रोजगार की आस में लाखों गवां बैठे

रोजगार की आस में लाखों गवां बैठे

harinath dwivedi | Publish: Jul, 13 2018 11:17:37 PM (IST) | Updated: Jul, 13 2018 11:17:38 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

- साढ़े सात लाख हड़पने वाले ठग हुए गिरफ्तार
- जमानत हुई खारिज

नीमच. मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के लोन दिलाने के नाम पर गरीब परिवारों के साथ लाखों रुपए की धोखाधड़ी करने वाले दो आरोपियों की जमानत न्यायालय द्वारा खारिज कर दी गई है।
जिला लोक अभियोजन अधिकारी आरआर चौधरी ने बताया कि 3१ जुलाई को फरियादिया अन्तुलिया ईसाइ निवासी होली चौक बघाना, कलेक्टर कार्यालयए में मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत लोन दिलाने की मांग करने पहुंची थी, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत लोन दिलाने की मांग करने पहुंची थी जहां पर उसे जगदीश रावत निवासी ग्राम जावी ने महिला को ईश्वरसिंह राजपूत और मथुरालाल रावत से मिलवाया और कहा कि यही लोन पास करते हैं। दोनो आरोपियों ने फरियादिया ३-४ लाख रुपए का लोन दिलवाने के नाम पर ३५ हजार रुपए मांगे और यह भी कहा कि अन्य को भी लोन चाहिए तो दिलवा देंगे। महिला ने उन लोगों को ३५ हजार रुपए दे दिया और अन्य ४ पुरूषों और १६ महिलाओं से भी आरोपियों ने ३५-३५ हजार रुपए लोन दिलाने के नाम पर ले लिए। इस तरह २१ जरूरतमंद महिला पुरूषों से आरोपियों ने ७ लाख ३५ हजार रुपए ऐंठ लिये और लगभग 1 वर्ष बीत जाने के बाद भी लोन नहीं दिलाये। इस पर फरियादिया ने पुलिस थाने पर शिकायत दर्ज कराई। आरोपी ईश्वरसिंह और मथुरालाल को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों द्वारा मुख्य न्यायिक दण्डाधिकारी वंदन मेहता के समक्ष जमानत हेतुु आवेदन प्रस्तुत किया गया। जिला लोक अभियोजन अधिकारी चौधरी ने आरोपियो के जमानत आवेदन का विरोध करते हुए कहा आरोपीगण द्वारा गरीब तबके के भोलेभाले जरूरतमंद महिला-पुरूषों की मेहनत की कमाई ऐंठी गई है। आरोपियों से आरोपियों से ठगी के रुपए भी जब्त किए जाने हैं इस कारण जमानत दी जाना उचित नहीं होगा। अभियोजन के तर्को से सहमत होते हुए न्यायालय द्वारा आरोपियों ईश्वरसिंह पिता रतनसिंह राजपूत निवासी मोखमपुरा थाना मनासा तथा मथुरालाल पिता रूपचंद रावत निवासी ग्राम शेषपुरा थाना मनासा के जमानत आवेदन को खारिज कर दिया।

Ad Block is Banned