scriptकेजरीवाल के समर्थन में आए दूसरे देशों को जयशंकर की चेतावनी, कहा- मर्यादा बनाए रखो | S Jaishankar warning to US, Germany for commenting on Delhi CM Arvind Kejriwal | Patrika News

केजरीवाल के समर्थन में आए दूसरे देशों को जयशंकर की चेतावनी, कहा- मर्यादा बनाए रखो

locationनई दिल्लीPublished: Apr 03, 2024 10:35:30 am

Submitted by:

Akash Sharma

विदेश मंत्री ने कहा कि हम विश्व के सभी देशों से आग्रह करते हैं कि दुनिया के बारे में आपके अपने विचार होगें, लेकिन किसी भी देश को खासकर दूसरे देश की राजनीति पर टिप्पणी करने का किसी को अधिकार नहीं है। इस तरह के किसी भी हस्तक्षेप पर भारत का सख्त जवाब मिलेगा।

External Affairs Minister S Jaishankar enraged by comments of other countries on Arvind Kejriwal

अरविंद केजरीवाल पर दूसरे देशों की टिप्पणी से भड़के विदेश मंत्री एस जयशंकर

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर दूसरे देशों की टिप्पणियों को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सख्त चेतावनी दी है। विदेश मंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भारत के आंतरिक विषयों में बेवजह टीका टिप्पणी से बचना चाहिए। दूसरे सभी देशों को अपनी मर्यादा में रहना चाहिए। इस तरह के किसी भी हस्तक्षेप पर भारत का सख्त जवाब मिलेगा। बता दें कि हाल ही के दिनों में दिल्ली शराब घोटाला मामले में केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर अमेरिका (US), जर्मनी (Germany) और संयुक्त राष्ट्र के राजनयिकों ने बयान जारी करते हुए भारत पर नजर बनाए रखने की बात कही थी।

‘मर्यादा बनाए रखो’


भारत के आंतरिक मुद्दों पर अंतरराष्ट्रीय समुदायों की ओर से की जा रही टिप्पणियों के खिलाफ भारत ने कड़ा विरोध जताया है। एस जयशंकर ने कहा, ‘देशों के बीच एक खास मर्यादा है। हम संप्रभु देश हैं, हमें एक दूसरे के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। हमें एक दूसरे की राजनीति के बारे में कोई टीका टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। विदेश मंत्री ने कहा कि हम विश्व के सभी देशों से आग्रह करते हैं कि दुनिया के बारे में आपके अपने विचार होगें, लेकिन किसी भी देश को खासकर दूसरे देश की राजनीति पर टिप्पणी करने का किसी को अधिकार नहीं है। साथ ही कहा कि कुछ शिष्टाचार और परंपराएं होती हैं, जिनका अंतरराष्ट्रीय संबंधों में पालन किया जाना चाहिए। अगर कोई देश भारत की राजनीति पर टिप्पणी करता है तो उन्हें हमसे बहुत कड़ा जवाब मिलेगा और यह हुआ भी है।

अरुणाचल पर चीन को लिया आड़े हाथ


एस जयशंकर ने अरुणाचल प्रदेश में कई स्थानों के नाम बदलने के चीन के प्रयासों की भी निंदा करते हुए इसे अतार्किक करार दिया। कहा कि पूर्वोत्तर राज्य भारत का एक अभिन्न हिस्सा है। चीन की ओर से अरुणाचल प्रदेश में कई स्थानों के लिए नये नामों की चौथी सूची जारी करने के जवाब में जयशंकर ने इस क्षेत्र पर भारत के रुख को दोहराया। साथ ही इस बात पर जोर दिया कि अरुणाचल प्रदेश हमेशा भारत का अभिन्न अंग रहा है और रहेगा।

ट्रेंडिंग वीडियो