आधुनिक कैमरे लगे हैं इस वाहन पर, बड़ी सभा-रैलियों की होगी विडियो रिकार्डिंग

आधुनिक कैमरे लगे हैं इस वाहन पर, बड़ी सभा-रैलियों की होगी विडियो रिकार्डिंग

harinath dwivedi | Publish: Oct, 08 2018 11:07:25 PM (IST) | Updated: Oct, 08 2018 11:07:26 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

- सीसीटीवी सर्विलांस वाहन का होगा इस बार उपयोग
-आधा किमी दूर तक की भी लाइव रिकार्डिंग

नीमच. इस बार विधानसभा चुनाव में हर गतिविधि पर नजर रखने के लिए आधुनिक संसाधनों का उपयोग किया जा रहा है। पहली बार बड़ी सभाओं, रैलियों और रोड शो की लाइव विडियो रिकार्डिंग के लिए आधुनिक संसाधनों से लैस वाहन नीमच पुलिस उपयोग करने जा रही है। भोपाल मुख्यालय से तैयार हुआ यह वाहन सोमवार को नीमच पहुंचा है। इस खास वाहन की कई विशेषताएं हैं।
डोम कैमरे और सौलर रिजार्च सिस्टम-
भोपाल पुलिस मुख्यालय से तैयार होकर आए सीसीटीवी सर्विलांस वाहन पर हाई क्वालिटी के चार डोम कैमरे लगे हैं। जो ३६० डिग्री की किसी भी गतिविधि को साफ रिकार्ड कर सकते हैं। इन कैमरों के नीचे पॉवर गन लगी है जो आधा किमी से भी अधिक दूरी तक की तस्वीरें कैद करने के लिए कैमरे को ऊंचाई पर ले जा सकती है। सभा मंच पर नेताओं के भाषण, भीड़ अथवा रैलियों में होने वाली हर गतिविधि इस सिस्टम से रिकार्ड की जा सकेगी। वाहन में ही एलसीडी लगी है भीतर बैठे ऑपरेटर सिस्टम के जरिए कैमरे को किसी भी दिशा में ऑपरेट कर सकते हैं। एलसीडी पर विडियो उन्हें तो दिखाई देगा ही साथ ही इसकी रिकार्डिंग भी स्टोर होगी। वाहन में ही सिम सिस्टम है जिससे इस सर्विलांस सिस्टम को पुलिस के आधुनिक सीसीटीवी कंट्रोल रूम से जोड़ा जा सकेगा। जिसके जरिए अधिकारी भी सभा की लाइव मॉनिटरिंग कर सकेंगे।
आचार संहिता के उल्लंघन पर खास निगरानी-
इन सीसीटीवी सर्विलांस वाहन के जरिए विशेषतौर पर उन स्थितियों की रिकार्डिंग उपयोगी होगी जिसमें सभा या रैलियों में आचार संहिता का उल्लंघन होने की संभावना रहती है। चुनाव के दौरान बड़े नेताओं की सभाओं, रोड़ शो, रैलियों की रिकार्डिंग करने के लिए अब तक पुलिस के जवानों को कैमरे लेकर दौडऩा पड़ता था। इस वाहन को कहीं पर भी खड़ाकर रैली, सभा, या रोड़ शो की चारों तरफ के विडियो फुटेज लिए जा सकेंगे। इसकी रिकार्डिंग समय-समय पर निर्वाचन आयोग को भी उपलब्ध कराई जाएगी।
-
पुलिस को आधुनिक डोम कैमरों से सुसज्जित सीसीटीवी सर्विलांस वाहन मिला है। इस वाहन पर लगे कैमरों और सिस्टम के जरिए बड़ी रैलियों, सभाओं या रोड़ शो की हर गतिविधि की रिकार्डिंग की जा सकेगी। कंट्रोल रूम में बैठकर भी इन गतिविधियों की मॉनिटरिंग की जा सकेगी। यह सिस्टम काफी कारगर है। पहली बार चुनाव में इस तकनीक का उपयोग किया जा रहा है। - तुषारकांत विद्यार्थी, एसपी नीमच

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned