नहीं देंगे।"

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

कोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायलConstable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का सायाWeather Update: उत्तर भारत में भीषण गर्मी, इन राज्यों में आंधी और बारिश की अलर्टLucknow: क्या बदलने वाला है प्रदेश की राजधानी का नाम? CM योगी के ट्वीट से मिले संकेतजमैका के दौरे पर गए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने क्यों की सलवार-कुर्ता की चर्चा, जानिए इस टूर में और क्या-क्या हुआबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनगेहूं के निर्यात पर बैन पर भारत के समर्थन में आया चीन, G7 देशों को दिया करारा जवाब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.