FSSAI News कबाड़ी से खरीदे डिब्बों में पैक किया जाता था फैक्ट्री में तेल

FSSAI News कबाड़ी से खरीदे डिब्बों में पैक किया जाता था फैक्ट्री में तेल
नीमच.

Mukesh Sharaiya | Updated: 09 Oct 2019, 01:13:59 PM (IST) Neemuch, Neemuch, Madhya Pradesh, India

जब्त किए 438 डिब्बों को कराया जाएगा नष्ट

नीमच. जीरन तहसील के ग्राम कचोली स्थित श्री धानुका एग्रो प्रायवेट लिमिटेड से 2 अगस्त 19 को लिया गया मंूंगफली तेल का नमूना अवमानक निकला है। मूंगफली तेल में दूसरा तेल मिला होने की पुष्टि हुई है। फैक्ट्री से जब्त किए 438 टीन के डिब्बों को नष्ट किया जाएगा। यह डिब्बे कबाड़ी से 30 रुपए प्रति नग के मान से खरीदे गए थे। अलग अलग ब्रांड के इन डिब्बों में फैक्ट्री में तैयार मिलावटी तेल भरकर बेचा जाता था।

फैक्ट्री संचालक के खिलाफ होगा प्रकरण दर्ज
मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी संजीवकुमार मिश्रा ने बताया कि 2 अगस्त 19 को जीरन तहसील के ग्राम कचोली स्थित श्री धानुका एग्रो फैक्ट्री पर दबिश दी गई थी। फैक्ट्री में 15 किलोग्राम के 7 पैक डिब्बे मिले थे। इन डिब्बों पर बेच नंबर नहीं थे। कबाड़ी से खरीदे गए तेल के उपयोग किए डिब्बे फैक्ट्री से बरामद हुए थे। इनमें अडानी विलमार, रानी गोल्ड, गोयल आदि ब्रांड के डिब्बे शामिल थे। इन डिब्बों में धानुका फैक्ट्री में तैयार तेल भरकर बेचा जाता था जो कि एक अपराध है। कबाड़ी से लिए इन डिब्बों का उपयोग करने पर खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम 2006 की धारा 58 के तहत पैकेजिंग एंड लेबलिंग रेग्यूलेशन के तहत कार्रवाई की जाएगी। इस फैक्ट्री में 5 ड्रम में 900 किलोग्राम सोयाबीन तेल भरा हुआ था। इस तेल को री पैकिंग किया जाता था। यह तेल कैलाश धानुका के यहां से खरीदा गया था। मूंगफली और सोयाबीन के तेल की श्रीधानुका ब्रांड से पैकिंग कर बेचते हैं। मूंगफली का डबल रिफाइंड ऑयल बेचा जाता है। मिश्रा ने बताया कि फैक्ट्री की अनहाइजनिक कंडीशन की वजह से भी कार्रवाई की जाएगी। फैक्ट्री से लिया गया सोयाबीन तेल का नमूना जांच में सही पाया गया। फैक्ट्री से श्री धानुका एग्रो डबल फिल्टर्ड ग्राउनट ऑयल का नमूना भी लिया गया था। 15 किलोग्राम के पैक में से लिया गया नमूना जांच में अवमानक पाया गया था। खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम 2006 की धारा 51 के तहत फैक्ट्री मालिक महेश पिता मोतीलाल धानुका के खिलाफ अपर कलेक्टर की कोर्ट में प्रकरण दर्ज किया जाएगा। मिश्रा ने बताया कि फैक्ट्री में मूंगफली के तेल में अन्य तेल मिलाकर बेचा जाता था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned