scriptLok Sabha Election 2024: अब लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी सोनिया गांधी! इस राज्य से उच्च सदन जा सकती हैं | sonia gandhi take route to rajya sabha from himachal pradesh gandhi fa | Patrika News

Lok Sabha Election 2024: अब लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी सोनिया गांधी! इस राज्य से उच्च सदन जा सकती हैं

locationनई दिल्लीPublished: Feb 12, 2024 11:53:17 am

Submitted by:

Paritosh Shahi

कांग्रेस पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी इस बार लोकसभा चुनाव में रायबरेली सीट से नहीं लड़ेंगी यह लगभग साफ़ हो गया है। खबर आ रही है कि वह इस बार राजस्थान के रास्ते राज्यसभा पहुंच सकती हैं।

sonia_gandhi_pic.jpg

कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष और रायबरेली से सांसद सोनिया गांधी आगामी लोकसभा चुनाव में नहीं उतरेंगी यह लगभग साफ़ हो गया है। राजस्थान के रास्ते सोनिया उच्च सदन में जा सकती हैं। अगर सोनिया इस बार रायबरेली से चुनाव नहीं लड़ती हैं तो देश के सबसे बड़े प्रदेश से सबसे पुरानी पार्टी का खात्मा हो जाएगा। 2019 चुनाव से पहले कांग्रेस की यहां दो सीटें थी लेकिन इसी साल राहुल गांधी को बीजेपी नेता स्मृति ईरानी के हाथों हार झेलना पड़ा था। जिसके बाद सोनिया गांधी की रायबरेली सीट बची थी। अब खबर आ रही है कि सोनिया भी इस बार चुनाव नहीं लड़ेंगी।

राजस्थान के रास्ते राज्यसभा पहुंच सकती हैं

सूत्रों के मुताबिक सोनिया गांधी राजस्थान के रास्ते राज्यसभा पहुंच सकती हैं। पहले चर्चा थी कि सोनिया कांग्रेस शासित राज्य हिमाचल प्रदेश के रास्ते उच्च सदन आएंगी लेकिन पार्टी सूत्रों ने पत्रकारों को बताया था कि उनके लोकसभा चुनाव न लड़ने की संभावना है। सोनिया के इस फैसले की वजह स्वास्थ्य संबंधी कारणों को बताया जा रहा है।

 

रायबरेली सीट पर कौन ठोकेगा दावा

अप्रैल-मई 2024 में होने वाले आम चुनाव में अगर 78 वर्षीय सोनिया गांधी चुनाव नहीं लड़ती हैं तो कौन उनकी जगह लेगा? सूत्रों का कहना है कि उनकी बेटी और कांग्रेस नेत्री प्रियंका वाड्रा गांधी को वहां से मौका मिल सकता है। लेकिन ऐसा होता है तो बीजेपी फिर कांग्रेस पर परिवारवाद का आरोप लगाएगी और कहेगी कि कांग्रेस के लाखों कार्यकर्त्ता होने के बावजूद उन्हें सीट पर उतारने के लिए अपने परिवार का ही कोई सदस्य मिला।

बता दें कि रायबरेली सीट कांग्रेस और गांधी परिवार के लिए शुरू से खास रही है। यहां गांधी परिवार का वर्चस्व रहा है। यह उनकी विरासत से जुड़ी हुई सीट है। सोनिया से पहले इस सीट से फिरोज गांधी, इंदिरा गांधी, अरुण नेहरू, शीला कौल जैसे नेता इस सीट से चुनाव लड़ चुके हैं।

गांधी परिवार का वर्चस्व खतरे में!

सोनिया गांधी अगर यहां से चुनाव नहीं लड़ती हैं तो कांग्रेस का देश के सबसे बड़े प्रदेश से सफाया हो जाएगा। यहां लोकसभा की 80 सीटें हैं। दिल्ली की गद्दी का रास्ता यूपी से होकर गुजरता है। जब देश के सबसे बड़े प्रदेश से ही किसी पार्टी का सफाया हो जाए तो चुनाव में क्या हश्र होगा इसका अनुमान लगाना ज्यादा मुश्किल काम नहीं है।

उधर बीजेपी भी इस बार मेनका गांधी और वरुण गांधी को टिकट नहीं देने का मन बना रही है। सूत्रों के मुताबिक वरुण गांधी इन दिनों अखिलेश यादव से नजदीकी बढ़ा रहे हैं ताकि पीलीभीत से वो सपा के टिकट पर चुनाव लड़ सकें। आए दिन वरुण पीएम मोदी और बीजेपी की नीतियों पर सवाल उठाते रहते हैं। मेनका गांधी की सक्रियता भी काफी कम दिखाई दे रही है। शायद मेनका और वरुण को आभाष हो गया है कि इस बार उन्हें बीजेपी उम्मीदवार नहीं बनाएगी। अगर ऐसा होता है तो उत्तर प्रदेश से गांधी परिवार का वर्चस्व ख़त्म हो जाएगा।

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो