सुरक्षा गार्डों का हो रहा है। शोषण

सुरक्षा गार्डों का  हो रहा है। शोषण

harinath dwivedi | Publish: Aug, 30 2018 12:03:51 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

एटीएम सुरक्षा गार्ड को मिलता है 18 से 22 हजार वेतन
वास्तविकता में मिलता है मजदूरों से भी कम

नीमच. भारतीय स्टेट बैंक अपने यहां के एटीएम सुरक्षा गार्डको प्रतिमाह दो कैटेगिरी में वेतन का भुगतान करता है। बी और सी कैटेगिरी में 22 हजार 182 और 18 हजार 925 रुपए का वेतन भुगतान सुरक्षा गार्ड को दिया जाता है। चौकाने वाली बात यह है कि जिले में तैनात एसबीआई के सुरक्षा गार्ड को मात्र 7 हजार रुपए वेतन मिलता है।
आरटीआई से हुआ खुलासा
आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ को एटीएम पर तैनात सुरक्षा गार्ड को देखकर यह विचार आया था कि क्यों न इन गार्डों को मिलने वाले वेतन के बारे में जानकारी जुटाईजाए। उन्होंने भारतीय स्टेट बैंक के कारपोरेट ऑफिस मुम्बई आवेदन दिया। वहां से जानकारी मांगी। मुख्यालय से देश के सभी प्रांतों को पत्र लिखकर जानकारी देने के निर्देश दिए। केवल पटना बहार से जानकारी मिली। वहां से बताया गया कि एसबीआई एटीएम पर तैनात सुरक्षा गार्ड को बी और सी कैटेगिरी में वेतन दिया जाता है। बी कैटेगिरी में 22 हजार 182 रुपए और सी कैटेगिरी में 18 हजार 925 रुपए प्रतिमाह का भुगतान किया जाता है। गौड़ को यह जानकार प्रसन्नता हुई कि एटीएम सुरक्षा गार्ड को इतना अच्छा वेतन मिलता है।
नीमच में मात्र 7 हजार रुपए वेतन
आरटीआई के तहत मिली जानकारी की सच्चाई का पता लगाने के लिए नीमच में संचालित एसबीआई के एटीएम से जानकारी जुटाई गई। चौकाने वाली बात सामने आई। वहां तैनात सुरक्षा गार्ड को प्रारंभ में मात्र ४ हजार रुपए वेतन मिलता था। तीन साल बाद उसका वेतन बढ़ाकर ७ हजार रुपए किया गया जो कलेक्टर रेट से भी कम है। जहां एक ओर आरटीआई से मिली जानकारी में यह पता चला कि एसबीआई १९ से २२ हजार तक का वेतन सुरक्षा गार्ड को भुगतान किया जा रहा है दूसरी ओर खुलेआम जिले में सुरक्षा गार्डों का शोषण ही हो रहा है।
नियम बने सीधे खाते में जाए वेतन
आरटीआई के तहत मिली जानकारी में एसबीआई ने यह बात तो स्वीकार की है कि हजारों रुपए में सुरक्षा गार्ड को भुगतान किया जा रहा है, लेकिन चौकाने वाला तथ्य यह है कि एक भी सुरक्षा गार्ड स्थाईनहीं है। किसी भी गार्ड को बैंक सीधे वेतन भुगतान नहीं करती है। कम्पनियों की ओर से गार्ड तैनात किए जाते हैं। ऐसे में यह स्वभाविक है कि सुरक्षा गार्ड का शोषण होगा। बैंक जब इतना भुगतान कर रही है तो ऐसी व्यवस्था होना चाहिए कि बैंक द्वारा दिया जाने वाला वेतन सीधे गार्ड के खाते में जाए। गार्ड तैनात करने के लिए नियम भी तय किए जांए। ऐसा करने से काफी हद तक सुरक्षा गार्डों का शोषण बंद होगा।
अधिकांश को मात्र साढ़े तीन हजार वेतन
देश में अकेले एसबीआई के ही करीब 59 हजार एटीएम हैं। अन्य बैंकों के भी मिला लिए जाएं तो यह आंकड़ा करीब 2 लाख के पार पहुंच जाएगा। इतनी बड़ी संख्या में एटीएम होने और वहां सुरक्षा गार्ड तैनात करने में करोड़ों रुपए का भुगतान बैंकों की ओर से किया जाता है। लेकिन सच्चाई इससे कोसों दूर है। आज भी अधिकांश एटीएम पर तैनात सुरक्षा गार्डों को मात्र 3500 से 4000 रुपए तक ही भुगतान किया जा रहा है। यह एक चौकाने वाली बात है। इसको लेकर आरबीआई को भी मानक निर्धारित करना चाहिए।
तीन साल मिला 4 हजार वेतन
तीन साल से मैं एटीएम पर सुरक्षा गार्ड के रूप में तैनात हूं। प्रारंभ में 4 हजार रुपए वेतन मिलता था। पिछले साल दिसंबर 17 में तीन हजार वेतन बढ़ाकर 7 हजार रुपए किया गया है। वेतन का भुगतान कम्पनी की ओर से किया जाता है। बैंक से सीधे सीधे कोई लेना देना नहीं है।
- रमेशचंद्र शर्मा, एसबीआई एटीएम गार्ड
प्रतिमाह देते हैं 7 हजार वेतन
जिले में एसबीआई के करीब 50 एटीएम संचालित हैं। प्रत्येक पर एक सुरक्षा गार्ड तैनात है। प्रतिमाह प्रत्येक गार्ड को 7 हजार रुपए का भुगतान किया जाता है। एक सितंबर से तो करीब 20 एटीएम से गार्ड हटा दिए जाएंगे। गार्डको वेतन का भुगतान कम्पनी करती है एसबीआई नहीं।
- प्रमोद बोरीवाल, सुपरवाईजर
चौकाने वाली मिली जानकारी
सामान्य जिज्ञासा थी कि एटीएम गार्ड को कितना वेतन मिलता है। मन में विचार आया कि क्यों न इस बारे एसबीआई से जानकारी मांगी जाए। जानकारी मिली तो चौकाने वाले आंकड़े सामने आए।
- चंद्रशेखर गौड़, आरटीआई कार्यकर्ता
मेरी जानकारी में नहीं है
मेरी जानकारी में नहीं है कि एसबीआई के एटीएम पर तैनात सुरक्षागार्ड को कितना वेतन भुगतान किया जाता है।
- दीपक लिखिते, अतिरिक्त महाप्रबंधक एसबीआई, परिसर एवं सम्पदा विभाग, भोपाल

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned