scriptWho is Justice Indu Malhotra Investigate PM Modi Security Breach | जानिए कौन है पूर्व सुप्रीम कोर्ट जज इंदु मल्होत्रा, जिन्हें मिली पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक मामले के जांच की जिम्मेदारी | Patrika News

जानिए कौन है पूर्व सुप्रीम कोर्ट जज इंदु मल्होत्रा, जिन्हें मिली पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक मामले के जांच की जिम्मेदारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौर पर हुई सुरक्षा में चूक मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने 5 लोगों की एक कमेटी बनाई है, जो चूक के सही कारणों का जांच करेगी। इस कमेटी की अध्यक्षता सुप्रीम कोर्ट की पूर्व जज इंदु मल्होत्रा करेंगी। दरअसल इंदु मल्होत्रा पहली ऐसी महिला वकील थीं, जो वकील से सीधे सुप्रीम कोर्ट की जज बनीं थीं।

नई दिल्ली

Published: January 12, 2022 02:52:55 pm

पंजाब दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक मामले की जांच अब सुप्रीम कोर्ट की रिटायर्ड जज इंदु मल्होत्रा करेंगी। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को उन्हें 5 सदस्यों की कमेटी का चीफ बनाया है। इंदु मल्होत्रा बीते वर्ष मार्च 2021 में ही शीर्ष अदालत के न्यायाधीश पद से सेवानिवृत्त हुई हैं। खास बात यह है कि इंदु के पिता ओमप्रकाश मल्होत्रा भी सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ रह चुके हैं। बेंगलुरु से ताल्लुक रखने वाली इंदु मल्होत्रा पहली ऐसी महिला वकील थीं जो वकील से सीधे सुप्रीम कोर्ट की जज बनीं थीं। आइए जानते हैं इंदु मल्होत्रा से जुड़ी कुछ और बातें, जिन्हें पीएम मोदी की सुरक्षा में हुई चूक मामले की जांच की जिम्मेदारी दी गई है।
Who is Justice Indu Malhotra Investigate PM Modi Security Breach
इंदु मल्होत्रा की पारिविक परिस्थिति

इंदु मल्होत्रा का जन्म 14 मार्च 1956 को कर्नाटक के बेंगलुरु में हुआ था। पिता का नाम ओमप्रकाश मल्होत्रा व माता का नाम सत्य मल्होत्रा है। इंदु ने अपनी शुरुआती शिक्षा बेंगलुरु में ही ली। इसके बाद दिल्ली के कार्मल कॉन्वेंट स्कूल और लेडी श्रीराम कॉलेज दिल्ली से विधि संकाय में ग्रेजुएशन किया। इंदु के पिता भी पेशे से सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील रह चुके हैं।

यह भी पढ़ेँः सुप्रीम कोर्ट ने जांच के लिए गठित की 5 सदस्यीय कमेटी, पूर्व जज इंदु मल्होत्रा करेंगी अगुवाई
अप्रैल 2018 में बनी सुप्रीम कोर्ट की जज

इंदु को 27 अप्रैल, 2018 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सुप्रीम कोर्ट की न्यायाधीश नियुक्त किया था। करीब तीन साल की सेवा के बाद वह 21 मार्च 2021 को रिटायर हो गईं। अंतिम दिन वह चीफ जस्टिस बोबड़े की पीठ में बैठीं। उन्हें विदाई देने के लिए अटॉर्नी जनरल समेत सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील मौजूद थे।
सबरीमाला मामले में पुरुष जजों से अलग रखी राय

इंदु मल्होत्रा अपनी राय को लेकर काफी चर्चा में रहीं। खास तौर पर केरल के सबरीमाला मामले की जज भी वही थीं। इस दौरान उन्होंने पुरुष जजों से अलग अपनी राय रखी थी। दरअसल इस मामले में चारों पुरुष न्यायाधीशों ने महिलाओं को सबरीमाला मंदिर में प्रवेश देने की बात कही थी, जबकि इंदु मल्होत्रा ने इसके खिलाफ अपना पक्ष रखा था।
यह भी पढ़ेँः सिख फॉर जस्टिस का दावा- हमने रोका पीएम का काफिला

समलैंगिक संबंधों पर दिया फैसला


इंदु मल्होत्रा एक और समलैंगिक यौन संबंध वाले चर्चित मामले में फैसला सुनाया। दरअसल इंदु इस पीठ का हिस्सा थीं। शीर्ष अदालत ने उस दौरान आपसी सहमति से दो वयस्कों के बीच बनाए गए समलैंगिक संबंधों को अपराध की श्रेणी से हटा दिया था।

इतना ही नहीं व्यभिचार को अपराध की श्रेणी में रखने वाली आईपीसी की धारा 497 को असंवैधानिक ठहराने और उसे समाप्त करने वाली संविधान पीठ का भी हिस्सा रह चुकी हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP Election 2022: भाजपा सरकार ने नौजवानों को सिर्फ लाठीचार्ज और बेरोजगारी का अभिशाप दिया है: अखिलेश यादवतमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, खत्म होगा नाईट कर्फ्यू और 1 फरवरी से खुलेंगे सभी स्कूल और कॉलेजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.