scriptVijaypat Singhania came forward in raymond boss gautam singhania and-nawaz modi separation case | गौतम सिंघानिया मसले में सामने आए विजयपत सिंघानिया, बोले - 'मुझे सड़क पर देखकर उसे अच्छा लगता है’ | Patrika News

गौतम सिंघानिया मसले में सामने आए विजयपत सिंघानिया, बोले - 'मुझे सड़क पर देखकर उसे अच्छा लगता है’

locationनई दिल्लीPublished: Nov 24, 2023 03:13:01 pm

Submitted by:

Shivam Shukla

गौतम सिंघानिया और पत्नी नवाज मोदी को लेकर चल रहे विवाद के बीच पिता विजयपत सिंघानिया का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने एक टीवी इंटरव्यू में कहा कि मुझे सड़क पर देखकर उसे खुशी मिलती होगी।

vijaypath_singhania_axlsdjkwd.jpg

देश के दिग्गज बिजनेस गौतम सिंघानिया और उनकी पत्नी नवाज मोदी के बीच चल रहा विवाद बढ़ता ही जा रहा है। इसी बीच अब इस मामले में विजयपत सिंघानिया बड़ा बयान सामने आया है।जिसमें उन्होंने अपने बेटे गौतम सिंघानिया पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि 'मुझे सड़क पर देखकर गौतम को खुशी मिलती है।'

मै बहु नवाज का साथ दूंगा

बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने कहा कि उसने उसने पहले मुझे घर से बाहर निकाला। अब पत्नी को भी बाहर फेंक दिया। वह कैसा आदमी है। यदि नवाज मेरे पास मदद के लिए आई तो मैं उसका साथ दूंगा। उन्होंने आगे कहा कि गौतम सिंघानिया मुझे सड़क पर देखकर खुश होंगे। उन्होंने आगे कहा कि गौतम सिंघानिया पत्नी नवाज को कभी संपत्ति का 75 फीसदी नहीं देगा।


पिता को किया था बेदखल

उन्होंने अपनी पूरी संपत्ति बेटे गौतम को देकर बहुत बड़ी गलती की है। उन मां - बाप को सोचना चाहिए, जो अपने बच्चों के नाम पूरी संपत्ति कर देते हैं। बता दें कि 2017 में साउथ रेमंड हाउस को अपने अंडर में लेकर गौतम सिंघानिया ने कथिततौर पर पिता विजयपत सिंघानिया को बाहर निकाल दिया था, जिसकी वह से वह खूब चर्चा में रहे थे।

75 फीसदी संपत्ति की मांग

गौरतलब है कि दिवाली के दिन गौतम सिंघानिया के घर में एक पार्टी का आयोजन था, जिसमें कथित तौर पर अपनी पार्टी को इंट्री नहीं दी। जिसके बाद उनकी पत्नी ने तलाक लेने की बात कही है। इस दौरान पत्नी नवाज मोदी ने गौतम सिंघानिया से संपत्ति का 75 फीसदी मांग की थी। उन्होंने कहा था कि ये संपत्ति उनकी दो बेटिंयों के लिए मांग रही हैं। जिस पर गौतम भी सहमत हो गए थे।हालांकि उन्होंने परिवार की संपत्ति की देखभाल और हस्तांतरण करने के लिए एक फैमली ट्रस्ट की बात कही है। इस ट्रस्ट के पास परिवार की संपत्ति का पूरा ब्योरा और मालिकाना अधिकार होगा और गौतम सिंघानिया एकलौती ट्रस्टी होंगे। हालांकि उनकी मृत्यु के बाद परिवार के लोगों को वसीयत की अनुमति होगी।

ट्रेंडिंग वीडियो