scriptManipulation politics started in BJP-Congress for city presidents | नगर पालिका और परिषद अध्यक्षों के लिए भाजपा-कांग्रेस में जोड़तोड़ की राजनीति शुरू, पार्षदों को भेजा गोवा | Patrika News

नगर पालिका और परिषद अध्यक्षों के लिए भाजपा-कांग्रेस में जोड़तोड़ की राजनीति शुरू, पार्षदों को भेजा गोवा

प्रदेश में नगरपालिकाओं और नगर परिषदों के अध्यक्ष और उपाध्यक्षों के चुनाव की तारीखें फायनल होते ही भाजपा और कांगे्रस में जोड़तोड़ की राजनीति शुरू हो गई है. यहां कुछ पार्षदों को सपरिवार गोवा भेज दिया है।

नीमच

Published: August 01, 2022 03:09:52 pm

नीमच. प्रदेश में नगरपालिकाओं और नगर परिषदों के अध्यक्ष और उपाध्यक्षों के चुनाव की तारीखें फायनल होते ही भाजपा और कांगे्रस में जोड़तोड़ की राजनीति शुरू हो गई है, जहां पूर्ण बहुमत है, वहां तो कोई बात नहीं लेकिन जहां निर्दलीय व अन्य दलों के पार्षदों के बहुमत से सरकार बनेगी, वहां भाजपा और कांग्रेस हर प्रकार से अपनी पार्टी की सरकार बनाने में जुट गई है। इसके लिए वे किसी भी हद तक गुजरने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं, ऐसे ही एक मामला नीमच जिले में आया है, यहां कुछ पार्षदों को सपरिवार गोवा भेज दिया है।

नगर पालिका और परिषद अध्यक्षों के लिए भाजपा-कांग्रेस में जोड़तोड़ की राजनीति शुरू, पार्षदों को भेजा गोवा
नगर पालिका और परिषद अध्यक्षों के लिए भाजपा-कांग्रेस में जोड़तोड़ की राजनीति शुरू, पार्षदों को भेजा गोवा

नीमच जिले में 11 नगर परिषद और एक नगरपालिका अध्यक्ष व उपाध्यक्ष चुनाव की तारीख तय हो गई है। 12 में से 11 परिषदों में भाजपा का अध्यक्ष बनना तय है। नगर परिषद रामपुरा में फिलहाल कांग्रेस का पलड़ा भारी दिख रहा है। जैसे-जैसे अध्यक्ष के चुनाव की तारीख नजदीक आएगी वैसे-वैसे वहां समीकरण बन और बिगड़ भी सकते हैं।

नयागांव में बाड़ाबंदी में सफल रहे मंत्री सखलेचा

जावद विधानसभा की 7 नगर परिषदों में से 6 में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिला है। नयागांव नगर परिषद में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत था, लेकिन कांग्रेस की भीतरी गुटबाजी के चलते ’रायता ढुल’ गया। इसका लाभ भाजपा के राजनीतिक जानकारों ने तुरंत उठाया। अध्यक्ष का चुनाव होने से पहले सभी कयासों को विराम लगाते हुए कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने बाजी भाजपा के हाथ करते दिखे हैं। उन्होंने नयागांव का पूरा राजनीतिक समीकरण गड़बड़ा दिया है। नगर परिषद में भाजपा के 4, कांगे्रस के 7, बीएसपी का एक और निर्दलीय 3 इस प्रकार कुल 15 पार्षद हैं। इस मान से कांग्रेस पार्टी का नपाध्यक्ष बनना तय लग रहा था। इसके बाद भी यहां कांग्रेस के दो दिग्गज नेताओं (विधानसभा चुनाव लड़ चुके) सत्यनारायण पार्टीदार और राजकुमार अहीर के बीच तालमेल का स्पष्ट अभाव नजर आया। एक खेमा अपना अध्यक्ष बनाना चाह रहा है तो दूसरा अपना। इसका परिणाम पिछले दिनों काफी घातक रूप से सामने भी आ चुका है। जहां अहीर समर्थक पार्षद पर गंभीर हमला हुआ। कांग्रेस की इस आपसी फूट का लाभ भाजपा उठाते दिख रही है। मंत्री सखलेचा ने बड़ी चतुराई से तीन निर्दलीय और कांगे्रस एक कांग्रेस पार्षद को अपने पाले में कर लिया। कांग्रेस पार्षद मुकेश जाट के पाला बदल लेने पर कांग्रेस संगठन ने उन्हें बाहर का रास्ता भी दिखा दिया है। ऐसे में जाट अध्यक्ष के लिए होने वाले मतदान में कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने से पहले दस बार अवश्य सोचेंगे। तीन निर्दलीयों को भाजपा के सत्ता में होने का लाभ अवश्य मिलेगा। वैसे भी प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा का तीनों के कंधों पर हाथ है। ऐसे में भाजपा से बगावत करेंगे इसकी आशंका काफी कम है। इस मान से नयागांव नगर परिषद अध्यक्ष की कुर्सी जो भाजपा के हाथ से खिसक ही गई थी वो अब फिर से पाले में आती दिख रही है।

पार्षद सपरिवार राजनीतिक छुट्टी गोवा गए

नीमच जिले की एक अन्य परिषद है रामपुरा यहां कांग्रेस और भाजपा के बीच अध्यक्ष को लेकर कांटे का मुकाबला है। यशवंत करेल कांग्रेस की ओर से चाणक्य की भूमिका में दिख रहे हैं। दूसरी ओर विधायक माधव मारू ने कमान संभाल रखी है। विधायक ने अपने ओर से बाड़ाबंदी प्रारंभ भी कर दी है। उन्होंने नाराज होकर और भाजपा से बगावत कर पार्षद का चुनाव लडऩे वाले दोनों निर्दलियों को मना लिया है। वार्ड क्रमांक 4 से सीमा जितेंद्र जागीरदार और वार्ड क्रमांक 5 से मीनाक्षी दीपेश सारू अब भाजपा खेमे में लौट आए हैं। सूत्र बताते हैं कि पार्टी से बगावत करने पर उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था, लेकिन अब सब सामान्य हो गया है। उनकी ’घर वापसी’ को हरी झंडी दिखा दी गई है। इन दिनों पार्षद सपरिवार राजनीतिक छुट्टी गोवा गए हुए हैं। इससे राजनीतिक गलियारों में यह संदेश गया है कि वे अब यशवंत करेल के समर्थन में फिर से भाजपा संगठन से कम से कम बगावत तो नहीं करेंगे। निर्दलीय पार्षदों के नजदीकी भी इस बात को खुलकर स्वीकार भी करने लगे हैं। इसके बाद भी भाजपा को अपना अध्यक्ष बनाने के लिए एक पार्षद का और समर्थन लेना पड़ेगा। यहां से पूर्व नपाध्यक्ष यशवंत करेल की शानदार इंट्री होती दिख रही है। कांग्रेस के 6 में से स्वयं यशवंत करेल, उनकी पत्नी और एक रिश्तेदार तो भाजपा को वोट उन परिस्थितियों में वोट देने से रहे जब वे स्वयं अध्यक्ष का चुनाव लड़ें। कांग्रेस के सामने दूसरा विकल्प भी है, लेकिन उन्हें मैदान में उतारने से कांर्ग्रेस को लाभ होता नहीं दिख रहा। ऐसे में रामपुरा में नपाध्यक्ष की कुर्सी दोनों प्रमुख दलों के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गई। यहां एसडीपीआइ के दो पार्षद भी हैं। उनकी भूमिका अब तक कांग्रेस के पक्ष में दिख रही है, लेकिन मनासा विधायक यहां भांजी मार सकते हैं। वे वर्षों से क्षेत्र की राजनीति में सक्रिय है। कांगे्रस संगठन के दिग्गज अब तक मैदान में दिखाई नहीं दिए हैं। ऐसे में सत्ता और भाजपा संगठन मिलकर एसडीपीआइ पार्षदों को अपने समर्थन में उतारने का हर संभव प्रयास करेंगे। खैर अध्यक्ष के भाग्य का फैसला 7 अगस्त को होना है, तब तक भाजपा के दिग्गज नेता एक वोट का जुगाड़ तो अवश्य कर सकतेे हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

सुप्रीम कोर्ट ने Supertech Twin Towers गिराने के खिलाफ याचिका की खारिज, 5 लाख रुपए का लगाया जुर्मानाSanjay Raut Arrest: संजय राउत की गिरफ्तारी से आक्रामक हुई शिवसेना, महाराष्ट्र से लेकर दिल्ली तक कर रही जोरदार विरोधSanjay Raut Arrested: विधायक रवि राणा का सनसनीखेज आरोप, कहा- बड़ी डील हुई है, उद्धव ठाकरे पर भी हो कार्रवाईआज संसद में आ सकता है राजस्थान, एमपी और छत्तीसगढ़ के लिए अहम बिल: वन्यजीव संरक्षण कानून उल्लंघन पर होगा एक लाख तक जुर्मानाबंगाल के कूचबिहार में बड़ा हादसा, करंट लगने से 10 लोगों की मौतLPG Cylinder Price : एलपीजी सिलेंडर के दाम में गिरावट, जानें कितना हुआ सस्तापिता की सिल्वर जुबली के लिए सरप्राइज गिफ्ट तैयार कर रही थी बेटी... तिरंगे में लिपटे आए पिता... शॉक हो गए सबCWG 2022 Day 4 Live Updates: भारत के अजय सिंह 81 किलो वर्ग वेटलिफ्टिंग के फाइनल में पहुंचे, मैच स्टार्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.