Neemuch Nagarpalika News इनका अस्तित्व नहीं होने से परेशान है जनता

Neemuch Nagarpalika News इनका अस्तित्व नहीं होने से परेशान है जनता

harinath dwivedi | Publish: Dec, 08 2018 10:33:16 PM (IST) Neemuch, Neemuch, Madhya Pradesh, India

अस्तित्व में होती तो जनता को नहीं भटकना पड़ता दर दर

नीमच. जनता को छोटी छोटी समस्याओं और परेशानी से निजात दिलाने के लिए नगरपालिका क्षेत्र में मोहल्ला समितियों का गठन किया जाना था। करीब दो साल से अधिक का समय बीत गया है, लेकिन आज तक नपा के 40 ही वार्डों में अब तक मोहल्ला समितियों का गठन नहीं हो सका है।नगरपालिका की उदासीनता की वजह से आम जनता को बुनियादी सुविधाओं के लिए परेशान होना पड़ रहा है।

5 सदस्यों को मिलाकर गठित होना थी समिति
नगरपालिका क्षेत्र में किसी भी मोहल्ले में रहने वाले 100 परिवारों पर एक मोहल्ला समिति का गठन होना था। इस समिति में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और कोषाध्यक्ष का चयन किया जाना था। वार्ड पार्षद समिति का संरक्षक बनाया जाना था। यदि समिति को गठन हो जाता तो समिति मोहल्ले की समस्याओं के बारे में नगरपालिका को जानकारी देती। समिति के सदस्य केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं का संचालन व उनके लिए सहयोग करती। क्षेत्र के बगीचों का विकास करने के साथ सार्वजनिक और खुली भूमि का संरक्षण करती। गैर कानूनी कामों पर रोक लगाती। नगरपालिका के लिए टैक्स भी वसूल करती। क्षेत्र में आवश्यक कार्यों की अनुशंसा भी समिति करती। आश्चर्य वर्षों बीतने के बाद भी नगरपालिका क्षेत्र में मोहल्ला समितियों का गठन नहीं हो सका।

समिति नहीं होने से यह आ रही है समस्या
नगरपालिका क्षेत्र के 40 वार्डों में मोहल्ला समिति नहीं होने से रहवासियों को छोटी छोटी समस्याओं के निराकरण के लिए परेशान होना पड़ रहा हैै। समस्याओं के निराकरण के लिए लोगों को नगरपालिका के चक्कर काटना पड़ रहे हैं। सड़क, साफ-सफाई, पेयजल आदि छोटी छोटी समस्याओं को लेकर जूझना पड़ रहा है। यदि हर वार्ड में मोहल्ला समिति का गठन हो जाता तो लोगों को समस्याओं के निराकरण के लिए दर दर भटकना नहीं पड़ता। समिति के गठन के बाद वार्ड में विकास कार्यों में गति आती। नगरपालिका अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की उदासीनता की वजह से शहर में मोहल्ला समितियों का गठन नहीं हो सका है। अब चुनावी मौसम शुरू हो चुका है ऐसे में अब इन समितियों के गठन को लेकर कोई गंभीर दिखाई नहीं दे रहा है। न ही जनप्रतिनिधि ही यह चाहेंगे कि मोहल्ला समितियों का गठन होकर क्षेत्र में विवाद की स्थिति निर्मित होकर वोट बैंक प्रभावित हो। ऐसे में अब नगरपालिका के शेष बचे एक वर्षीय कार्यकाल में तो मोहल्ला समितियों का गठन होता दिखाई नहीं दे रहा है।

नहीं आई मोहल्ला समितियां अस्तित्व में
मोहल्ला समितियों के गठन का उद्देश्य यह था कि वे अपने क्षेत्र में प्राथमिकता अनुसार कार्य तय करेंगी। नपा परिषद उन कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर कराएगी। वैसे अब तक नगरपालिका क्षेत्र में मोहल्ला समितियां अस्तित्व में नहीं आई हैं। इस बारे में 11 दिसंबर के बाद विचार करेंगे।
- संजेश गुप्ता, मुख्यनगरपालिका अधिकारी

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned