जानिये क्यों दी एसपी ने उपहार में इन बेटियों को साइकिल

- एसपी को बुजुर्ग महिला ने बताई थी समस्या
- अभियान आस्था की श्रृंखला में पुलिस का सद्भावी प्रयास

By: harinath dwivedi

Published: 13 Mar 2018, 11:27 PM IST

नीमच. सिलाई करके जीवन यापन करने वाली बोहरा समाज की बुजुर्ग महिला जैनब के घर जब २५ फरवरी को जब एसपी तुषारकांत विद्यार्थी अचानक ही जन्म दिन की बधाई देने पहुंचे थे तो महिला को सहसा विश्वास नहीं हुआ था। लेकिन एसपी ने जब उन्हें बताया कि पुलिस हर उस बुजुर्ग की मदद के लिए है जिनकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आता तो उन्होने खुलकर अपनी समस्याएं भी बताई।
दरअसल नीमच एसपी द्वारा बुजुर्गों की मदद के लिए विशेष अभियान आस्था चलाया गया है। जिसमें बुजुर्गों को उनके जन्म दिवस या विवाह वर्षगांठ पर घर पहुंचकर शुभकामनाएं दी जाती हैं साथ ही घर पर ही चिकित्सक उनका स्वास्थ्य परीक्षण कर परामर्श और उपचार भी देते हैं।
विगत10 वर्षो से जैनब बाई बोहरा धर्मशाला में निवासरत् होकर सिलाई करके अपना जीवन यापन कर रही हैं तथा अपनी भतीजियां खतिजा व फातिमा को भी अपने साथ रखकर उनका भी खर्चा वहन करती है। भतीजी फातिमा कक्षा 6 एवं खतिजा कक्षा 2 में अध्ययनरत् है।
अपना खर्च वे सिलाई करके जुटाती हैं भतीजियों को भी मेहनत कर पढ़ाने की कोशिश कर रही हैं। एसपी के सामने उन्होने अपने आर्थिक हालातों का जिक्र किया था तो एसपी ने उनसे हर संभव मदद का भरोसा दिलाया था। कुछ ही दिनों में एसपी विद्यार्थी ने बोहरा समाज के कुछ व्यवसाइयों से बात की और बच्चियों को स्कूल जाने के लिए एक साइकिल दिलाने और उनकी मदद के लिए आर्थिक सहायता जुटाने की बात कही। सभी ने इस पहल की न केवल प्रशंसा की बल्कि मदद के लिए हाथ भी बढ़ाए।
मंगलवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में बोहरा समाज के वरिष्ठ नागरिक मंसूर भाई हड्डी वाला, हुसाम भाई डेरकी, अबीजर भाई एवं अब्बास भाई की मौजूदगी में सकीना बाई एवं जैनब को भतीजियों फातिमा एवं खतिजा सहित आमंत्रित किया गया। एसपी विद्यार्थी द्वारा बोहरा समाज के सहयोग से जैनबबाई की भतीजी फातिमा को स्कूल आने जाने में होने वाली परेशानी को दृष्ट्गित रखते हुए एक साइकिल एवं खतिजा को खेलने हेतु केरम बोर्ड भेंट किया गया।
दोनो बालिकाओं को जब यह उपहार मिले तो उनकी खुशी का ठिकाना न रहा। जैनब बाई ने भी कहा कि पुलिस परिवार की तरह ध्यान रखती है ऐसा पहली बार देखा। इस दौरान एसपी ने बोहरा समाज के सदस्यों को बताया गया कि पुलिस उनके परिजन की तरह है, किसी भी तरह की समस्या बताने में न हिचकें। पुलिस हर समय, हर संभव मदद के लिए तत्पर है।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned