scriptLost candidates of heavy elections on Congress District President | कांग्रेस जिलाध्यक्ष पर भारी पड़ रहे विधानसभा चुनाव के हारे प्रत्याशी | Patrika News

कांग्रेस जिलाध्यक्ष पर भारी पड़ रहे विधानसभा चुनाव के हारे प्रत्याशी

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को पत्र लिख लगाई गुहार

नीमच

Published: June 21, 2022 02:24:15 am

मुकेश सहारिया, नीमच. जिले के 12 नगरीय निकाय के भाजपा प्रत्याशियों के नामों की घोषणा के बाद से घमासान मचा है। कई वरिष्ठ नेताओं ने बगावत कर दी है। खुलकर अधिकृत प्रत्याशियों के सामने नामांकन पत्र दाखिल कर दिए हैं। अब कांग्रेस में भी घमासान की सूचना सामने आई है। हालात यह हो गए हैं कि जिला कांग्रेस अध्यक्ष को प्रत्याशी चयन में हुए हस्तक्षेप को लेकर प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से गुहार लगाना पड़ी।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष पर भारी पड़ रहे विधानसभा चुनाव के हारे प्रत्याशी
नगरीय निकाय
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष तक पहुंचा मामला
नगरीय निकाय चुनाव को लेकर दोनों प्रमुख राजनीति पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बीच घमासान मचा हुआ है। भाजपा में तो खुलकर बगावत के सुर सुनाई दे रहे हैं। प्रत्याशी चयन को लेकर लेकर कुछ वार्डों के रहवासी भी विरोध में उतर आए हैं। इसकी बानगी भी शुक्रवार को दिखाई दी। ऐसे ही हालात कांग्रेस में बनते दिख रहे हैं। यही कारण है कि 18 जून नामांकन पत्र दाखिल करने के अंतिम दिन भी कांग्रेस ने अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा नहीं की। चौकाने वाली बात तो यह है कि पार्षदों के नाम तय करने में कांग्रेस जिलाध्यक्ष स्वयं का लाचार महसूस कर रहे हैं। इसका प्रमाण उनके द्वारा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को पत्र लिखने से मिलता है। पत्र में उन्होंने स्पष्ट रूप से जावद विधानसभा के 7 नगरीय निकायों में प्रत्याशियों के चयन में उनके सुझावों को पूरी तरह से नजरअंदाज किए जाने का जिक्र किया गया है। पत्र में बकायदा जावद से विधानसभा चुनाव हारे प्रत्याशी के नाम का जिक्र करते हुए लिखा गया है कि उन्होंने सभी नगरीय निकायों के 105 प्रत्याशियों नाम तय किए हैं। करीब 35 पर उनकी ओर से सहमति बनी थी बाद में उन्हें भी तवज्जों नहीं दी गई। कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने प्रदेश अध्यक्ष को पत्र लिखकर अपनी व्यथा तो सुनाई, लेकिन उन्हें कोई संतुष्टिपूर्ण जवाब अब तक नहीं मिला। दिग्गी और नटराजन समर्थकों को नहीं मिली तवज्जो दूसरी ओर सूत्र बात रहे हैं कि कांग्रेस की अधिकृत सूची शनिवार को नीमच पहुंच गई है, लेकिन कमलनाथ समर्थकों के पास ही है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजसिंह और पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन के समर्थकों को इसकी भनक तक नहीं लगने दी गई है। एक दिग्गी समर्थन ने तो बघाना क्षेत्र से अपना नाम प्रस्तावित करने के लिए दिग्गी राजा से गुहार लगाई थी उसे भी दो टूक मना कर दिया गया। कांग्रस की एक कद्दावर महिला नेत्री को भाजपा के सामने सरेंडर करने के लिए कांग्रेस नेता ही जोर लगा रहे हैं। इसमें भाजपा के नेता भी सहयोग कर रहे हैं। आशय यह कि महिला नेत्री को अपना नाम वापस लेने के लिए भाजपा और कांग्रेस मिलकर जोर आजमाइश कर रहे हैं। वहीं महिला नेत्री अपने फैसले पर अडिग हैं। उन्हें हाल ही में बड़ी जिम्मेदारी से मुक्त किया गया है। हालात यह बन गए हैं कि कांग्रेस के ब्लॉक स्तर के पदाधिकारी तक पार्षद पद के टिकट के लिए लाचार हैं। उनकी तक की कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। इस बात की पुष्टि कांग्र्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष रहे सुरेंद्र सेठी (वर्तमान में सिंधिया खेमे में) ने की है। उन्होंने बताया कि मुझे कांग्रेस के ही मेरे पुष्ट सूत्रों ने बताया है कि कांग्रेस पार्षदों की सूची जारी हो चुकी है। इसमें दिग्विजय ङ्क्षसह और मीनाक्षी नटराजन के समर्थकों को बिलकुल महत्व नहीं दिया या है। नीमच के पूर्व जनपद अध्यक्ष, जावद से पराजित प्रत्याशी और उनके कट्टर समर्थक मिलकर नगरीय निकाय चुनाव की चौसर बिछाने में लगे हैं। इसमें जोड़-तोड़ की गणित भी चल रही है।

पार्टी के भीतर का मामला है
प्रत्याशियों के चयन को लेकर जो भी हालात निर्मित हुए हैं यह पार्टी के अंदर का मामला है। हम आपस में निपटा लेंगे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को पत्र लिखाना भी पार्टी के भीतर का मामला है। पत्र सार्वजनिक कैसे हुआ मुझे नहीं पता।
- अजीत कांठेड़, जिलाध्यक्ष कांग्रेस

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra Cabinet Expansion: कल 15 मंत्री लेंगे शपथ, देवेंद्र फडणवीस को मिलेगा गृह विभाग? जानें शिंदे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के नामबिहारः कांग्रेस ने बुलाई विधायकों की बैठक, नीतीश कुमार के साथ जाने पर बन सकती है सहमति!Google ने दिल्ली हाई कोर्ट को दी जानकारी, हटाए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और उनकी बेटी के खिलाफ पोस्ट वेब लिंक'इनकी पुरानी आदत है पूरे सिस्टम पर हमला करने की', कपिल सिब्बल के बयान पर बोले कानून मंत्री किरेण रिजिजूअरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेAmit Shah Visit To Odisha: अमित शाह बोले- ओडिशा में अच्छे दिन अनुभव कर रहे लोग, सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी कीAsia Cup 2022 के लिए टीम इंडिया का हुआ ऐलान, विराट कोहली-केएल राहुल की हुई वापसी'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.