इंस्पायर आवार्ड में मॉडल चिन्हित होने पर बच्चे को मिलेगी रायल्टी

इंस्पायर आवार्ड में मॉडल चिन्हित होने पर बच्चे को मिलेगी रायल्टी

By: Subodh Tripathi

Published: 03 Jan 2020, 12:26 PM IST

नीमच. अपनी सोच और आयडियों को अविष्कार का रूप देने के लिए जिला स्तरीय इंस्पायर अवार्ड प्रतियोगिता का आयोजन इसी माह किया जा रहा है। जिसमें नीमच, मंदसौर सहित अलिराजपुर के विद्यार्थियों द्वारा तैयार किए गए मॉडलों की प्रर्दशनी लगेगी। यहां से चिन्हित हुए मॉडल अगर नेशनल प्रतियोगिता में चिन्हित होकर व्यवसायिक रूप में खरा उतरते हैं तो बच्चों को जीवन भर रायल्टी का लाभ भी मिलेगा।


जिला स्तरीय इंस्पायर अवार्ड प्रतियोगिता का आयोजन 6 और 7 जनवरी को डाईट भवन पर किया जाएगा। जिसमें नीमच के 230, मंदसौर के 24 और अलिराजपुर के १ मिलाकर कुल 255 विद्यार्थियों द्वारा अपने आयडियों के आधार पर मॉडलों की प्रदर्शनी लगेगी। इन मॉडलों का निरीक्षण कर चिन्हित करने के लिए राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान अहमदाबाद की टीम आकर करीब 10 प्रतिशत मॉडलों का चयन करेगी। यानि कुल 255 में से करीब 26 मॉडलों को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए चिन्हित किया जाएगा। इसके बाद राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में से चिन्हित होने वाले मॉडलों को राष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल किया जाएगा। राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए करीब 25-25 हजार रुपए मॉडल को विकसित करने के लिए विद्यार्थियों को दिए जाएंगे।


मास्टर ट्रेनर जीएस धनगर ने बताया कि भारत भर से आने वाले आयडियों (मॉडलों) में से राष्ट्रीय स्तरीय पर चयनित करीब 8 मॉडलों की प्रदर्शनी राष्ट्रपति भवन में लगाई जाती है। जहां पर कार्पोरेट जगत के लोगों को बुलाया जाता है। जो इन मॉडलों को देखकर उनके प्रोडक्शन और व्यवसायिक करण लिए तैयार होते हैं तो बच्चे के नाम से पेटेंट होता है, यानि प्रोडक्शन के आधार पर फिर बच्चे को रायल्टी मिलती है। इसलिए बच्चों द्वारा दिए गए आयडिये को मूर्त रूप बनाने के लिए काफी प्रयास किया जाता है। इस संंंबंध में विभिन्न विद्यालयों के शिक्षकों और चिन्हित विद्यार्थियों को भी प्रशिक्षण दिया है। ताकि वे अपने मॉडलों को बेहतर रूप प्रदान कर सकें। इस प्रतियोगिता में कक्षा 6 से 10 तक के विद्यार्थी शामिल होते हैं।


इंस्पायर अवार्ड प्रतियोगिता 6 और 7 जनवरी को डाईट भवन में आयोजित की जाएगी। जिसमें विद्यार्थियों द्वारा अपने आयडियों के अनुसार मॉडल तैयार कर प्रदर्शन किया जाएगा। जिसमें चिन्हित मॉडल पहले राज्य स्तर फिर राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शित होंगे।
-केएल बामनिया, जिला शिक्षा अधिकारी नीमच

Subodh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned