script माथे पर सटाई बंदूक और टीचर से जबरन करा दिया बेटी का पकड़ौआ विवाह, जानें क्या है ये प्रथा? | Pakadaua vivah in bihar Bpsc teacher gautam kumar pakdaua vivah court declared illegal | Patrika News

माथे पर सटाई बंदूक और टीचर से जबरन करा दिया बेटी का पकड़ौआ विवाह, जानें क्या है ये प्रथा?

locationनई दिल्लीPublished: Dec 02, 2023 05:07:53 pm

Submitted by:

Shivam Shukla

Pakadaua vivah: बीते कई दिनों से बिहार में पकड़ौआ विवाह का एक मामला सुर्खियों में छाया हुआ है। आइए जानते हैं ये क्या होता है और इसकी शुरूआत कब से हुई।

Pakadaua vivah

what is pakdaua vivah: बिहार से एक हैरान करने वाला शादी का मामला सामने आया है। यहां एक कुछ दंबगों ने पहले एक टीचर का अपहरण किया फिर अपनी बेटी से जबरन शादी करा दी। बताया जाता है कि अपहरण किए टीचर के साथ दबंगों ने मारपीट भी की है। दरअसल, बिहार के वैशाली जिले में लगभग एक महीने पहले बीपीएसई टीचर को कुछ दंबगों ने स्कूल जाते वक्त अगवा कर लिया, इसके बाद हड़कंप मच गया। स्कूल के प्रधानाचार्य ने इस बात की सूचना अध्यापक के परिजनों को दी। इसके बाद परिजनों ने अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस जांच में खुलासा हुआ कि शिक्षक का पकड़ौआ विवाह करा दिया गया है। आखिर पकड़ौआ विवाह होता क्या है। आइए इस प्रथा के बारे में जानते हैं।

70 और 80 के दशक में अपने चरम पर रही ये कुप्रथा

दरअसल, बिहार में इस कुप्रथा का चलन 70 और 80 के दशक में अपने चरम पर रहा, जबकि इसका थोड़ा बहुत असर अब भी बरकरार है। पकड़ौआ विवाह में लड़की के घर वाले किसी नौकरी या अच्छा पैसा कमाने वाले लड़के से जबरन अपनी बेटी की शादी करा देते हैं।

दहेज से जुड़ा है मामला

कुछ जानकारों का कहना है कि ऐसी प्रथा का चलन इस लिए हुआ क्योंकि बिहार में ज्यादात्तर नौजवान बेरोजगार हैं ऐसे में जब किसी लड़के की नौकरी लग जाती है या कोई लड़का अच्छा पैसा कमाने लगता है तो लड़की के घर वाले बेटी का पकड़ौआ विवाह करा देते हैं। इसके अलावा एक धड़ का ये भी मानना है कि गरीब लोगों की संख्या ज्यादा है ऐसे में वो अच्छे घर के लड़के दहेज देने की डिमांड करते हैं और वो देने में अक्षम होते हैं। इसलिए वो अपनी बेटी का पकड़ौआ विवाह करा देते हैं।

हाईकोर्ट ने बताया गैरकानूनी

बता दें कि इस विवाह को लेकर पटना हाईकोर्ट ने अहम टिप्पणी की थी। अदालत ने कहा था कि इस प्रकार का विवाह गैरकानूनी और अमान्य है। ये राइट टू लाइफ को वायलेट करता है।

ट्रेंडिंग वीडियो