कभी सड़क पर पड़ा था फेंकना, अब निकाल रहा आंसू

गिलकी, ग्वार, सिमला मिर्च अब भी हैं लाल

By: harinath dwivedi

Published: 21 Jan 2018, 10:51 PM IST

नीमच. भले सब्जियों के दाम आसमान से जमीन पर आ गए हों, लेकिन प्याज अभी भी लोगों के आंसू निकाल रहा है। मांग अनुसार कृषि उपज मंडी में प्याज की आवक नहीं होने से करीब एक सप्ताह इसी तरह आसमान पर रहेंगे प्याज के दाम। सब्जी में ग्वालफली, शिमला मिर्च और गिलकी के तीखे तेवर जारी हैं।
फुटकर सब्जी विक्रेता संघ के पूर्व अध्यक्ष नितेश अग्रवाल ने बताया कि सब्जी मंडी में अधिकांश सब्जियों के दाम जमीन पर हैं। इन दिनों सब्जी मंडी में गोभी १० से १५ रुपए किलो, मैथी १० से २०, पालक १०, टमाटर १० से १५, लोकी १० से १५, आलू १०, बेगन १५ से २०, पत्तागोभी १५, सेमफली २०, मटर २० से २५, धनिया १० रुपए किलो बिक रहा है। जो सब्जी जिले में नहीं होती है उसके दाम आसमान पर हैं। इसमें गिलकी ८० रुपए किलो, ग्वालफली ७० से ८० रुपए और शिमला मिर्च ३० से ४० रुपए किलो बिक रही है। अग्रवाल ने बताया कि नई प्याज की आवक शुरू होने के बाद भी सब्जी का स्वाद प्याज से बिगाड़ रखा है। यह बात अलग है कि एक पखवाड़े पहले तक प्याज ५० रुपए तक बिक रही थी, लेकिन अब ३० से ३५ रुपए किलो आकर ठहर गई है। अग्रवाल ने बताया कि नीमच से बड़ी मात्रा प्याज अन्य शहरों में निर्यात किया जाता है। इस कारण भी दाम अब तक सामान्य नहीं हुए हैं। आने वाले दिनों में प्याज के दाम कम होने की कुछ उम्मीद है।
इनका कहना है
आगामी एक सप्ताह और ऊंचे रहेंगे प्याज के दाम। जब तक नई प्याज की आवक मंडी में नहीं होती तब तक इसी तरह प्याज के तेवर तीखे रहेंगे। थोक में प्याज २० से २८ रुपए प्रतिकिलो बिक रहा है। वहीं फुटकर में ३० से ३५ रुपए प्रतिकिलो है। देखा जाए तो मंडी में नई आवक शुरू होने में एक पखवाड़े का समय लगेगा। फिलहाल मंडी में १००० से १२०० बोरी प्याज की आवक हो रही है।
- आशीष लाठी, थोक विक्रेता

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned