scriptUdaipur Kanhaiya Lal Murder: A week ago, Kanhaiyalal had installed CCT | Udaipur Kanhaiya Lal Murder Case में बड़ा खुलासा: धमकियों के बीच कन्हैयालाल ने एक सप्ताह पहले ही लगवाया था CCTV, जानिए पुलिस को क्या मिला... | Patrika News

Udaipur Kanhaiya Lal Murder Case में बड़ा खुलासा: धमकियों के बीच कन्हैयालाल ने एक सप्ताह पहले ही लगवाया था CCTV, जानिए पुलिस को क्या मिला...

उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के बारे में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि दोनों हत्यारोपी ऐसे व्हाट्सग्रुप में जुड़े थे जिनसे पाकिस्तान के कुछ लोग भी जुड़े हुए थे। यही नहीं बताया जा रहा है कि हत्यारों को भीड़ से बचाने के लिए बैकअप प्लान भी तैयार किया था। कोई प्रूफ न छूट जाए इसलिए हत्यारोपियों ने पहले CCTV का तार काटा था। यही वजह है कि हत्याकांड के बाद जब उदयपुर की पुलिस ने सीसीटीवी चेक किया है तो तो रिकॉर्डिंग में कुछ भी नहीं दिखा है।

 

जयपुर

Published: July 02, 2022 05:04:11 pm

Udaipur Kanhaiya Lal Murder: टेलरिंग कर अपनी जीवन बसर करने वाले कन्हैयालाल (Kanhaiya Lal) की हत्या के मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। अब जानकारी सामने आई है कि कन्हैयालाल ने अपनी दुकान में मर्डर से एक हफ्ता पहले ही सीसीटीवी लगवाया था लेकिन पूरी तैयारी के साथ हत्या करने आए जालिमों ने हत्या से पहले सीसीटीवी का तार ही काट दिया था। यही वजह है कि हत्याकांड के बाद जब उदयपुर पुलिस सीसीटीवी चेक किया गया तो रिकॉर्डिंग में कुछ नहीं दिखा।
udaipur_murder_case_1.jpg
व्हाट्सएप ग्रुप में पाकिस्तान कनेक्शन

उदयपुर (Udaipur) में दर्जी कन्हैयालाल (Kanhaiya Lal) की मंगलवार दोपहर को दो रेडिकल इस्लामिस्ट रियाज अख्तर अंसारी और गौस मोहम्मद ने चाकू से हमला कर हत्या कर दी थी। आरोपियों ने मर्डर का ऑनलाइन वीडियो भी पोस्ट कर दर्जी कन्हैयालाल का सिर काटकर हत्या करने का दावा किया था। दोनों आरोपियों को घटना के कुछ घंटों बाद राजसमंद के भीम क्षेत्र से पकड़ लिया गया..दोनों ऐसी बाइक से भाग रहे थे जिस गाड़ी का नंबर ही 2611 था, जो कि भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई पर आतंकी हमले की तारीख भी है। बताया जाता है कि आरोपियों ने ये नंबर प्लेट भी 5000 रुपए में खरीदी था।
व्हाट्सएप ग्रुप पर थे आतंकियों से कनेक्टिड

अब इस मामले में खुलासा हुआ है कि आरोपी एक रेडिकल इस्लामिस्ट लोगों के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े हुए थे। सूत्रों से मिली खबर के अनुसार इस ग्रुप में मर्डर के बाद आरोपियों ने अपडेट किया था कि, 'जो टास्क दिया वो पूरा किया'। बड़ा खुलासा ये हुआ कि इस ग्रुप में पाकिस्तान के भी कुछ लोग शामिल हैं।
हत्यारों के बैकअप प्लान का भी हुआ खुलासा

सूत्रों की मानें तो कन्हैयालाल की हत्या में मात्र दो नहीं बल्कि 5 लोग शामिल थे। हत्या के बाद मोहम्मद गौस और रियाज को एक सेफ पैसेज देने के लिए बैकअप प्लान भी पूरी तरह से तैयार था। उस बैकअप प्लान में 3 लोग शामिल थे जिसमें मोहसिन उसका साथी आसिफ दुकान से थोड़ी ही दूरी पर खड़े नजर रख रहे थे। एक और साथी एक स्कूटी पर वहीं पास में ही तैनात था। पुलिस के सूत्रों के मुताबिक आरोपियों की प्लानिंग थी कि अगर गौस और रियाज मौके पर पकड़े भी जाते तो उनको वहां से निकालने का काम इन तीनों का था। इनके पास भी खंजर थे और प्लान ये था कि अगर हत्यारे फंसते भी तो ये लोग वहां से भाग निकलने में सफल रहें। तीनों अन्य साथी भीड़ पर हमला करके उनको बचा लेते। ये खुलासा इस मामले में गिरफ्तार हुए 2 और आरोपियों से पूछताछ में हुआ है।
NIA की विशेष अदालत में आज पेशी

बता दें, अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में बंद गौस मोहम्मद और रियाज को एनआईए ने अपनी हिरासत में ले लिया है। इसके बाद उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल की हत्या के इन चारों आरोपियों को आज 2 जुलाई, शनिवार को एनआईए कोर्ट में पेश किया गया। जैसा कि पहले ही बताया गया है कि पुलिस हत्या में शामिल दो आरोपी रियाज मोहम्मद गौस को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी। इसके बाद राजस्थान एटीएस ने शुक्रवार को दो अन्य आरोपियों मोहसिन और आसिफ को भी गिरफ्तार किया था। सूत्रों के मुताबिक कन्हैया लाल की हत्या से पहले कई बैठकें इसकी तैयारी के लिए हो चुकी थीं। इस बैठक में रियाज, मोहम्मद गौस, आसिफ और मोहसिन मौजूद थे। कन्हैया लाल की दुकान से महज 500 दूर मोहसिन की दुकान और पड़ोस में आसिफ के कमरे में साजिश रची गई। आसिफ और मोहसिन कन्हैया लाल की हत्या से लेकर हथियार बनाने की साजिश रचने में शामिल थे। उदयपुर में जब कुछ लोगों ने विवादित बयान का समर्थन करना शुरू किया तो रियाज और मोहम्मद गौस ने तय कर लिया था कि कुछ बड़ा करना है। इसके लिए ये लोग टारगेट खोज रहे थे। चूंकि रियाज और मोहम्मद गौस पहले से कन्हैया की दुकान के पास आते थे और उस गली से वाकिफ थे, इसलिए उन्होंने इसे अंजाम दिया। कन्हैया इसके आसान शिकार बन गए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.