scriptWhy did Railways order Chinese wheels for its superfast trains? | पैंगोंग झील पर जारी गतिरोध के बीच रेलवे ने क्यों दिया सुपरफास्ट ट्रेनों के लिए चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट? | Patrika News

पैंगोंग झील पर जारी गतिरोध के बीच रेलवे ने क्यों दिया सुपरफास्ट ट्रेनों के लिए चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट?

Railways contract to Chinese Company: भारतीय रेलवे ने सुपरफास्ट ट्रेनों के लिए पहियों को बनाने का कॉन्ट्रैक्ट चीन की एक कंपनी को दिया है। गलवान घाटी में जारी तनाव के बीच इस तरह से भारतीय रेलवे द्वारा एक चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट दिए जाने पर कई सवाल उठ रहे हैं, आखिर रेलवे ने ये कदम क्यों उठाया?

Updated: May 22, 2022 07:43:08 am

गलवान में जारी गतिरोध के बीच भारतीय रेलवे ने चीनी कंपनी के साथ एक बड़ा कॉन्ट्रेक्ट किया है। भारतीय रेलवे ने सुपरफास्ट ट्रेनों के लिए 39 हजार पहियों को बनाने का कॉन्ट्रैक्ट चीन की एक कंपनी को दिया है। इस कॉन्ट्रैक्ट की कीमत 170 करोड़ रुपये है और जिस कपनी को ये दिया गया है उसका नाम ताइझांग इंटरनेशनल लिमिटेड है। चीन से जारी गतिरोध के बीच आखिर भारतीय रेलवे ने ये कॉन्ट्रैक्ट एक चीनी कंपनी को दिया तो जाहिर है इसपर सवाल उठने लाजिमी है। इसपर रेलवे ने कारण भी बताए हैं।
Why did Railways order Chinese wheels for its superfast trains?
Why did Railways order Chinese wheels for its superfast trains? (PC: News Track)
क्यों दिया चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट?
रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एक अंग्रेजी अखबार को इसकी जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि ये पहिये वंदे भारत के लिए आयात किये जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि , भारत में रेल पहिया आपूर्तिकर्ताओं की कमी है और यूक्रेन रूस युद्ध से आयत में देरी के कारण ये निर्णय लेना पड़ा है।

रेलवे अधिकारी कहा, "पिछले दो वर्षों से, यूक्रेन और रूस से पहियों की आपूर्ति की जा रही थी। रूस-यूक्रेन संकट के कारण, आपूर्ति नहीं हो पा रही है।"
यह भी पढ़ें

रेलवे का ऐलान, अगले माह से सभी एसी कोच में बहाल होगी चादर-कंबल की सुविधा

RINL से नहीं हो पा रही पूरी आपूर्ति
अधिकारी ने कहा, ”रेल मंत्रालय RINL (राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड ) के रायबरेली प्लांट को महत्व दे रहा है ताकि आयात को कम करने किया जा सके। रेलवे अधिकारी ने कहा कि "प्लांट का कमर्शियल संचालन सितंबर 2021 में शुरू हुआ था, लेकिन परिचालन संबंधी मुद्दों के कारण, RINL प्लांट अब नहीं चला रहा है। प्लांट से नियमित पहिए की आपूर्ति शुरू होने में कुछ समय लगेगा।।"

इसके बाद रेलवे अधिकारी ने आगे कहा, 'RINL से आपूर्ति में अनिश्चितता और स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड के दुर्गापुर स्टील प्लांट से क्षमता की कमी के कारण चीनी कंपनी को 39 हजार पहियों को बनाने का कॉन्ट्रैक्ट देना पड़ा है।' उन्होंने ये भी बताया कि “वंदे भारत के लिए 8,000 जाली पहियों के लिए एक अलग ऑर्डर भी उसी चीनी फर्म को दिया गया है।"

यह भी पढ़ें

जाने क्यों महिलाओं को रेलवे स्टेशन परिसर में फोडऩे पड़े मटके, पढ़े पूरी खबर ...

गलवान घाटी में जारी है दोनों देशों के बीच तनाव
बता दें कि पिछले वर्ष भारत-चीन के बीच गलवान घाटी में भारी संघर्ष हुआ था जिसमें भारत के भी कई सैनिक घायल हुए थे। आज भी गलवान घाटी में चीन कई पुलों का निर्माण कर रहा है। ये गतिरोध दोनों देशों के बीच सीमा पर जारी है इसके बावजूद भारतीय रेलवे ने एक चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट दिया है। हालांकि, रेलवे की तरफ से सूत्रों के हवाले से उसकी मजबूरी भी सामने आई।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: शिवसेना के एक बागी विधायक का बड़ा दावा, कहा- 12 सांसद जल्द शिंदे खेमे में होंगे शामिल6 और मंत्रियों ने दिया इस्तीफा, Britain के पीएम बोरिस जॉनसन की बढ़ी मुश्किलेंनकवी के इस्तीफे के बाद स्मृति ईरानी बनीं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री, सिंधिया को मिला स्टील मंत्रालयVideo: 'हर घर तिरंगा' के सवाल पर बोले Farooq Abdullah, 'वो अपने घर में रखना', भड़के यूजर्सMalaysia Masters: पीवी सिंधू, साई प्रणीत और परूपल्ली कश्यप पहुंचे दूसरे दौर में, साइना नेहवाल हुई बाहरMaharashtra Politics: शिवसेना के संसदीय दल में भी बगावत? उद्धव ठाकरे ने भावना गवली को चीफ व्हिप के पद से हटायाMukhtar Abbas Naqvi ने मोदी कैबिनेट से दिया इस्तीफा, बनेंगे देश के नए उपराष्ट्रपति?काली पोस्टर विवाद में घिरीं महुआ मोइत्रा के समर्थन में आए थरूर, कहा- 'हर हिन्दू जानता है देवी के बारे में'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.