गुटबाजी और बाहरी प्रत्याशी को लेकर हो सकती है माथापच्ची

गुटबाजी और बाहरी प्रत्याशी को लेकर हो सकती है माथापच्ची

harinath dwivedi | Publish: Sep, 07 2018 08:01:01 AM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India


पूर्व मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र में दोनों दलों के लिए आसान नहीं उम्मीदवार का चयन

नीमच. जिले का मनासा विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 328 प्रदेश के विधानसभा चुनाव में अपनी अलग पहचान रखता है। यह क्षेत्र पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय सुंदरलाल पटवा के गृह क्षेत्र के रूप में जाना जाता है। यहां कांग्रेस की पहचान कद्दावर नेता, पूर्व सांसद और ख्यात साहित्यकार बालकवि बैरागी से भी है। इस बार दोनों प्रमुख राजनीतिक दलों के लिए प्रत्याशी चयन चुनौती भरा होगा। गुटबाजी से परे जाकर टिकट चयन ही इस बार हार जीत का मार्ग तय कर सकता है।

यह था पिछले चुनाव का सिनेरियो
विधानसभा चुनाव 2013 में भाजपा के कैलाश चावला ने कांग्रेस के विजेंद्रसिंह मालाहेड़ा को 14 हजार से अधिक मतों से पराजित किया था। इससे पहले 2008 के चुनाव में मालाहेड़ा ने जीत दर्ज की थी। भाजपा फिर से अपनी जीत दर्ज कर अधिक वोट निकालने की जुगत में हर संभव प्रयास कर रही है। लेकिन उम्मीदवारी को लेकर यहां पसोपेश की स्थिति बन रही है। कांग्रेस में तो फिलहाल किसी एक के नाम पर सही निशान लगाना संभव नहीं है। इस बार आम आदमी पार्टी भी यहां से ताल ठोक रही हैं।
पिछले विधानसभा चुनाव में उम्मीदवारों को मिले मत
कैलाश चावला 55852
विजेंद्रसिंह मालाहेड़ा 41824
जीत का अंतर 14028
भाजपा में ये हैं दावेदार
कैलाश चावला वर्तमान विधायक, पूर्व मंत्री, पिछले 15 वर्षों में दो बार विधायक रहे। सुरेंद्र पटवा पर्यटन मंत्री, भोजपुर विधायक, स्वर्गीय सुंदरलाल पटवा की राजनीतिक विरासत के उत्तराधिकारी। बंशीलाल गुर्जर वर्तमान मंडी अध्यक्ष, पूर्व जनपद अध्यक्ष, वकील, गुर्जर समाज में खासा वर्चस्व। उज्जवल पटवा जिला मंत्री भाजपा, ग्रामीण क्षेत्र में वर्चस्व की कोशिश। यशवंत करेल पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष, संगठन में पकड़। यशवंत सोनी वर्तमान नपाध्यक्ष, संघ से जुड़े हैं। गंगाराम कछावा जनपद अध्यक्ष, बंजारा समाज में वर्चस्व, बंजारा बाहुल्य क्षेत्र। राजेश लढ़ा जिला उपाध्यक्ष भाजपा, पूर्व विधायक स्वर्गीय राधेश्याम लढ़ा के पुत्र, पटवा परिवार से नजदीकी, युवाओं में खासी पैठ। जुगल क्षोत्रिय ग्राम भारती प्रांत प्रमुख, संघ से जुड़े हैं। माधव मारू पूर्व जिलापंचायत उपाध्यक्ष, वर्तमान में इनकी पत्नी जिला पंचायत सदस्य, पहले भी दो बार विधानसभा चुनाव लड़ चुके।
कांग्रेस कीओर से ये हैं दावेदार
विजेंद्रसिंह मालाहेड़ा पूर्व विधायक, युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष रहे, जिला कांग्रेस महामंत्री, कई वर्षों तक निर्विरोध सरपंच। सिंधिया खेमे के झंडाबरदार। मंगेश संघई जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष, पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन के करीबी, पदयात्राओं से पैठ। शशि कसेरा पूर्व नपाध्यक्ष, पार्षद, पार्टी महिलाओं को तवज्जों देती है तो यह नाम आ सकता है। नरेंद्र नाहटा पूर्व उद्योग मंत्री व वर्तमान में कांग्रेस उद्योग एवं व्यापार प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष। मुन्ना बैरागी युवक कांग्रेस के अविभाजीत मंदसौर-नीमच जिला अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, पूर्व सांसद बालकवि बैरागी के पुत्र। सम्राट दीक्षित वकालात, पूर्व पार्षद, पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष, ग्रामीण क्षेत्र में पकड़। चंद्रशेखर पालीवाल पूर्व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष मनासा, संगठन में बरसों से सक्रिय, ग्रामीण क्षेत्र में कार्यकर्ताओं से जुड़ाव। मनोरमा मूंदड़ा पूर्व महिला कांग्रेस जिला अध्यक्ष, ब्लाक अध्यक्ष। ओम रावत पूर्व जिला किसान कांग्रेस अध्यक्ष, कृषि व वकालात, कांग्रेस के आंदोलनों में सक्रिय भागीदारी।
'आप' ने कौर को बनाया प्रत्याशी
मध्यप्रदेश में पहली बार चुनाव मैदान में उतरी आम आदमी पार्टी ने मनासा सीट से राजिंदर कौर को अपना अधिकृत प्रत्याशी घोषित कर दिया है। कौर ने मनासा में अपना कार्यालय भी प्रारंभ कर दिया है।
इनका कहना है
विधानसभा चुनाव की तैयारी में कार्यकर्ता जुट गए हैं। एक एक मतदाता तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया है। अधिक से अधिक नए मतदाताओं के नाम सूची में जुड़वाए जा रहे हैं। इस बार जिले में कांग्रेस का ही परचम लहराएगा।
- अजीत कांठेड़, जिलाध्यक्ष कांग्रेस कमेटी नीमच
इनका कहना है
'बूथ जीता तो चुनाव जीता' की तर्ज पर तैयारी चल रही है। पन्ना प्रमुखों के सम्मेलन आयोजित किए जा रहे हैं। अगले महीने वर्कशॉप आयोजित कर कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को चुनाव के दायित्व सौंपे जाएंगे।
- सुनील यजुर्वेदी, मनासा विधानसभा प्रभारी

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned