scriptTelangana 11 class Result Grace marks will be given to failed students | फेल होने वाले सभी स्टूडेंट्स को ग्रेस मार्क्स देकर पास किया जाएगा | Patrika News

फेल होने वाले सभी स्टूडेंट्स को ग्रेस मार्क्स देकर पास किया जाएगा

Telangana 11th Standerd Result: तेलंगाना सरकार ने 11वीं कक्षा के फेल हो चुके स्टूडेंट्स को न्यूनतम उत्तीर्ण अंक देकर उत्तीर्ण करने का फैसला किया। तेलंगाना की शिक्षा मंत्री ने लिया फैसला।

हैदराबाद

Updated: December 25, 2021 11:57:32 am

तेलंगाना सरकार ने शुक्रवार को इंटरमीडिएट प्रथम वर्ष या कक्षा 11वी के सभी फेल हुए छात्रों को 35 के न्यूनतम पास अंक देकर पास करने का निर्णय लिया। टीएस इंटर प्रथम वर्ष 2021 का परिणाम 16 दिसंबर को घोषित किया गया था। और परीक्षा देने वाले कुल छात्रों में से केवल 49 प्रतिशत को ही पास किया गया था। जिसके बाद फेल हुए स्टूडेंट्स ने विरोध करना शुरू कर दिया और कहा स्टूडेंट्स ने मांग की कि कोरोना की स्थिति को देखते हुए फेल हुए स्टूडेंट्स को परीक्षा में पास करने के बारे में विचार करना चाहिए। इसके बाद राज्य की शिक्षा मंत्री पी सबिता इंद्रा रेड्डी ने कहा कि 11वीं में फेल हुए स्टूडेंट्स को कम से कम नंबर देते हुए पास कर दिया जाएगा।
telangana_cm_k_chandrashekhar32.jpg
Telangana CM
शिक्षा मंत्री ने कहा:
राज्य की शिक्षा मंत्री पी सबिता इंद्रा रेड्डी ने कहा कि 4,59,242 परीक्षा में शामिल हुए थे। उसमें से 2,24,000 ने परीक्षा उत्तीर्ण की जो कि 49 प्रतिशत थी। यदि प्रत्येक अनुत्तीर्ण छात्र में 30 अंक जोड़ दिए जाते हैं, तो भी लगभग 83,000 छात्र परीक्षा उत्तीर्ण करेंगे, जबकि लगभग 1,50,000 छात्र अनुत्तीर्ण हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने निर्देश दिया है कि छात्रों को परिणाम के बारे में चिंतित नहीं होना चाहिए क्योंकि इंटरमीडिएट द्वितीय वर्ष (Intermediate Second) Year की परीक्षाएं भी नजदीक हैं। चूंकि इंटरमीडिएट द्वितीय वर्ष (12 वीं कक्षा) बहुत महत्वपूर्ण है, सीएम ने निर्देश दिया कि सभी प्रथम वर्ष के छात्रों को 35 के न्यूनतम उत्तीर्ण अंक देकर (Minimum Marks) उत्तीर्ण किया जाए। हम सभी को न्यूनतम अंक दे रहे हैं और उन्हें परीक्षा पास कर रहे हैं।

हालांकि, उन्होंने छात्रों से अपने माता-पिता के सपनों को साकार करने के लिए कड़ी मेहनत करने और परीक्षाओं में विफल न होने की अपील की है. उन्होंने कहा कि यह निर्णय छात्रों के भविष्य के हित में लिया गया है और यह देखने के लिए कि छात्रों को परीक्षा परिणाम पर मनोवैज्ञानिक दबाव महसूस न हो क्योंकि द्वितीय वर्ष की परीक्षाएं भी नजदीक हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहकर्नाटक में कोरोना की रफ्तार तेज, 47  हजार से अधिक नए मामलेरामगढ़ पचवारा में बरसे टिकैत, कहा किसानों की जमीन को छीनने नहीं दिया जाएगाप्रदेश के डेढ़ दर्जन जिलों में रेत का अवैध परिवहन जारी, सरकार को करोड़ों का नुकसान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.