scriptCorona is also a form of time, must wear a mask to avoid it | कोरोना भी काल का एक रूप है, इससे बचने मास्क अवश्य लगाएं | Patrika News

कोरोना भी काल का एक रूप है, इससे बचने मास्क अवश्य लगाएं

रामदयाल महाराज ने किया श्रीराम कुटीर एवं प्रवेश द्वार का किया लोकार्पण
राष्ट्रसंत डा. मिथिलेश नागर और भागवताचार्य पंडित घीसालाल नागदा भी थे उपस्थित

नीमच

Updated: December 02, 2021 08:21:11 pm

नीमच. कोरोना के कहर ने अपनों के बीच से अपनों को उठाया। ईश्वर, भारत की पवित्र धरती में अब ऐसा संकट लेकर कभी न आए। कोरोना ने कई मांओं के मांग के सिंदूर का पौछा है। कितने बच्चों को अनाथ किया है। कितने मां-बाप के बुढ़ापे का सहारा जवान पुत्रों को लील लिया है। हंसते, मुस्कुराते चहरों को देखते-देखते सुला दिया। यह कोरोना भी काल का एक रूप है। मेरा यहां उपस्थित सभी महानुभवों से अनुरोध है कि मास्क अनिवार्य रूप से लगाए। 'दो गज की दूरी मास्क है जरूरी का पालन करें।

कोरोना भी काल का एक रूप है, इससे बचने मास्क अवश्य लगाएं
कोरोना भी काल का एक रूप है, इससे बचने मास्क अवश्य लगाएं
यह बात अंतरराष्ट्रीय रामस्नेही संप्रदाय शाहपुरा के पीठाधीश्वर श्रीरामदयाल महाराज ने कही। वे गुरुवार को शिक्षक कॉलोनी स्थित श्री कर्मेश्वर महादेव मंशापूर्ण बालाजी मंदिर पर मुख्य प्रवेश द्वार और श्रीराम कुटीर का लोकार्पण करने पधारे थे। महाराजश्री ने कहा कि कोरोना काल में ऐसे ऐसे दृश्य देखने को मिले जहां एक महिला यह सोचकर अपने बेटे की मृत्यु की खबर पति को इसलिए नहीं बता रही थी कि उन्हें सदमा लग जाएगा। कुछ दिनों में पति की भी मृत्यु हो गई। जवान बेटा और पति दोनों को कोरोना ने लील लिया। कई परिवारों में मासूमों के माता-पिता दोनों की कोरोना से मौत हो गई। मैं कर्मेश्वर महादेव, बालाजी के चरणों में नमन करते हुए कोरोना के जितने शिकार बने हैं उनके सबके लिए श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें। ऐसा संकट फिर न आए। अभी भी कोरोना से मुक्ति नहीं मिल गई है। आप इस मुगालते में न रहें। मैं अपने अधिकार के द्वारा सभी से अपील करूंगा मास्क अवश्य पहने। दो गज की दूरी मास्क है जरूरी इस महामंत्र को भूलना नहीं। राजस्थान में अभी भी कोरोना मरीज सामने आ रहे हैं। वहां कई शहरों में रात का कफ्र्यू लगा हुआ है। कार्यक्रम में परम पूज्य राष्ट्रीय संत डा. पंडित मिथिलेश नागर और भागवताचार्य पंडित घीसालाल नागदा ने भी संबोधित किया।

प्रवेश द्वार और श्रीराम कुटीर का लोकार्पण
मंशापूर्ण महादेव मंदिर परिसर में गुरुवार सुबह 11 बजे शाहपुरा पीठाधीश्वर श्री 1008 रामदयाल महाराज, डा. पंडित नागर और भागवताचार्य पंडित घीसालाल नागदा मंदिर परिसर में आयोजित कार्यक्रम में पधारे। रामदयाल महाराज के करकमलों से श्रीराम कुटीर एवं मुख्य प्रवेश द्वार का लोकार्पण हुआ। इसके बाद मंशापूर्ण महादेव समिति के अध्यक्ष धर्मेंश पुरोहित ने स्वागत भाषण दिया। इसके बाद तीनों संतश्री ने उपस्थित श्रद्धालुओं को आशीर्वचन दिए। महाराजश्री के आगमन को लेकर मंदिर समिति के सभी महानुभाव ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। इस अवसर पर मंदिर समिति के अध्यक्ष धर्मेश पुरोहित, पोरवाल महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीएल धनोतिया, पोरवाल समाज अध्यक्ष गोविंद पोरवाल सावनवाला, धर्मेश शर्मा, मुकेश सहारिया, राजेंद्र त्रिवेदी, दिलीप दुबे, विजय जोशी, श्याम शर्मा, राजेंद्र व्यास, गोपाल नागदा, प्रवीण मित्तल, घनश्याम पोरवाल, राजेश पोरवाल मेडिकल, शांतिलाल पोरवाल, ईश्वरलाल धनोतिया, एलआईसी घनश्याम सेठिया, सीएमओ पाटीदार, प्रकाश मंडवारिया, दिनेश मंडवारिया, राजेश मुजावदिया लालजी, राजेंद्र गुप्ता, मोहित गुप्ता, गौरव पोरवाल, सोनू मंडवारिया, मंदिर समिति के राजेंद्र व्यास, शारदा महिला मंडल अध्यक्ष मधु शर्मा व सम्माननीय में सभी पदाधिकारी राष्ट्रीय संरक्षक मुकेश पोरवाल उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मुकेश सहारिया ने किया। आभार समिति के अध्यक्ष धर्मेश पुरोहित ने माना।

श्रीराम दरबार के लिए 3 लाख 80 की घोषणा
कार्यक्रम में शिक्षक कॉलोनी स्थित श्री कर्मेश्वर महादेव मंशापूर्ण बालाजी मंदिर पर में श्रीराम दरबार एवं सभागृह विस्तार के लिए श्रद्धालुओं ने मुक्तहस्त से सहयोग राशि प्रदान की। इसमें २ लाख रुपए शारदा महिला मंडल अध्यक्ष मधु शर्मा, एक लाख रुपए वृंदा श्रीवास्तव/ केसी श्रीवास्तव, ५१ हजार रुपए बीएल धनोतिया/मीना धनोतिया और ३१ हजार रुपए विजय जोशी/ हेमलता जोशी की ओर से प्रदान किए गए। इसी प्रकार मंदिर परिसर के प्रवेश द्वार के लिए श्रद्धालुओं ने २ लाख ७४ हजार रुपए की सहयोग राशि प्रदान की थी। इस राशि से ही मंदिर का भव्य प्रवेश द्वार बनकर तैयार हुआ। इसके साथ ही मंदिर परिसर में संतों के विश्राम के लिए बनाई गई श्रीराम कुटीर के लिए भी श्रद्धालुजनों की ओर से ४ लाख १४ हजार ७२४ रुपए की सहयोग राशि प्रदान की गई थी। इस राशि से ही कुटीर का निर्माण हुआ।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

एनसीसी रैली में बोले पीएम मोदी- महिलाओं को सेना में मिल रही बड़ी जिम्मेदारियांSC-ST को आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, राज्य तय करें प्रमोशन का पैमानाNeoCov: ओमिक्रॉन के बाद सामने आया कोरोना का नया वैरिएंट 'नियोकोव' और भी खतरनाकDCGI ने भारत बायोटेक को इंट्रानैसल बूस्टर डोज के ट्रायल की दी मंजूरी, 9 जगहों पर होंगे परीक्षणAkhilesh Yadav और शिवपाल यादव को हराने के लिए मायावती के प्लान B का खुलासाघर से निकलने से पहले देख ले अपनी ट्रेन का स्टेटस, कई ट्रेन रद्द, कई के रूट बदलेपुलिस से बचने के लिए नदी में कूदा अधेड़, खोजने के लिए गोताखोर और एसडीआरएफ की टीम जुटीसुभासपा ने जारी की तीन उम्मीदवारों की लिस्ट, राजभर का दावा- हमारे निशान पर सपा प्रत्याशी लड़ेगा चुनाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.