Crime News पानी की कैन में मरा पड़ा था गिरगिट, दूषित पानी पीने से १४ महिलाओं की बिगड़ी तबीयत

खेत पर लहसुन निकालने समय पिया था महिलाओं ने पानी

By: Mukesh Sharaiya

Published: 10 Mar 2019, 04:07 PM IST

नीमच. जीरन क्षेत्र में खेत पर काम करते समय करीब १४ महिलाओं ने कैन में भरा पानी पिया था। जबतक महिलाओं को यह नहीं पता चला था कि कैन में मरा हुआ गिरगिट पड़ा है किसी को कुछ नहीं हुआ। कैन खाली होने पर सच्चाई सामने आई तो एक-दूसरे को देखकर महिलाओं की तबीयत बिगडऩे लगी। सभी महिलाओं को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। उपचार के बाद देर शाम भी को छुट्टी दे दी गई।

कैन में मरा पड़ा गिरगिट नहीं को नहीं चला पता
शनिवार दोपहर जीरन क्षेत्र में मदनलाल बिलावत के खेत पर महिलाएं लहसुन निकालने का काम कर रहीं थी। महिलाओं को जब भी प्यास लगती वहां रखी 15 लीटर की पानी की कैन में से पानी पी लेती थी। दोपहर करीब एक से दो बजे के बीच एक-एक कर 14 महिलाओं ने कैन का पानी पिया। जब कैन का पानी खत्म हो गया तो एक महिला का ध्यान उसके अंदर मरे पड़े गिरगिट पर नजर पड़ी। जैसे ही उसकी नजर गिरगिट पर पड़ी उसने उल्टियां करना शुरू कर दिया। उसे देख कुछ ही देर में अन्य महिलाओं की तबीयत भी बिगड़ गई। एक महिला लक्ष्मीबाई ने कैन का पानी नहीं पिया था। इससे उसे कुछ नहीं हुआ था। उसने ही फोन कर खेत मालिक को इस बारे में जानकारी दी। जानकारी मिलने के बाद सभी महिलाओं को पहले जीरन अस्पताल लेकर गए। वहां से प्राथमिक उपचार बाद सभी को जिला अस्पताल रैफर कर दिया गया।

एक-दूसरे को देखकर हो गईं बीमार
अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती की गई महिलाओं में से लक्ष्मीबाई ने बताया कि मैंने कैन का पानी नहीं पिया था। इस कारण मेरी तबीयत नहीं बिगड़ी। पानी पीने की बजाय महिलाएं एक-दूसरे का देखकर घबरा गई और बीमार पड़ गई। देखा जाए तो पानी पीने से नहीं एक-दूसरे की तबीयत खराब होने और डर की वजह से 14 महिलाओं की तबीयत खराब हुई है। पानी में गिरगिट कब से मरा पड़ा था इस बारे में किसी को नहीं पता। मैंने काकसा को इसकी सूचना दी थी। बाद में सभी महिलाओं को 108 की मदद से अस्पताल लेकर आए। तीन महिलाओं की तबीयत अधिक बिगड़ी है, लेकिन कोई गंभीर नहीं है।

इन महिलाओं को कराया भर्ती
खेत पर रखी प्लास्टिक की कैन में भरे पानी को पीने से सहजान (40) नजमा (35) गुड्डी बाई पति गंगाराम (32) नजमा (36) सहनाज (35) अमरी बाई (40) कन्याबाई (35) रामकन्या (36) रथनी बाई (50) राधाबाई (36) सलमा (30) ए रामकन्या (35) सुगनाबाई (36) व ममता (30) सभी निवासी जीरन की तबीयत खराब हुई थी। अधिकांश को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी। जिन महिलाओं को कमजोरी महसूस हो रही थी उन्हें गुलुकोज की बोतल चढ़ाई गई थी। देर शाम सभी महिलाओं का छुट्टी दे दी गई।

मरे गिरगिट वाला पानी पिया था महिलाओं ने
जीरन क्षेत्र में महिलाओं को जिला अस्पताल लाया गया था। महिलाओं ने बताया था कि पानी की कैन में गिरगिट मरा हुआ था। उसी पानी को वे पी भी रहीं थी। इस कारण 14 महिलाओं की तबीयत बिगड़ी थी। सभी सामान्य रूप से बीमार थीं। कोई गंभीर नहीं थी। 3 महिलाओं की तबीयत कुछ अधिक खराब हुई थी।
- डा. महेंद्र पाटिल, जिला चिकित्सालय

Mukesh Sharaiya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned