scriptSecurity To Ambani Family: SC Stays Order Summoning HM Office | Security To Ambani Family: मुकेश अंबानी की सुरक्षा से जुड़े मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई त्रिपुरा HC के आदेश पर रोक | Patrika News

Security To Ambani Family: मुकेश अंबानी की सुरक्षा से जुड़े मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई त्रिपुरा HC के आदेश पर रोक

Ambani Family Security: सुप्रीम कोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए मुकेश अंबानी और उनकी परिवार की सुरक्षा से जुड़े मामले में त्रिपुरा हाई कोर्ट के आदेश पर रोक लगा दी है।

 

Updated: June 29, 2022 02:16:50 pm

सुप्रीम कोर्ट ने आज त्रिपुरा हाई कोर्ट के मुकेश अंबानी और उनके परिवार की सुरक्षा से जुड़े आदेश पर स्टे लगा दिया है। दरअसल, त्रिपुरा हाई कोर्ट ने गृह मंत्रालय से उद्योगपति मुकेश अंबानी और उनके परिवार की सुरक्षा से जुड़े दस्तावेज पेश करने के लिए कहा था। इसके बाद केंद्र ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था। हाईकोर्ट के आदेशों को चुनौती देने वाली केंद्र सरकार की याचिका पर जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस जेपी पादरीवाला की बेंच ने अंतरिम आदेश पारित किया।
Security To Ambani Family: SC Stays Order Summoning Home Ministry Officials
Security To Ambani Family: SC Stays Order Summoning Home Ministry Officials

सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?


जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस जेपी पादरीवाला बेंच ने कहा, "22 जुलाई, 2022 को जारी नोटिस वापस किया जा सकता है। इस बीच त्रिपुरा हाई कोर्ट के 31 मई और 21 जून के आदेशों के कार्यान्वयन पर रोक रहेगी।"

दरअसल, त्रिपुरा हाई कोर्ट ने विकास साहा नामक व्यक्ति द्वारा दायर याचिका पर 31 मई और 21 जून को दो अंतरिम आदेश पारित किए थे। इस आदेश में कोर्ट ने मुकेश अंबानी, उनकी पत्नी और बच्चों को होने वाले खतरे की आशंका और आकलन से जुड़े उस दस्तावेज को पेश करने के लिए कहा था जो गृह मंत्रालय के पास रखें हैं। इसी दस्तावेज के आधार पर केंद्र ने मुकेश अंबानी व उनके परिवार को सुरक्षा प्रदान की थी।
यह भी पढ़ें

Mukesh Ambani ने जियो के डायरेक्टर पद से दिया इस्तीफा, आकाश अंबानी बने चेयरमैन

इस मामले पर भारत के सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता केंद्र की ओर से पेश हुए थे। उन्होंने इस मामले पर कहा था कि ये मामला त्रिपुरा हाई कोर्ट के अधिकार क्षेत्र में नहीं है। उन्होंने तर्क दिया था कि किसी भी व्यक्ति को दी जा रही सुरक्षा न्यायिक समीक्षा का विषय नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

कर्नाटक के बाद येडियूरप्पा के सहारे अब 'मिशन दक्षिण' में जुटी भाजपाJabalpur करोड़पति आरटीओ, आय से 650 प्रतिशत अधिक प्रापर्टी मिलीPro Boxing:  विजेंदर के करारे मुक्कों के आगे पस्त अफ्रीकन लॉयन सुले, 13वीं जीत हासिल कीNSA अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक को लेकर केंद्र का बड़ा एक्शन, हटाए गए 3 कमांडो'रूसी तेल खरीदकर हमारा खून खरीद रहा है भारत', यूक्रेन के विदेश मंत्री Dmytro KulebaAsia Cup 2022: मोहम्मद कैफ ने बताया, क्यों नहीं चुने गए एशिया कप के लिए संजू सैमसनNagpur Crime: डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस के घर के बाहर मजदूर ने किया सुसाइड, मचा हड़कंपरोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट देने की खबर है झूठी, गृह मंत्रालय ने कहा- केंद्र ने ऐसा कोई आदेश नहीं दिया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.