MP ELECTION 2018 नीमच में राहुल गांधी के लिए यह क्या कह गईं स्मृति ईरानी

जनसभा को संबंधित करते क्या कहा स्मृति ईरानी ने यहां पढ़ें पूरी खबर

By: harinath dwivedi

Updated: 25 Nov 2018, 10:40 PM IST

नीमच. कांग्रेस नेता सत्ता हासिल करने के लिए काफी निचले स्तर पर गिर गए हैं। सत्ता हासिल करने के लिए ही अब कांग्रेस नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां को गाली दे रहे हैं। छत्तीसगढ़ में नक्सलियों को कांग्रेसी पुण्यआत्मा और क्रांतिकारी मानते हैं। ऐसे में जनता उन्हें कैसे प्रदेश की सत्ता सौंप सकती है।

यह बात केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कही। वे नीमच विधानसभा में जीरन दिलीपसिंह परिहार और जावद विधानसभा में सिंगोली में ओमप्रकाश सखलेचा के समर्थन में जनसभा को संबोधित कर रहीं थी। केंद्रीय मंत्री ईरानी के उद्बोधन से पहले संचालन कर रहे भाजपा दक्षिण मंडल अध्यक्ष लक्ष्मणसिंह भाटी ने कहा कि शनिवार को इसी स्थान पर उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राजबब्बर ने सभा को संबोधित किया था। उनके जाने के बाद कार्यकर्ताओं ने इस स्थल को पानी से धोया है। इसके बाद यहां सभा की तैयारी की गई है। इस संबंध में ईरानी ने कहा कि कार्यकर्ताओं की सभा स्थल को पानी से धोने के पीछे क्या पीड़ा थी इस बारे में तो मैं कुछ नहीं कहूंगी, लेकिन यह बात सच है कि जिस पार्टी का अब तक प्रदेश का नेता ही तय नहीं हो सका वो सत्ता हासिल करने की बात कर रहे हैं। यहां कार्यकर्ता कह रहे थे कि जिनकी सरकार बनना ही नहीं है उन्हें नेता तय करने की आवश्यकता कहा है। कांग्रेस पार्टी देश के टुकड़े करने की बात कहती है। वहीं भाजपा देश को जोडऩे की बात करती है। यह बात जनता को अच्छी तरह से समझ में आ गई है। किसान का दर्द कांग्रेस क्या जाने। कांगे्रस नेता राहुल गांधी मशीन में आलू डालने के बाद दूसरी ओर से सोना निकलने का इंतजार करते हैं। ऐसे नेता किसानों की पीड़ा और परेशानियों को कैसे समझ सकते हैं। प्रदेश में शिवराजसिंह चौहान ने किसानों की पीड़ा को समझा। कांग्रेस के दिग्विजयसिंह शासनकाल में किसानों को 18 प्रतिशत ब्याज पर ऋण मिलता था। आज जीरो प्रतिशत पर दिया जा रहा है। महिला कार्यकर्ताओं ने मुझसे कहा कि हमने आपको तुलसी के रूप में देखा है। मैंने उनसे पूछा यहां कांग्रेस शासन में तो बिजली थी नहीं। मोमबत्ती जलती थी, कब देख लिया। उनका कहना था कि प्रदेश में शिवराज सरकार आने के बाद देखा था। उन्होंने हमें मोमबत्ती से छुटकारा दिलाया था। कांग्रेस शासनकाल में गरीब को गाली सुनने की आदत पड़ गई थी। नरेंद्र मोदी को भी खूब गालियां दी गई थी। इसी के दम पर वे आज इस मुकाम पर पहुंचे है। प्रधानमंत्री को गरीबी क्या होती है इसका अहसास है। उन्हीं के प्रयासों से वर्ष 2022 तक देश के प्रत्येक गरीब परिवार के सिर पर पक्की छत होगी। किसी के पास कच्चा मकान नहीं होगा। सिंगोली में जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अमेठी में इंदिरा गांधी से लेकर राहुल गांधी सत्ता में रहे। वहां की जनता को मूलभूत सुविधाएं भी नहीं दिला पाए। पिछले 50 वर्षों में अमेठी में ट्रेन नहीं ला पाए। यह काम अब नरेंद्र मोदी ने करके दिखाया है। अमेठी की जनता को ट्रेन की सौगात भाजपा ने दी है। सिंगोली में जनसभा को संबोधित करते समय केंद्रीय मंत्री प्रदेश की उपलब्धियों को गिनाने की बजाय केंद्र सरकार की योजनाओं को ही गिनाती रहीं। सिंगोली में सभा स्थल पर जितनी भीड़ नहीं थी इससे कहीं अधिक भीड़ वहां बने हेलीपेड पर थी। सभा के दौरान भी हेलीपेड पर भीड़ जुटी रही। ऐसे ही हाल जीरन में भी थे। वहां भी अपेक्षा से कम भीड़ थी। अव्यवस्था को लेकर केंद्रीय मंत्री ईरानी ने अपनी नाराजगी भी जाहिर की। जीरन में सभा का समय 1.35 बजे था, लेकिन केंद्रीय मंत्री 2.23 बजे सभा स्थल पर पहुंची। यहां उन्होंने 2.32 बजे भाषण शुरू किया और 12.43 बजे भाषण समाप्त कर दिया। वे मात्र 11 मिनट ही बोलीं। कार्यकर्ताओं द्वारा स्मृति ईरानी के आगमन पर पटाखे फोड़े जाने पर मौके पर मौजूद जिला निर्वाचन आयोग के प्रतिनिधि ने आपत्ति व्यक्त की। जीरन में मंच पर जिला पंचायत अध्यक्ष अवंतिका जाट, नीमच विधानसभा प्रभारी राकेश भारद्वाज, सांसद सुधीर गुप्ता, गुजरात से आए सांसद व विधायक सही बड़ी संख्या में पदाधिकारी मौजूद थे।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned