फिर विधायक के दावेदारों को सौंपी जिम्मेदारी

फिर विधायक के दावेदारों को सौंपी जिम्मेदारी

harinath dwivedi | Publish: Aug, 30 2018 11:45:11 AM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ की सभा में भीड़ जुटाने दिया लक्ष्य
12 सितंबर को सभा को करेंगे संबोधित, आयोजन को लेकर हुई बैठक

नीमच. अगले महीने 12 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस कमलनाथ नीमच आ रहे हैं। अधिक से अधिक संख्या में कार्यकर्ता कार्यक्रम में उपस्थित हों इसके लिए ब्लॉक, सेक्टर और मंडलम् स्तर पर पर्यवेक्षक नियुक्त करने का निर्णय लिया गया है। साथ ही टिकट के दावेदारों को भी भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
शक्तिप्रदर्शन के रूप में होगा आयोजन
तीन महीने पहले मंदसौर जिले की पिपलिया मंडी में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसान सम्मेलन में शिरकत की थी। तब नीमच मंदसौर जिले के विधानसभा चुनाव के दावेदारों को भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी सौंपी गईथी। इस बार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ 12 सितंबर को नीमच में आमसभा को संबोधित करने आने वाले हैं। दशहरा मैदान या विद्युत शिकायत केंद्र फोर जीरो पर प्रदेश अध्यक्ष की सभा हो सकती है। दोनों में से एक स्थान का चयन करने के लिए वरिष्ठजनों की बैठक होगी। बुधवार को जिला कांग्रेस कार्यालय पर जिलाध्यक्ष अजीत कांठेड़, कार्यवाहक अध्यक्ष हाजी बाबू सलीम, राजकुमार अहीर, मधु बंसल, महिला कांग्रेस अध्यक्ष आशा सांभर, ब्लॉक अध्यक्ष ब्रजेश सक्सेना, जिला प्रवक्ता ब्रजेश मित्तल सहित बड़ी संख्या में पदाधिकारियों की मौजूदगी में बैठक रखी गई। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की मौजूदगी में भीड़ जुटाने के लिए एक बार फिर दावेदारों के बीच शक्तिप्रदर्शन होना लगभग तय है।
संसाधन जुटाने के लिए भी जुटेंगे दावेदार
जिला कांग्रेस कार्यालय परिसर में वरिष्ठ पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की बैठक में यह बात सामने आई कि सभा में भीड़ तो जुटाई जा सकती है, लेकिन इसके लिए संसाधनों की आवश्यकता पड़ेगी। ऐसे में एक बार फिर टिकट के दावेदारों से कहा गया कि वे संसाधनों की व्यवस्था कराएं। जिस प्रकार ज्योतिरादित्य सिंधिया की सभा में भीड़ जुटाने के लिए एक दावेदार ने धनबल का खुलकर उपयोग किया था ठीक ऐसे ही स्थिति कमलनाथ की सभा में भी निर्मित होती दिखाईदे रही है। 12 सितंबर को दोपहर 2 बजे के करीब कमलनाथ की सभा का समय निर्धारित किया गया है। हेलिकॉप्टर से वे नीमच पहुंचेंगे। कार्यकर्ता की अधिक संख्या की स्थिति में सभा स्थल के रूप में एकमात्र विकल्प दशहरा मैदान ही है। सभा स्थल पर चूंकि जिले की तीनों विधानसभा सीटों से कार्यकर्ता पहुंचेंगे ऐसे में संगठन को विशेष इंतजाम करना होंगे। बैठक में इसके लिए भी पदाधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गईहै। यहां तक कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की मौजूदगी में किसी प्रकार की अनुशासनहीनता न हो के लिए अभी से सभी को हिदायत भी दी गई है। मंच पर कौन कौन मौजूद रहेगा इसका निर्णय भी कमेटी बनाकर लिया जाएगा। कमलनाथ के साथ अन्य कोई नेता आ रहा है कि नहीं इसको लेकर अब तक स्थिति स्पष्ट नहीं हुई है। बैठक दोपहर 3 बजे प्रारंभ हुईजो शाम 4.30 बजे तक चली।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned