scriptCongress forced to bet on 'outsiders' in municipal elections | नगरपालिका चुनाव में 'बाहरी' पर दांव खेलने को मजबूर कांग्रेस | Patrika News

नगरपालिका चुनाव में 'बाहरी' पर दांव खेलने को मजबूर कांग्रेस

पत्रिका एक्सक्लूसिव

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने स्थानीय पर जोर देने जारी किया पत्र

नीमच

Published: June 14, 2022 12:14:06 am

मुकेश सहारिया, नीमच. एक बार फिर नगरपालिका चुनाव में कांग्रेस के पास जीताऊ प्रत्याशियों को संकट साफ नजर आ रहा है। जनपद पंचायत चुनाव में मनासा और नीमच के सभी 25 वार्डों में कांग्रेस अपने अधिकृत प्रत्याशी की घोषणा नहीं कर सकी। जनपद पंचायत जावद में एक वार्ड तो जिला पंचायत के 10 में से दो वार्डों में ऐसे हालात बने हैं। अब नगरीय निकाय में भी ऐसे ही हालात निर्मित होते दिख रहे हैं।
नगरपालिका चुनाव में 'बाहरी' पर दांव खेलने को मजबूर कांग्रेस
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के आदेश से जारी किया गया पत्र।
बनती है भाजपा की बहुमत वाली परिषद
नगरपालिका परिषद नीमच का इतिहास रहा है कि यहां प्रत्यक्ष चुनाव में भले लगातार ३ बात कांग्रेस का अध्यक्ष रहा हो, लेकिन बहुमत भाजपा पार्षदों का ही रहा है। ऐसे में अप्रत्यक्ष चुनाव में भी बहुमत भाजपा का होगा इसकी संभावना अधिक हैं। इसके चलते नपाध्यक्ष (अनारक्षित महिला) भी भाजपा से ही बनने की उम्मीद अधिक है। इसकी प्रमुख वजह भी है। इस समय कांग्रेस के पास ऐसे जिताऊ प्रत्याशी ही नहीं हैं। जो इस श्रेणी में आते भी हैं तो वे पार्षद का चुनाव लड़कर अपने राजनीतिक भविष्य पर प्रश्नचिंह नहीं लगाना चाह रहे हैं। कुछेक हिम्मत भी दिखा रहे हैं तो उनका वार्ड इस बात की गवाही नहीं दे रहा कि वे वहां से किस्मत आजमा सकें। ऐसे में वे अन्य वार्ड का रुख करने को मजबूर हैं।
बाहरी तमगे के साथ समर्थक को साधने का प्रयास

कांग्रेस के कुछ वार्ड तो ऐसे हैं जहां से उनकी जीतने की उम्मीद न के बराबर है। कुछ वार्डों में आरक्षण की वजह से जीतने वाले दावेदारों के मंसूबों पर पानी फिर गया। अब वे ऐसे सुरिक्षत वार्ड की तलाश कर रहे हैं। समर्थक को तलाश भी लिया तो वहां जातिगत समीकरण ने परेशानी खड़ी कर दी। ऐसे में हार की आशंका ने दूसरे समर्थक को साधने का प्रयास किया जा रहा है। कांग्रेस में वैसे भी उच्चस्तर से जारी निर्देशों का पालन काफी कम ही होता है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने भले फरमान जारी कर दिया हो, लेकिन उसपर पालन होता नहीं दिख रहा है। इसके चलते ही नगरपालिका के करीब १० से ११ वार्डों में बाहरी प्रत्याशी किस्मत आजमाते दिखाई देंगे। कांग्रेस में गुटबाजी और आपसी खींचतान के चलते भी संकट अधिक है। सूत्र तो यहां तक बता रहे हैं कि इस कारण से कांग्रेस एक दर्जन वार्डों तक सिमटकर रह जाएगी। कांग्रेस से भाजपा में आए सिंधिया समर्थक सुरेंद्र सेठी (पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष) इस बात की पुष्टि भी कर रहे हैं कि कांग्रेस की गुटबाजी और कमजोर नेतृत्व ही हार का सबसे बड़ा कारण बनेगा। पिछले दिनों उदयपुर के चिंतन शिविर में अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग को साधने का निर्णय लिया गया था। जिला कांग्रेस में दिग्गज नेताओं के रहते हुए भी जिला पंचायत में आदिवासी वर्ग के लिए आरक्षित हुए वार्ड से प्रत्शाशी ही नहीं खड़ा कर सके। ऐसे ही अनुसूचित जाति वर्ग के एक वार्ड में देखने को मिला। सेठी ने कहा कि इस प्रकार सच्चाई से मुंह नहीं फेरा जा सकता। वास्तविकता यह है कि कांग्रेस के पास जीतने का दम भरने वाले दावेदारों का टोटा है। बाहरी प्रत्याशी पर दांव लगाना कांग्रेस संगठन की मजबूरी बन चुका है। भले ही पत्र के माध्यम से जिला संगठन को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ही बाहरी को टिकट नहीं देने के लिए सचेत क्यों नहीं किया हो। गुटबाजी और कमजोर नेतृत्व क्षमता की वजह से नगरपालिका नीमच में कांग्रेस 10 से 11 सीट पर सिमट जाएंगी।

मजबूत प्रत्याशी को ही देंगे टिकट
यह बात सही है कि नगरपालिका नीमच के सभी ४० वार्डों में से कुछ वार्डों में मजबूत प्रत्याशी नहीं हैं। ऐसे वार्डों में समक्ष प्रत्याशी की तलाश की जा रही है। यह भी सही है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने जिस वार्ड से मतदाता सूची में नाम दर्ज है वहीं से प्रत्याशी खड़ा करने के निर्देश दिए हैं। जिन वार्डों से मजबूर प्रत्याशी नहीं मिल रहे हैं वहां बाहरी को प्रत्याशी बनाने पर विचार चल रहा है।
- अजीत कांठेड़, जिलाध्यक्ष कांग्रेस

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: राज्यपाल पर टिकी सबकी निगाहें, नीतीश-तेजस्वी को अब तक नहीं मिला सरकार बनाने का न्योताBihar New Govt: नीतीश कुमार CM, डिप्टी CM व होम मिनिस्ट्री राजद के पाले में, कांग्रेस से स्पीकर बनाए जाने की चर्चाBihar Politics: 2024 में नीतीश कुमार नहीं होंगे विपक्ष के पीएम उम्मीदवार, कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर खोला राज'मुफ्त रेवड़ी' कल्चर मामले में सुप्रीम कोर्ट में आमने-सामने AAP और BJP, आम आदमी पार्टी ने कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजानाMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपJharkhand News: रांची के बुंडू में सड़क हादसा, ट्रक ने छात्राओं को रौंदा, 3 बच्चों की मौत, 1 घायलबिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल का आरोप, नीतीश कुमार ने NDA और BJP को धोखा दियाMaharashtra: सीएम एकनाथ शिंदे अपनी ‘मिनी’ टीम का सितंबर में करेंगे विस्तार, सामने आई यह बड़ी अपडेट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.