यहां पौने 4 लाख रुपए की खाद्य सामग्री जांच में हुई फेल

मेघदूत ट्रेडिंग कंपनी कनावटी से लिए नमूने जांच में फेल
अब जल्द दर्ज होगा मिलावटखोर के खिलाफ प्रकरण

By: Mukesh Sharaiya

Published: 19 Mar 2020, 01:41 PM IST

नीमच. 'शुद्ध के लिए युद्ध' अभियान के तहत जिले के मिलावटखोरों के खिलाफ की गई कार्रवाई के अब तक चौकाने वाली परिणाम सामने आए हैं। इसी साल जनवरी में ग्राम कनावटी स्थित मेघदूत ट्रेडिंग कम्पनी से लिए गए तिल्ली के नमूने जांच में फेल हुए हैं। यहां से खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए 3 लाख 83 हजार रुपए के तिल्ली और कलौंजी जब्त की थी।
खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजू सोलंकी ने बताया कि 10 जनवरी 2020 को ग्राम कनावटी स्थित 'मेघदूत ट्रेडिंग कंपनी' पर खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के अंतर्गत छापामार कार्रवाई की गई थी। आकस्मिक निरीक्षण में मौके पर खाद्य पदार्थों की पैकिंग होते पाया गया था। पैकिंग पर 'ऊंझा गुजरात' का पता अंकित पाया गया था। मौके से तिल्ली के दो और कलौंजी का एक इस प्रकार कुल तीन नमूने जांच हेतु लिए गए थे। नमूनों को जांच के लिए राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला भोपाल से भेजा गया था। भोपाल प्रयोगशाला से तिल्ली के दोनों नमूने की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। दोनों नमूने 'किटकेट ब्रांड तिल्ली एवं 555 ब्रांड तिल्लीÓ जांच में मिथ्याछाप पाए गए हैं। छापामार कार्रवाई के दौरान मौके पर कंपनी के प्रोपराइटर मनोज कुमार उपस्थित थे। यहां पर किटकेट ब्रांड तिल्ली के २७ बेग में भरा कुल 8 हजार किलोग्राम, 555 बिग्रेड तिल्ली के 21 बेग में भरा कुल एक हजार ४८ किलोग्राम और ब्लैक डायमंड कलोंजी के २४ बेग में भरा कुल एक हजार 198 किलोग्राम पैकिंग ऊंझा गुजरात के पते से ब्रांड की खाद्य सामग्री जब्त की गई थी। कनावटी स्थित फर्म पर जो खाद्य सामग्री पैक की जा रही थी इसकी अनुमति संबंधित फर्म संचालक को नहीं थी। फर्म पर पैकिंग मशीन भी लगी हुई थी। इससे यह अंदाजा लग रहा था कि मिथ्याछाप ब्रांड का माल उसी की मदद से पैक कर बाजार में बेचा जा रहा था। सभी के सैंपल लेकर जांच के लिए राज्य प्रयोगशाला भोपाल भेजे जा रहे हैं। छापामार कार्रवाई के दौरान मौके पर खुले में करीब ८ टन कलौंजी और 10 टन तिल्ली मिली है। उक्त खाद्य सामग्री खुले में पड़ी होने की वजह से जब्त नहीं की गई थी।
कलौंजी की रिपोर्ट आना शेष
फर्म संचालक को प्रकरण में धारा 46(4) के अंतर्गत नोटिस की कार्रवाई की जा रही है। कलौंजी की रिपोर्ट आना शेष है। जब्त तिल्ली मिथ्याछाप पाए जाने पर अब उसके नष्ट करने की कार्रवाई न्यायालय के आदेश पर की जाएगी।
- राजू सोलंकी, खाद्य सुरक्षा अधिकारी

Show More
Mukesh Sharaiya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned