scriptWest Bengal News: TMC's Shahid Diwas and why its importance for Mamata Banerjee | West Bengal News: ममता बनर्जी के लिए 21 जुलाई क्यों है खास? कर सकती हैं बड़ा ऐलान | Patrika News

West Bengal News: ममता बनर्जी के लिए 21 जुलाई क्यों है खास? कर सकती हैं बड़ा ऐलान

तृणमूल कांग्रेस 21 जुलाई को शहीद दिवस रैली का आयोजन करती है। इस दिन ममता बनर्जी ने बंगाल की राजनीति की मुख्य धारा में कदम रखा था। कोरोना महामारी के चलते बीते दो साल रैली का आयोजन नहीं हो पाया।

नई दिल्ली

Published: July 21, 2022 02:39:27 pm

आज तृणमूल कांग्रेस (TMC) प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दो साल बाद फिर से शहीद दिवस के मौके पर बड़ी रैली आयोजित कर रही हैं। कोलकाता की सड़कों पर जनसैलाब उमड़ पड़ा है। हर साल TMC 21 जुलाई को शहीद दिवस के रूप में मनाती है। इस मौके पर लाखों कार्यकर्ता इक्ट्ठा होकर ममता बनर्जी के भाषण को सुनते हैं और पार्टी की आगे की रणनीतियों पर मंथन करते हैं। ममता बनर्जी इस अवसर पर एक बड़ी रैली को संबोधित करती हैं।
TMC's Shahid Diwas and why its importance for Mamata Banerjee
TMC's Shahid Diwas and why its importance for Mamata Banerjee
ममता बनर्जी के लिए शहीद दिवस बहुत खास माना जाता है। आज के दिन वह वाममोर्चा के शासन काल में आंदोलन के दौरान मारे गए कार्यकर्ताओं को श्रद्धांजली देती हैं। बता दें, 21 जुलाई 1993 के दिन पश्चिम बंगाल में माकपा के नेता ज्योति बसु राज्य के मुख्यमंत्री थे और छात्र राजनीति के बाद ममता बनर्जी ने बंगाल की राजनीति की मुख्य धारा में कदम रखा था और वह बंगाल के युवा कांग्रेस की अध्यक्ष थी। इस दिन ममता के नेतृत्व में युवा कांग्रेस द्वारा आयोजित एक विरोध रैली के दौरान पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा 13 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गोली मार दी गई थी।
दरअसल, ममता बनर्जी के नेतृत्व में आयोजित इस रैली के जरीए चुनाव में पारदर्शिता लाने के लिए फोटो वोटर कार्ड को लागू करने की मांग की गई थी। इस रैली पर पुलिस ने फायरिग कर दी, जिसमें 13 कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मौत हो गई। यह घटना ममता बनर्जी के राजनीतिक करियर में एक महत्वपूर्ण मोड़ साबित हुई। गोलीबारी की घटना के बाद पूरे पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के लिए लोगों की सहानुभूति उमड़ पड़ी।
पश्चिम बंगाल की राजनीति में एक तेजी से उभरती हुई ममता बनर्जी ने गोलीबारी की इस घटना के चार साल बाद अपनी खुद की पार्टी तृणमूल कांग्रेस का गठन किया। उनके नेतृत्व में यह पार्टी साल 2011 में पूर्ण बहुमत के साथ पश्चिम बंगाल की सत्ता में आई। वहीं घटना में मारे गए उनके कार्यकर्ताओं की याद में ममता बनर्जी रैली का आयोजन कर हर साल इस दिन शहीद दिवस मनाती हैं।

यह भी पढ़ें

द्रौपदी मुर्मू का समर्थन न करने पर बुरी फंसी ममता बनर्जी, BJP ने बताया आदिवासी विरोधी

रैली के जरिए ममता बनर्जी हर बार 21 जुलाई के दिन अगली रणनीति का भी खुलासा करती है। इस साल शहीद दिवस पर तृणमूल कांग्रेस बड़ा आयोजन कर रही है, क्योंकि कोरोना महामारी सुरक्षा उपायों के चलते बीते दो साल रैली का आयोजन नहीं हो पाया था। वहीं इस बार बंगाल पंचायत चुनाव के लिए, राष्ट्रीय राजनीति को लेकर कार्यकर्ताओं और जनता को ममता बनर्जी क्या संदेश देती हैं, इस पर सभी की नजर रहने वाली हैं।

यह भी पढ़ें

ममता बनर्जी सरकार ने केंद्र को पश्चिम बंगाल का नाम बदलकर 'बांग्ला' करने का भेजा प्रस्ताव - केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Himachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज7,500 स्टूडेंट्स ने मिलकर बनाया सबसे बड़ा ह्यूमन फ्लैग, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नामबिहारः सत्ता गंवाते ही NDA के 3 सांसद पाला बदलने को तैयार, महागठबंधन में शामिल होने की चल रही चर्चा'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञानPM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्वप्रियंका के बाद अब सोनिया गांधी भी दोबारा हुईं कोरोना पॉजिटिव, तेजस्वी यादव ने कल ही की थी मुलाकात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.