इंटकवेल के समीप अब तक नपा नहीं लगवा पाई बिजली कनेक्शन

इंटकवेल के समीप अब तक नपा नहीं लगवा पाई बिजली कनेक्शन
neemuch

vikram ahirwar | Publish: Dec, 22 2016 11:52:00 PM (IST) Ratlam, Madhya Pradesh, India

जाजू सागर बांध पर लगे ट्रांसफॉर्मर में तोडफ़ोड़, करीब 8 लाख का नुकसान


नीमच। एक ओर जहां जाजू सागर बांध में भरपूर जल संग्रहित है वहंीं इसके उलट शहर की जनता को चार दिन में एक बार जलापूर्ति हो रही है। 33 करोड़ की पेयजल योजना का 95 फीसदी कार्यपूरा हो चुका है। बस नपा की ओर से बिजली कनेक्शन लेने में हो रहे विलम्ब के चलते शहर की जनता के कंठ तर करने में विलम्ब हो रहा है। दूसरी ओर पेयजल योजना का कार्य कर रही कम्पनी को आर्थिक लगातार आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा रहा है। पिछले दिनों करीब 8 लाख रुपए लागत के ट्रांसफॉर्मर को बदमाशों ने तहस नहस कर दिया।
पेयजल योजना के प्रोजेक्ट इंजीनियर अखिलेश श्रीवास्तव ने बताया कि हमारी ओर से तो पेयजल योजना का कार्य लगभग पूरा कर लिया गया है। नपा की ओर से ही विलम्ब हो रहा है। अब तक नपा प्रशासन इंटकवेल क्षेत्र में बिजली कनेक्शन तक नहीं लगवा पाया है। जब तक बिजली कनेक्शन नहीं लगता तब तक शहर की जनता को जलापूर्ति नहीं की जा सकती। विदित हो कि इस संबंध में एक पखवाड़ा पहले नपा अधिकारियों ने कहा था कि एक सप्ताह में मौके पर बिजली कनेक्शन लग जाएगा। कनेक्शन लगना तो दूर अब तक पूरी तरह से बिजली के तार तक नहीं बिछ पाए हैं।  श्रीवास्तव ने बताया कि एक ओर तो नपा प्रशासन की ओर से देरी पर देरी की जा रही है वहीं दूसरी ओर बदमाशों द्वारा हमें आर्थिक नुकसान भी पहुंचाया भी जा रहा है। पिछले दिनों जाजूसागर बांध पर लगे 800 केवी के ट्रांसफॉर्मर को बदमाशों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। ट्रॉसफार्मर में तोडफ़ोड़ करने से कम्पनी को करीब 8 लाख रुपए का नुकसान पहुंचा है। इसकी भरपाई भी कम्पनी को ही करना पड़ेगी। इस संबंध में जीरन थाने पर एफआईआर दर्ज कराने पहुंचे थे तो बाद में आने का कहा गया। अब तक एफआईआर तक दर्ज नहीं की गई है।
बिजली कनेक्शन की वजह से अटका इंटकवेल
श्रीवास्तव ने बताया कि जाजू सागर बांध पर जब तक बिजली कनेक्शन प्रारंभ नहीं हो जाता और शहर में जलापूर्ति प्रारंभ नहीं हो जाती तब तक इंटकेवल निर्माण कार्य भी प्रारंभ नहीं किया जा सकता। इसी प्रमुख वजह यह है कि बांध में अभी बड़ी मात्रा में पेयजल संग्रहित है। उसे खाली करने के लिए शहर में तेज गति से जलापूर्तिकरना पड़ेगी। ऐसा तब ही संभव है जब नवीन पेयजल पाइप लाइन से शहर में जलापूर्ति की जाए। यह भी उन परस्थितियों में ही हो सकता है जब बांध पर नपा द्वारा बिजली कनेक्शन लगवा दिया जाए। वैसे ही बांध खाली होने के बाद इंटकवेल निर्माण में कम से कम 3 माह का समय लगेगा।
जाजू सागर बांध पर जल्द बिजली कनेक्शन लग जाएगा। एक बार और बिजली कम्पनी से शटडाउन कराना पड़ेगा। इसके बाद इंटकवेल तक बिजली लाइन बिछ जाएगी और एक सप्ताह में बिजली कनेक्शन चालू हो जाएगा। जहां तक इंटकवेल निर्माण का प्रश्न हैतो जब तक बांध का पानी खाली नहीं होगा उसका निर्माण संभव नहीं है।
- राकेश पप्पू जैन, नपाध्यक्ष

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned