scriptLife imprisonment for murder accused VP Singh | हत्या करने वाले आरोपी वीपी सिंह को आजीवन कारावास | Patrika News

हत्या करने वाले आरोपी वीपी सिंह को आजीवन कारावास

हत्या करने वाले आरोपी वीपी सिंह को आजीवन कारावास

नीमच

Updated: April 30, 2022 07:57:44 pm

नीमच। प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश सोनल चैरसिया द्वारा एक अन्य आरोपी के साथ मिलकर गोली मारकर हत्या व मारपीट करने वाले आरोपी युवक को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

एडीपीओ विवेक सोमानी द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि फरियादी फिरोज द्वारा थाना नीमच सिटी में रिपोर्ट लिखाई गई की दिनांक 16 मई 2020 को शाम के लगभग 7 बजे माधवगंज मोहल्ला, नीमचसिटी स्थित उसके घर की छत पर वह व उसके परिवार के सदस्य थे। तभी उनके मकान के पीछे रहने वाला एक आरोपी विक्रमसिंह उर्फ वीपी. सिंह महिलाओं के देखकर ईशारे करने लगा तो फरियादी ने उसे ऐसा करने से मना किया। इसके बाद आरोपी विक्रमसिंह उर्फ वी.पी. सिंह, उसके पिता विजयसिंह व धर्मवीर सिंह उर्फ डी.पी. सिंह उसके घर के बाहर पिस्तौल, डंडा व तलवार लेकर आये, जिस कारण वहा पर कालू उर्फ मोहम्मद हुसैन, मो. आशिफ व मो. शाबीर आकर उनको समझाने लगे तो आरोपीगण द्वारा एक मत होकर उनके साथ मारपीट की गई तथा विक्रमसिंह ने पिस्तौल से फायर कर मो. आसिफ के पेट में गोली मार दी, जिस कारण वह गिर गया। इसके बाद आरोपीगण वहां से चले गये। मोहम्मद आसिफ को इलाज के लिए सरकारी अस्पताल नीमच ले गये, जहां पर ईलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। फरियादी फिरोज कुरैशी द्वारा बताये गये उक्त घटनाक्रम के आधार पर तीनों आरोपीगण के विरूद्ध पुलिस थाना नीमच सिटी में अपराध क्रमांक 236/20, धारा 302/34, 323 भारतीय दण्ड संहिता, 1860 के अंतर्गत प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीबद्ध की गई।पुलिस नीमच सिटी द्वारा पुलिस अधीक्षक महोदय के मार्गदर्शन में विवेचना करते हुए आरोपीगण धर्मवीरसिंह उर्फ डी.पी. सिंह चैहान व विजयसिंह चैहान को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से घटना में प्रयोग हथियारों को जप्त किया गया। आरोपी विक्रमसिंह उर्फ वी.पी. सिंह के घटना के बाद से ही फरार रहने से उसके संबंध में अनुसंधान जारी रखते हुए शेष इन दोनों आरोपीगण के विरूद्ध आवश्यक अनुसंधान पूर्ण कर अभियोग पत्र न्यायायल में प्रस्तुत किया गया। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए शासन द्वारा इसे जघन्य एवं सनसनीखेज प्रकरण के रूप में चिन्हित किया गया। अभियोजन द्वारा न्यायालय के समक्ष विचारण के दौरान फरियादी एवं घटना स्थल पर उपस्थित सभी महत्वपूर्ण साक्षीगण के बयान कराए गए। साक्षीगणों द्वारा उनकी साक्ष्य में विजयसिंह चौहान द्वारा आरोपी विक्रमसिंह उर्फ वी.पी. सिहं के साथ मिलकर गोली मारकर हत्या करने व मारपीट करने के अपराध किये जाने के संबंध में बयान दिये गए। किंतू धर्मवीर सिंह उर्फ डी.पी. सिंह के द्वारा अपराध किये जाने के संबंध में विपरित बयान दिये गये। अभिलेख पर आई साक्ष्य के आधार पर माननीय न्यायालय द्वारा आरोपी विजय सिंह चैहान को समान्य आशय में आरोपी विक्रमसिंह उर्फ वी.पी. सिंह के साथ मिलकर हत्या व मारपीट करने के अपराध का दोषी पाकर धारा 302/34, 323 भारतीय दण्ड संहिता, 1860 के अंतर्गत आजीवन कारावास एवं कुल 6000 रूपये जुर्माने से दण्डित किया गया। घटना चश्मदीद साक्षियों के बयानों के आधार पर आरोपी धर्मवीर सिंह उर्फ डी.पी. सिंह को संदेह का लाभ प्रदान कर दोषमुक्त किया गया। माननीय न्यायालय द्वारा जुर्माने की रकम 6000 रूपये में से 3000 रूपये मृतक के पिता मो. रफीक एवं 1500-1500 रूपये आहत यास्मीन व फिरोज को प्रतिकर के रूप में प्रदान किये जाने का आदेश भी पारित किया। न्यायालय में शासन की ओर से पैरवी विवेक सोमानी, एडीपीओ द्वारा की गई।

court news
court news

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बड़ी खबरें

वाराणसी कोर्ट में आज ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर अहम बहस, जानें किन मुद्दों पर हो सकता है फैसलाकांग्रेस नेता कार्ति चिंदबरम के करीबी को CBI ने किया गिरफ्तार, कल कई ठिकानों पर हुई थी छापेमारीभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...योगी की राह पर दक्षिण के बोम्मई, इस कानून को लागू करने वाला नौवां राज्य बना कर्नाटकSri Lanka Crisis: राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे की बची कुर्सी, अविश्वास प्रस्ताव हुआ खारिज900 छक्के, IPL 2022 में रचा गया इतिहास, बल्लेबाजों ने 15वें सीजन में बनाया ऐतिहासिक रिकॉर्डIPL 2022 : 65वें मैच के बाद हुआ बड़ा उलटफेर ऑरेंज कैप पर बटलर नंबर- 1 पर कायम, पर्पल कैप में उमरान मलिक ने लगाई छलांग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.