scriptPresidential Election: how opposition preparing for 2024 LS election | Presidential Election: राष्ट्रपति चुनाव के जरिए 2024 की तैयारी में विपक्ष | Patrika News

Presidential Election: राष्ट्रपति चुनाव के जरिए 2024 की तैयारी में विपक्ष

PRESIDENTIAL ELECTION: राष्ट्रपति चुनावों को लेकर विपक्षी दल एक मंच पर आने की तैयारी कर रहे हैं। ममता बनर्जी की पहल को सोनिया गांधी का साथ मिला है। अब इसी क्रम में 15 जून को विपक्ष की महाबैठक होने वाली है।

Updated: June 12, 2022 04:25:01 pm

राष्ट्रपति चुनाव के ऐलान के बाद से सत्ता पक्ष और विपक्ष में हलचल तेज है। पक्ष और विपक्ष इस चुनाव के लिए जमकर तैयारी कर रहे हैं, लेकिन विपक्ष की एकजुटता से बीजेपी परेशान है। यही नहीं विपक्ष राष्ट्रपति चुनावों के जरिए विपक्ष 2024 के लिए अपनी रणनीति बना रहा है। विपक्षी किसी भी हाल में इस अवसर को अपने हाथ से नहीं जाने देना चाहता है। यही कारण है कि ममता बनर्जी ने जब विपक्षी नेताओं की बैठक बुलाई तो सोनिया गांधी ने उनका साथ दिया है। शनिवार को ममता बनर्जी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मुलाकात की। इस दौरान आपसी मतभेदों से ऊपर उठने पर जोर दिया गया।
Presidential Election: Here is how opposition preparing for 2024 Loksbha election
Presidential Election: Here is how opposition preparing for 2024 Loksbha election
10 दिनों भीतर विपक्ष करेगा सामूहिक उम्मीदवार की घोषणा
15 जून को एक बार फिर से कांस्टीट्यूशन क्लब विपक्षी दलों की महाबैठक है और इस दौरान राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर चर्चा होगी। कहा जा रहा है कि अगले 10 दिनों के भीतर विपक्ष अपने प्रत्याशी के नाम पर मुहर लगा देगा। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि यदि विपक्ष ने एक उम्मीदवार के नाम पर मुहर लगाई तो ये 2024 के चुनावों के लिए पहली एकजुटता नींव साबित हो सकती है।

कांग्रेस ने ममता के कदम को सराहा
गौरतलब है कि कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने भी ममता बनर्जी के इस कदम की सराहना की है। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा, 'ममता बनर्जी का ये एक सही कदम है। न केवल राष्ट्रपति चुनाव के लिए, बल्कि लोकसभा चुनावों के लिए भी विपक्ष का एकजुट होना आवश्यक है। अगर विपक्ष एकजुट नहीं होता है, तो हम बीजेपी का मुकाबला नहीं कर पाएंगे।" हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि यदि ये बैठक कांग्रेस बुलाती तो उन्हें और अधिक खुशी होती।
राष्ट्रपति चुनाव के जरिए 2024 की तैयारी?
राज्यसभा के चुनावों में बीजेपी का पलड़ा भारी रहा। इस चुनाव के नतीजों के बाद से विपक्षी पार्टियों को लग रहा है राष्ट्रपति चुनाव के समय विपक्षी एकजुटता को दिखाने का एक बढ़िया अवसर है। शायद ये बात कांग्रेस और ममता बनर्जी दोनों समझ रहे हैं। तभी दोनों की तरफ से विपक्ष को एकजुट करने के प्रयास दिखाई दे रहे हैं। एक तरफ सोनिया गांधी ने नेता प्रतिपक्ष मलिकार्जुन खड़गे को विपक्षी दलों को एकजुट करने के लिए कहा है, तो दूसरी तरफ ममता बनर्जी ने आज विपक्षी दलों की बैठक बुलाई थी। TMC और कांग्रेस में इस बात को लेकर दूरी थी कि यदि विपक्ष की जीत होती है तो पीएम का चेहरा ममता होंगी। हालांकि, अभी ऐसा लग रहा है कि विपक्ष बीजेपी को हराने पर अधिक फोकस कर रहा है।

नेता प्रतिपक्ष मलिकार्जुन खड़गे को मिली बडी जिम्मेदारी
बता दें कि राष्ट्रपति चुनावों के लिए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने नेता प्रतिपक्ष मलिकार्जुन खड़गे को विपक्षी दलों को एकजुट करने की जिम्मेदारी सौंपी हैं। इसी सिलसिले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने ममता बनर्जी के साथ टेलीफोन पर बात भी की थी। इसके बाद शरद पवार और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मिलने भी पहुंचे थे।
सोनिया ने ममता की पहल का दिया साथ
इन प्रयासों एक बीच सोनिया गांधी ने ममता बनर्जी की पहल को भी अपना समर्थन देकर ये संदेश दे दिया है कि विपक्ष एकजुट है। अब जल्द ही 15 जून को होने वाली विपक्ष की महाबैठक इस बात को और बल देतीहैं कि विपक्ष फिलहाल एकजुट हो रहा है। यदि राष्ट्रपति के चुनाव में सभी विपक्षी पार्टियां मिलकर काम करती हैं जो लोकसभा चुनावों में बीजेपी को कड़ी टक्कर का सामना करना पड़ सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.