यहां खाद्य एवं औषधि प्रशासन बना आपसी खींचतान का अखाड़ा

मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी को दिए नोटिस को कलेक्टर ने किया निरस्त
अब बिना कलेक्टर की अनुमति के नहीं होगी छापामार कार्रवाई

नीमच. पिछले दिनों खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अभिहित अधिकारी द्वारा मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजीवकुमार मिश्रा को नोटिस देकर एक से 13 जनवरी में उपस्थिति के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया था। कलेक्टर ने इस कारण बताओ नोटिस को निरस्त कर दिया है।
खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अभिहित अधिकारी डा. एसएस बघेल ने मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजीवकुमार मिश्रा को कारण बताओ नोटिस जारी कर उनसे 13 दिन में किए गए कार्यों को स्पष्टीकरण मांगा था। इस बारे में कलेक्टर को जानकारी मिली तो उन्होंने डा. बघेल को इसके लिए फटकार भी लगाई थी। उन्हें बताया था कि उनके अधिनस्त अधिकारी क्या कार्य कर रहे हैं इसकी तक उन्हें जानकारी नहीं रहती है। मिश्रा के कार्यकाल में नीमच जिले में बड़े स्तर पर मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई की गई। तीन मिलावटखोरों पर रासुका लगी। इसके बाद भी जिम्मेदारी अधिकारी को कारण बताओ नोटिस दिया गया। कलेक्टर ने अभिहित अधिकारी को पत्र लिखकर बताया कि मेरे द्वारा दिए गए निर्देशों के पालनार्थ ही एक से 13 जनवरी तक मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजीवकुमार मिश्रा नीमच जिले व शासकीय कार्य के लिए अन्य जिलों में गए थे। अत: कारण बताओ सूचना पत्र को तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाता है।
मेरी अनुमति के बिना नहीं होगी कार्रवाई
कलेक्टर ने अभिहित अधिकारी को लिखे पत्र में स्पष्ट किया है कि शुद्ध के लिए युद्ध अभियान जिले में मेरी निगरानी में संचालित किया जा रहा है। कई बार व्यापारियों की ओर से खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजू सोलंकी की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं कि अभियान की आड़ में हमें उनके द्वारा परेशान किया जा रहा है। इससे प्रशासन की छवि धूमिल हो रही है। ऐसे में उक्त अभियान के बेहतर क्रियांवयन के लिए कोई भी कार्रवाई मेरी अनुमति के बिना नहीं होगी। अभियान का नोडल अधिकारी मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजीवकुमार मिश्रा को नियुक्त किया जाता है। किसी भी प्रकार की कार्रवाई करने के लिए वे मुझसे अनुमति प्राप्त करेंगे। साथ ही प्रतिदिन रिपोर्ट करेंगे।

Show More
Mukesh Sharaiya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned