यहां नपा को है हादसे का इंतजार

क्षतिग्रस्त होने के बाद भी शुरू किया तरणताल

By: harinath dwivedi

Published: 25 Apr 2018, 10:08 PM IST

नीमच. बिना तैयारी के ही नगरपालिका परिषद ने तरणताल प्रारंभ कर दिया। न लाइफ गार्ड, न पर्याप्त पानी सिर्फ दिखावे और झूठी वाहवाही लूटने के लिए क्षतिग्रस्त तरणताल प्रारंभ कर दिया गया। पिछले साल क्षतिग्रस्त होने का हवाला देकर ही स्वीमिंगपूल बंद किया गया था। अब तक इसकी मरम्मत ही नहीं हुई है तो हादसे को आमंत्रण देने के उद्देश्य से इसे प्रारंभ किया गया।
छज्जा गिरने के बाद किया था बंद
यह आरोप कांग्रेस पार्षद महेंद्र मोनू लोक्स ने लगाए हैं। उन्होंने बताया कि पिछले साल तरणताल का एक छज्जा अचानक गिर गया था। यह तो गनिमत रही थी तब वहां कोई मौजूद नहीं था। छज्जा गिरने की घटना के बाद सुरक्षा की दृष्टि से नगरपालिका परिषद ने तरणताल बंद कर दिया था। आज तक मरम्मत का कार्य पूरा नहीं हुआ है। फिर ऐसे क्या कारण बने के इसे सुरक्षित घोषित किए बिना फिर से शुरू कर दिया गया। लोक्स ने बताया कि नीमच का स्वीमिंगपूल अंतरराष्ट्रीय स्तर पैमाने को दृष्टिगत रखते हुए बनाया गया है। पिछले कुछ सालों से तरणताल अव्यवस्थाओं और अनदेखी का शिकार बना हुआ है। स्वीमिंगपूल में सुविधाएं लगातार घटती जा रही हैं वहीं अव्यवस्थाएं बढ़ती जा रही है। हालात इतने बदतर हो चुके हैं कि कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। ऐसे में बिना मरम्मत कराए नगरपालिका परिषद की ओर से बुधवार से तरणताल शुरू करना समझ से परे है। लोक्स ने कहा कि तरणताल में किसी प्रकार का हादसा होता है तो इसके लिए नपाध्यक्ष राकेश पप्पू जैन और सीएमओ संजेश गुप्ता जिम्मेदार होंगे।
नपा अधिकारियों की होती है रात में पार्टी
स्वीमिंग पूल का दरवाजा जर्जर हालत में है। दीवारें खोखली होती जा रही हैं। सुविधाघर की स्थिति दयनीय है। पानी बदबू मार रहा है। लाइफ गार्ड की कोई व्यवस्था नहीं है। इस हालत में ही झूठी वाहवाही लूटने के लिए नपा ने इसे शुरू कर दिया है जो कि आमजन के लिए घातक साबित होगा। २ साल पहले मूलचंद मार्ग निवासी अशफाक हुसैन की स्वीमिंग पूर में डूबने से मौत हो गई थी। इस मामले में नपा की लापरवाही ही सामने आई थी। दोषियों के खिलाफ थाने में एफआईआर दर्ज हुई थी। नगरपालिका फिर से वही गलती दोहराने जा रही है। बिना तैयारी के ही तरणताल शुरू कर दिया है। छोटे-छोटे बच्चों को प्रवेश दिया जा रहा है। नगरपालिका की यह बड़ी लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती है। सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाए। स्वीमिंग पूल में कई असामाजिक तत्व का प्रवेश होता है। रात में नगरपालिका के अधिकारी-कर्मचारी पार्टी मनाते हैं, इसलिए कैमरे अतिआवश्यक है।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned