जिले में फंसे बाहर के लोगों के लिए बड़ी मुसीबत

जिले में फं से बाहर के लोगों के लिए बड़ी मुसीबत

By: Virendra Rathod

Updated: 31 Mar 2020, 02:06 PM IST

नीमच। केंद्र सरकार ने राज्यों को सख्ती से लॉकडाउन पालन कराने का निर्देश दिया है, केंद्र ने राज्यों को कहा है कि प्रवासी मजदूरों के लिए सभी इंतजाम किए जाएं। जहां वे मौजूद हैं, केंद्र ने कहा कि मजदूरों को वक्त पर वेतन दिया जाए। ् केंद्र ने कहा है कि अगर कोई छात्रों और मजदूरों को घर खाली करने कहता है तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएण्केंद्र सरकार ने निर्देश दिया है। केंद्र ने कहा है कि राज्य और जिले के बॉर्डर पूरी तरह से सील किये जाएंए ताकि एक राज्य से दूसरे राज्य में और एक जिले से दूसरे जिले में लोगों की मूवमेंट न हो पाए। हाईवे पर किसी तरह की मूवमेंट न होने दी जाए। सड़कों पर सिर्फ सामान ढोने वाले गाडिय़ों की आवाजाही की अनुमति रहेगी।

 

जिले की हाईवे तस्वीर कुछ और ही दिखती नजर आ रही है। राजस्थान की ओर से भारी मात्रा में एमपी राज्य बोर्डर पर पैदल मजदूर आ रहे है। राजस्थान से बसे उन्हें बार्डर पर छोड़कर जा रही है। नतीजन इतने मजदूरों का एकाएक प्रबंध जिला प्रशासन को करना भी किसी बड़ी मुसीबत से कम नही ंहै। सैकड़ों की तादाद में मजदूर राजस्थान की और से नयागांव की तरफ पैदल आ रहे है। जिनके खाने पानी की व्यवस्था में प्रशासन जुट गया है। वहीं उन्हें आईसोलेट भी किया जा रहा है। जिससे कोई संक्रमित न रहे। अभी तक 65 बसों से करीब 4500 निराश्रित मजदूरों को जिला प्रशासन उनके गृह जिला भेज चुका है। लेकिन सोमवार को फिर भारी भीड़ मजदूरों की नयागांव बॉर्डर मिली है। करीब १४०० मजदूर को वहां रोका गया और उनके भोजन पानी की व्यवस्था की गई है। वहीं इनके बारे में जिला कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे को अवगत कराया गया है। सभी मजदूरों को सेनेट्राइज और स्क्रीनिंग जांच कर उनके गृह जिले बसों से भेजने के व्यवस्था की गई है। खासकर रतलाम, झाबुआ, शाजापुर, बांसवाड़ा के भील-मामा मजदूर की बड़ी संख्याहै।

आवाजाही पर बिल्कुल प्रतिबंध, बॉर्डर सीज
बाहर से आने वाले और बाहर जाने वालों की आवाजाही पर बिल्कुल प्रतिबंध लगा दिया गया है। निजी वाहनों की सभी अनुमति निरस्त कर दी गई है। राजस्थान की ओर से भारी मात्रा में निराश्रित मजदूर आ रहे है। सोमवार को भी करीब १४०० मजदूर आए है। उनके खाने पीने की व्यवस्था की गई है। वहीं सेनेट्राइज और जांच कर उन्हें कलेक्टर के आदेशानुसार गृह जिला भेजा जा रहा है।
- राजीव कुमार मिश्रा, एएसपी नीमच।

Virendra Rathod Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned