एट्रोसिटी एक्ट के विरोध का डर, लोकार्पण में नहीं पहुंचे मंत्री व सांसद

एट्रोसिटी एक्ट के विरोध का डर, लोकार्पण में नहीं पहुंचे मंत्री व सांसद

harinath dwivedi | Publish: Sep, 12 2018 12:02:36 AM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

करणी सेना के विरोध को देखते हुए दूरी बनाई

नीमच/नयागांव. एट्रोसिटी एक्ट धीरे धीरे जनप्रतिनिधियों के गले की फांस बनता जा रहा है। हालात इतने बदतर हो गए हैं कि विरोध के डर की वजह से अब लोकार्पण समारोह तक से मंत्री और सांसद पल्ले झाडऩे लगे हैं। ऐसा ही कुछ यहां देखने को मिला।

 

करणी सेना के डर से नहीं पहुंचे मंत्री सांसद
एट्रोसिटी एक्ट को लेकर श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के विरोध के चलते यहां होने वाले नगरपरिषद के नवीन भवन के लोकार्पण कार्यक्रम में न मंत्री पहुंचे और न ही सांसद व जावद विधायक। भाजपा नेताओं से ही फीता कटवाकर भवन का लोकार्पण कर दिया गया। विदित हो कि सोमवार शाम 7.10 बजे नगर परिषद नयागांव के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण करने प्रदेश के संस्कृति एवं पर्यटक मंत्री सुरेंद्र पटवा, प्रभारी मंत्री अर्चना चिटनीस, सांसद सुधीर गुप्ता, जावद विधायक ओमप्रकाश सकलेचा, बेगूं विधायक सुरेश धाकड़ सहित अन्य नेता पहुंचने वाले थे। इस बीच एट्रोसिटी एक्ट के विरोध और सांसद द्वारा करणी सेना को गोलमेज पर चर्चा करने की चुनौती को स्वीकार करते हुए श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने सांसद से चर्चा करने की तैयार की थी। इसको देखते हुए ही एक भी नेता कार्यक्रम में नहीं पहुंचा। इस बीच नीमच जिला भाजपा अध्यक्ष हेमंत हरित कार्यक्रम में पहुंचे। उन्होंने समाजसेवी अनिल चौधरी, नगर परिषद अध्यक्ष चंद्रकला धाकड़, राजू नागदा मोड़ी, सीएमओ विक्रमसिंह सोलंकी की उपस्थिति में फीता काटकर नवीन भवन का लोकार्पण किया। सांसद से चर्चा करने के लिए करणी सेना के गिरिराज सिंह, भोपालसिंह चंद्रावत अपनी टीम के साथ करीब एक घंटे तक खड़े रहे। इस बीच करणी सेना के सदस्यों ने 'वोट फॉर नोटा' को लेकर जमकर नारेबाजी करते रहे अपना विरोध दर्ज कराया। लेकिन जनप्रतिनिधि नहीं आए। इस बीच लोकार्पण कर दिया गया। इसके बाद करणी सेना के पदाधिकारी व सदस्य वहां से चले गए। करणी सेना के विरोध को देखते हुए पुलिस फोर्स भी सतर्क था।

 

Ad Block is Banned