scriptsaw PM Modi suffer:Amit Shah after SC clean chit to PM in Gujarat riot | Amit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है | Patrika News

Amit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है

Amit Shah on Gujarat Riots: पीएम मोदी सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए क्लीन चिट पर आज गेह मंत्री अमित शाह ने बात की। इस दौरान कई अहम बिंदुओं को उन्होंने सामने रखा।

Updated: June 25, 2022 11:37:08 am

साल 2002 में हुए गुजरात दंगे एक बार फिर से चर्चा में हैं। सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस दंगे में पीएम मोदी को दी गई क्लीन चिट को चुनौती दी गई थी। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने जाकिया जाफरी द्वारा दायर की गई याचिका को खारिज कर दिया। अब इसी मुद्दे पर आज गृह मंत्री अमित शाह ने एक न्यूज एजेंसी को इंटरव्यू दिया है। अमित शाह ने इस दौरान कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने क्लीन चिट दिया उसपर बाद में बात करेंगे लेकिन ये अवश्य कहूँगा कि आरोप गढ़े गए थे जिसे खुद कोर्ट ने माना था। कोर्ट ने माना था कि आरोप राजनीतिक रूप से प्रेरित थे। इसके बाद अमित शाह ने कहा कि उन्होंने पीएम मोदी को इस दर्द को झेलते हुए बहुत नजदीक से देखा है।
Saw PM Modi suffer: Amit Shah after SC upheld clean chit to PM in Gujarat riots
Saw PM Modi suffer: Amit Shah after SC upheld clean chit to PM in Gujarat riots
सभी दुखों को भगवान शंकर के विषपान तरह सहन किया
अमित शाह से जब सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पूछा गया कि उन्हें कैसा लग रहा है तो उन्होंने कहा, "18-19 साल की लड़ाई, देश का इतना बड़ा नेता एक शब्द बोले बगैर सभी दुखों को भगवान शंकर के विषपान की तरह गले में उतार कर सहन करके लड़ता था। आज जब अंत में सत्य सोने की तरह चमकता हुआ बाहर आया है तो आनंद ही होगा। मैंने बहुत नजदीक से मोदी जी को इस दर्द को, इस आरोप को झेलते हुए देखा है। और सबकुछ सत्य होने के बावजूद क्योंकि न्यायिक प्रक्रिया जारी है हम कुछ नहीं बोलेंगे, इस तरह का स्टैंड बहुत मजबूत मन का आदमी ही ले सकता है।"

अमित शाह ने आगे कहा, "मैं आज जो इंटरव्यू दे रहा हूँ वही इन्टरव्यू मैं गुजरात का गृह मंत्री रहते हुए भी दे सकता था, लेकिन जब तक न्यायिक प्रक्रिया जारी रही तब तक मोदी जी ने कुछ नहीं कहा जिससे कि कोई प्रभाव पड़े। चुपचाप उसे सहन करते रहे।कुछ लोगों ने उन आरोपों को राजनीतिक रूप से प्रेरित होकर लगाया था। हमने 19 सालों में कुछ नहीं कहा आज बताता हूँ।" इसके बाद अमित शाह ने एक एक कर मामले पर अपनी राय रखी।
यह भी पढ़ें

अमित शाह आज से दो दिन के गुजरात दौरे पर, केवडिया कार्यक्रम में शामिल होंगे

पीएम मोदी ने पूछताछ करने पर नहीं किया कोई ड्रामा
अमित शाह ने कहा, "मोदी जी पर लगे सभी आरोप खारिज हो चुके हैं और इससे बीजेपी पर जो धब्बा लगा था वो भी धूल गया है। मोदी जी जैसे वैश्विक नेता पर जिस तरह के आरोप लगे थे, मैं मानता हूँ कि लोकतंत्र के अंदर मोदी जी ने संविधान का सम्मान कैसे हो सकता है इसका एक आदर्श उदाहरण सभी राजनीतिक क्षेत्र में काम करने वालों के समक्ष रखा है।"

अमित शाह ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा, "मोदी जी से भी पूछताछ हुई थी। किसी ने धरना प्रदर्शन नहीं किया था। देशभर से कार्यकर्ता आकर मोदी जी के समर्थन में रैली के लिए खड़े नहीं हुए थे। हमने कानून का सहयोग किया था। मुझे भी अरेस्ट किया गया था फिर भी कोई धरना प्रदर्शन नहीं किया था। जब सत्य इतनी लंबी लड़ाई के बाद बाहर आता है विजयी होकर तो सोने से भी अधिक उसकी चमक होती है। मुझे बहुत अच्छा लग रहा है कि जिन लोगों ने भी मोदी जी पर आरोप लगाए थे अगर उनकी अन्तरात्मा है तो उन्हें बीजेपी और मोदी जी से क्षमा माँगनी चाहिए।"
यह भी पढ़ें

BJP ने कांग्रेस व लेफ्ट से पूछा- 'मोदी विरोध के नाम पर और कितने दिन दुकान चलाएंगे आप'

जानबूझकर झूठ को एक इकोसिस्टम ने बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया
जब अमित शाह से पूछा गया कि सर आरोप लगे थे क्या, दंगे तो हुए ही थे। इसपर अमित शाह ने कहा, "आरोप क्या था? दंगों में राज्य सरकार का हाथ था। यहाँ तक भी कह गए कि दंगों में मुख्यमंत्री का हाथ था। आरोप ये थे, दंगे से कौन इनकार कर रहा है। देश में दंगे कई जगह हुए।"

जब अमित शाह से पूछा गया कि क्यों प्रशासनिक तौर पर और न ही पुलिस कुछ कर पाई दंगा रोकने के लिए तो अमित शाह ने कहा, बीजेपी की विरोधी राजनीतिक पार्टियां, कुछ विचारधारा के लिए राजनीति में आए हुए पत्रकार और कुछ NGO ने मिलकर इस आरोपों को इतना प्रचारित किया था। इसका इकोसिस्टम इतना मजबूत था कि धीरे-धीरे झूठ को लोग सच मानने लगे। उस समय भले ही केंद्र और राज्य में बीजेपी की सरकार को लेकिन मीडिया के काम में दखल देने का हमारा attitude नहीं है। न उस किया था और न ही आज करते हैं। उस इकोसिस्टम ने झूठ को इस तरह से पेश किया कि सभी लोग उसे सच मानने लगे।"

SIT राज्य सरकार की सहमति से बनी थी
SIT बनाए जाने को लेकर पूछे गए सवाल पर अमित शाह ने कहा, "SIT का ऑर्डर एक NGO ने मांग की थी, जब कोर्ट ने हमारे वकील से पूछा तो हमने भी कह दिया कि जब कुछ छुपाना ही नहीं है तो SIT बने हमें क्या आपत्ति है। राज्य सरकार और कोर्ट की सहमति के बाद ही SIT बनी थी। इसका उल्लेख कोर्ट के फैसले में भी था।"
सेना को बुलाने में एक दिन भी देरी नहीं हुई
अमित शाह ने इंटरव्यू में कहा, "जब दंगे भड़के तो तुरंत गुजरात सरकार ने सेना को बुलाया था। सेना को पहुँचने में समय लगा था। इस बात को कोर्ट ने भी अपने फैसले में माना है। उन्होंने कहा कि सेना मुख्यालय होने के बावजूद 1984 में दिल्ली में सिखों की हत्या को कांग्रेस नहीं रोक पई। तब क्यों कांग्रेस ने कोई SIT का गठन नहीं किया?, कोई जांच क्यों नहीं करवाई? ये हम पर पक्षपात का आरोप लगा रहे है।"

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

अरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेMaharashtra Cabinet Expansion: कल हो सकता है शिंदे मंत्रिमंडल का विस्तार, CM आवास पहुंचे देवेंद्र फडणवीस'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीMaharashtra Coal Scam: दिल्ली कोर्ट का फैसला- पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को 3 और कंपनी डायरेक्टर को 4 साल की जेलShirdi Flood: शिरडी में भारी बारिश से हाहाकार, सरकारी विश्राम गृह और साईं प्रसादालय पानी में डूबा, देखें तस्वीरेंखाटूश्यामजी हादसा: दो शवों की भी हुई शिनाख्त, पीएम मोदी ने जताया दुख, सीएम ने की जांच व मुआवजे की घोषणाMumbai: मनी लॉन्ड्रिंग केस में संजय राउत को बड़ा झटका, PMLA कोर्ट ने ED कस्टडी 22 अगस्त तक बढ़ाई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.