गड्ढों में भरा बारिश का पानी, मंडी रोड पर छाया कीचड़

harinath dwivedi

Publish: Dec, 07 2017 03:41:15 (IST)

Neemuch, Madhya Pradesh, India
गड्ढों में भरा बारिश का पानी, मंडी रोड पर छाया कीचड़

रिमझिम बारिश ने बदली शहर की तस्वीर
-गड्ढों में भरा बारिश का पानी, मंडी रोड पर छाया कीचड़
-जन-जीवन हुआ प्रभावित, बाजार भी खुला देर से, बंद हुआ जल्दी

नीमच. सड़कों पर हुए गड्ढों में भरा बारिश का पानी, हाथों में छातरी और रेन कोट पहनकर आवाजाही करते लोग, विकास कार्य के लिए खोदी गई सड़कों पर छाया कीचड़। ये हालात नजर आए बुधवार को शहर में, ऐसे में जहां ठंड से बचने के लिए लोग गर्म कपड़ों से ढ़के बाहर निकल भी रहे थे। तो रिमझिम बारिश से भीगने पर लोगों की ठिठुरन ओर भी बढ़ती गई। जिससे बचने के लिए लोगों को अलाव जलाकर ही ठंड से बचने के प्रयास करने पड़े। इस प्रकार लगातार तीन दिनों से दिन ब दिन बिगड़ते मौसम के कारण बुधवार को जन जीवन अस्त व्यस्त नजर आया।
बतादें की लगातार तीसरे दिन भी ठंड का कहर बरसता रहा, अन्य दिनों की अपेक्षा बुधवार को ठंड और बारिश के कारण लोग ठिुठरते नजर आए। जिन लोगों को कुछ काम नहीं था, वे तो घर से बाहर नहीं निकले। लेकिन जिन्हें किसी भी काम से बाहर निकलना पड़ा। उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। क्योंकि ठंड से बचने के लिए लोग गर्म कपड़े पहने थे। लेकिन रिमझिम बारिश के कारण गर्म कपड़े भी भीग गए। इस कारण लोगों को ओर अधिक सर्दी का सामना करना पड़ा।
हर सड़क पर नजर आया कीचड़, गड्ढों में भरा था पानी
शहर की कुछ सड़कों पर गड्ढें हो रहे हैं तो कुछ सड़कें विकास कार्य के चलते खोद दी गई है। ऐसे में शहर की अधिकतर सड़कों के हाल रिमझिम बारिश के कारण बद् से बद्तर हो गए हैं। बुधवार को शहर के मूलचंद्र मार्ग पर स्थित सड़क पर हर चार कदम पर हो रहे गड्ढों से आवाजाही करने वाले लोगों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा था। क्योंकि चाह कर भी वे गड्ढों से नहीं बच पा रहे थे। वहीं कृषि उपज मंडी के बाहर विकास कार्य के चलते खोदे गए गड्ढों के कारण खुदी हुई सड़क पर बारिश का पानी गिरते ही कीचड़ ही कीचड़ हो गया। इस कारण वाहन चालक से लेकर राहगिरों तक सभी को आवाजाही करने में समस्या का सामना करना पड़ा।
शेड में हुआ नीलाम, मंडी प्रांगण नजर आया खाली
मौसम में आए बदलाव के कारण कृषि उपज मंडी में आनेवाली आवक भी प्रभावित हुई। जहां अन्य दिनों में किसानों द्वारा लाई गई उपज के ढेर खुले प्रांगण में नजर आते थे। वहीं बुधवार को मंडी में सभी उपजों की नीलामी का कार्य शेड में चला। लेकिन मौसम की ठंडक का असर बना रहा। ऐसे में किसान से लेकर अन्य सभी लोग ठंड से ठिठुरते नजर आए, जिन्होंने ठंड से बचने के लिए वहीं अलाव जला लिया। ताकि ठंड से कुछ बचा जा सके। मौसम बिगडऩे के कारण लहसुन की मात्र ४ हजार बोरी की आवक नजर आई। जो सामान्य मौसम में १० हजार से अधिक पहुंच गई थी।

जन जीवन हुआ अस्त व्यस्त
कड़कड़ाती ठंड और बरसते पानी के कारण जन जीवन अस्त वयस्त नजर आया। जिन लोगों को कोई काम नहीं था, वे घर से बाहर नहीं निकले। वहीं जरूरत पडऩे पर जो लोग बाहर निकले, वे गर्म कपड़े पहनकर निकले तो बारिश से भीग गए। इस प्रकार बदलते मौसम के मिजाज के कारण शहर का बाजार भी अन्य दिनों की अपेक्षा काफी लेट खुला। जो शाम को समय से पहले बंद होता भी नजर आया। कड़कड़ाती ठंड के कारण बुधवार को लोग दैनिक उपयोग की वस्तुओं को लेने के लिए ही घर से बाहर निकले। इस कारण बाजार में भी सन्नाटा नजर आया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned