SCO समिट: PM मोदी ने आतंकवाद पर नवाज को लताड़ा, नरम पड़े पाक PM के तेवर

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद मानवता और उसके मूल्यों के लिए सबसे बड़ा दुश्मन बन चुका है।

पीएम नरेन्द्र मोदी शंघार्इ को-ऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे। जाहं पाक पीएम नवाज शरीफ से उन्होंने मुलाकात की और आयोजित कार्यक्रम में आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान को आईना दिखाया। पीएम मोदी ने स्ष्टह्र समिट के दौरान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई जारी रखने की वैश्विक सहयोग की अपील की है। 



कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद मानवता और उसके मूल्यों के लिए सबसे बड़ा दुश्मन बन चुका है। इस लिए इसके खिलाफ सभी देशों को मिलकर इसके खिलाफ लड़ाई लड़नी चाहिए। जब पीएम मोदी वहां उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे तो पाक पीएम नवाज शरीफ भी वहां मौजूद थे। 


PM माेदी ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से की मुलाकात, SCO में भारत के समर्थन के लिए दिया धन्यवाद


उन्होंने कहा कि आतंकवाद को तभी खत्म किया जा सकता है, जब इनके खिलाफ सभी एकजुट होंगे। और आतंकियों को दिए जा रहे आर्थिक मदद और प्रशिक्षण के खिलाफ कार्यवाई होगी। पीएम ने आतंकवाद पर देशों से मिलकर प्रयास करने की आवश्यकता बल बल दिया। उनका कहना कि भारत का संबंध सभी देशों के साथ बेहतर रहा है। 



पीएम मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में SCO को एक अहम हिस्सा मानते हुए बोले कि इस दिशा में SCO द्वारा की गई कोशिश सराहनीय है। और आने वाले वक्त में इसके जरिए आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को एक नई दिशा मिलेगी। और इससे एक शक्ति मिलेगा। वहीं इस मंच पर नवाज शरीफ काफी शांत नजर आएं। पीएम मोदी ने कहा कि इसके अलावा शंघार्इ को-ऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन पर्यावरण पर भी अपना ध्यान केंद्रित कर सकता है। जो कि काफी अहम है। 


कजाकिस्तान में हुर्इ PM मोदी आैर नवाज शरीफ की मुलाकात, दोनों नेताआें ने पूछा एक-दूसरे का हालचाल


पीएम मोदी ने SCO की सदस्यता मिलने के बाद सभी सदस्य देशों का शुक्रिया किया। और कहा कि एशिया क्षेत्र में आपसी सहयोग को बढ़ाने के लिए यह संगठन काफी अहम है। उधर SCO सदस्य देशों में शामिल होने के बाद पाक पीएम नवाज ने भी मोदी को बधाई दी। साथ ही कहा कि आतंक के इस दंश को  पाकिस्तान पहले से झेल रहा है। जो उसके लिए भी पीड़ादायक रहा है। हालांकि उन्होंने अपने भाषण में काफी नरमी बरतते दिखें। 



गौरतलब है कि साल 2001 के बाद पहली बार एससीओ का विस्तार हो रहा है। भारत और पाकिस्तान को इसकी पूर्णकालिक सदस्यता मिलने के बाद इसकी संख्या छह से बढ़कर आठ हो जाएगी। खास बात ये है कि अब तक इसमें चीन का प्रभुत्व रहा है। भारत को सदस्यता मिलने के बाद माना जा रहा है कि इस संगठन में चीन का प्रभुत्व कम होगा। 

pm modi Narendra Modi
Show More
पुनीत कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned