सात किलोमीटर बाइक पर बैठाकर ले गया और पत्नी के हाथ बांध साड़ी से घौंट दिया गला


-मनासा पुलिस ने किया हत्या खुलासा, मोबाइल लोकेशन से धराया आरोपी

By: harinath dwivedi

Published: 25 Jun 2018, 12:09 PM IST

नीमच.
मनासा पुलिस ने 21 जून को ग्राम भोपाल के पास सूखे तालाब में हुई महिला की हत्या का खुलासा किया। पुलिस ने हत्या के मामले में मृतका के पति को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी पति से बाइक भी जप्त कर ली है। पुलिस अधीक्षक तुषारकांत विद्यार्थी ने बताया कि 21 जून को ग्राम भोपाल के पास वनविभाग के सूखे तालाब में एक महिला का शव मिला था। जिसका पोस्टमार्टम करवाकर हत्या का प्रकरण अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ दर्ज किया और मामले की जांच शुरु की।
पति ने की थाने में शिकायत तो पुलिस को हुआ शक
उन्होंने बताया कि 20 जून की शाम को कंवरलाल कछावा ने उसके ससुराल फोन लगाया कि रेखा कही चली गईहै। वहां तो नहीं है। जब ससुराल से रेखा के नहीं आने की बात कही गईतो कंवरलाल तत्काल थाने पहुंचा और उसने आवेदन दिया कि उसकी पत्नी रेखा पड़ोसी के साथ भाग गईहै। पुलिस को भोपाली ग्राम के सूखे तालाब में शव होने की सूचना मिली। इस पर कंवरलाल पर शक हुआ। इसके बाद शिनाख्त के लिए मृतका की दोनों बच्चियों और पिता को बुलाया गया। यहां पर उन्होंने मृतका का फोटो, शव के पास मिली चप्पल और गहने दिखाए दिए। उसके बाद मृतका के पिता भंवरलाल ने भी फोटो देखकर शिनाख्त कर ली। मृतका के पिता भंवरलाल ने पुलिस को बताया कि रेखा पर कंवरलाल चरित्र शंका करता था। इस कारण देानों के बीच विवाद होता था। और मारपीट भी करता था।
साड़ी से गला घौंटा और बांध दिए हाथ
पुलिस अधीक्षक विद्यार्थी ने बताया कि इसके बाद कंवरलाल पर और अधिक शक हुआ। उसकी कॉल डिटेल निकलवाई गई। कंवरलाल की कॉल डिटेल घटनास्थल पर बताई गई। इसके बाद कंवरलाल को जब इस बात का अंदेशा हुआ कि पुलिस को उस पर शक है तो वह फरार होने के फिराक में था। कं वरलाल को मुखबिर की सूचना पर रामपुरा नाके से पकड़ा।
यह बताई कंवरलाल ने हत्या की कहानी
उन्होंने बताया कि कंवरलाल ने पूछताछ में बताया कि उसकी पत्नी रेखा अक्सर मोबाइल पर किसी से बात करती थी। और वह संंबंधित व्यक्ति के पास रहना चाहती है। उसे बहुत समझाया पर वह नहीं मानी। इसके बाद मैं 20 जून को बाइक से बैठाकर मनासा से भोपाली ग्राम के पास वनविभाग के सूखे तालाब में ले गया। यहां पर उसके देानो हाथ बांधे। उसने विरोध भी किया तो उसके साथ मारपीट की और फिर साड़ी से उसका गला घांैट दिया। मुझ पर शक ना जाए इसके लिए थाने में आवेदन भी दिया।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned