15 अक्टूबर से खुल सकते हैं शिक्षण संस्थान

- शिक्षा मंत्रालय ने स्कूलों को फि र से खोलने के लिए दिशानिर्देश किए जारी

By: Virendra Rathod

Published: 08 Oct 2020, 11:37 AM IST

नीमच। शिक्षा मंत्रालय ने स्कूलों को फि र से खोलने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं, इनमें परिसरों की पूरी तरह सफ ाई और उन्हें संक्रमणमुक्त करना, उपस्थिति की नीतियों में लचीलापन रखना, तीन सप्ताह तक मूल्यांकन नहीं करना और कोविड.19 लॉकडाउन के दौरान घर से पढ़ाई से सुगमता से औपचारिक स्कूल प्रणाली तक बदलाव सुनिश्चित करना शामिल है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंत्रालय ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से उनकी स्थानीय आवश्यकताओं के अनुसार स्वास्थ्य और सुरक्षा सावधानियों के आधार पर खुद की मानक परिचालन प्रक्रियाएं (एसओपी) बनाने को कहा है। मंत्रालय ने 15 अक्टूबर से स्कूलों को क्रमिक तरीके से पुन: खोलने के लिए जारी दिशानिर्देशों में कहा है कि स्कूलों को सभी क्षेत्रों, फ र्नीचर, उपकरण, स्टेशनरी, पानी के टैंकों, रसोई घरों, कैन्टीन, शौचालयों, प्रयोगशालाओं, पुस्तकालयों की पूरी तरह सफ ाई करने और उन्हें संक्रमणमुक्त करने की व्यवस्था करनी चाहिए और स्कूल के भीतरी परिसर में हवा का प्रवाह सुनिश्चित करना चाहिए। स्कूलों को राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा जारी दिशानिर्देशों के आधार पर उनके खुद की एसओपी बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है, जिनमें सुरक्षा के मद्देनजर सामाजिक दूरी के नियमों का पालन किया जाए और सुनिश्चित हो कि इस संबंध में नोटिस, पोस्टर, अभिभावकों से संवाद, संदेशों को प्रमुखता से प्रसारित किया जाए।

माता-पिता की सहमति अनिवार्य
मंत्रालय ने सिफारिश की है कि स्कूलों को उपस्थिति और अस्वस्थता अवकाश संबंधी नीतियों में लचीलापन लाना चाहिए। उसने कहाए श्श्छात्र अपने माता-पिता की लिखित सहमति से ही स्कूल आ सकते हैंण् छात्र चाहें तो स्कूल आने के बजाय ऑनलाइन क्लास ही करते रह सकते हैं। स्कूलों के पुन: खुलने के दो से तीन सप्ताह तक कोई मूल्यांकन नहीं किया जाएगा और आईसीटी तथा ऑनलाइन प्रशिक्षण को प्रोत्साहित किया जाता रहेगाण्श्श् देशभर में कोरोना वायरस महामारी के कारण विश्वविद्यालयों और स्कूलों को 16 मार्च को बंद करने का आदेश दिया गया थाण् केंद्र सरकार ने 25 मार्च से लॉकडाउन लगा दिया था।

प्रदेश पर छोड़ा निर्णय
अनलॉक के ताजा दिशानिर्देशों के अनुसार कंटनेमेंट जोन के बाहर स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान 15 अक्टूबर के बाद पुन: खुल सकते हैं। इस बारे में निर्णय राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों पर छोड़ दिया गया है। दिशानिर्देशों में कहा गयाए श्श्स्कूलों को लॉकडाउन के दौरान घरों से ही चल रही पढ़ाई से औपचारिक स्कूली पढ़ाई तक सुगम बदलाव सुनिश्चित करना चाहिए।

अभी दिशा-निर्देश नहीं हुए प्राप्त
शिक्षा मंत्रालय ने जरूर १५ अक्टूबर से शिक्षण संस्थान कुछ गाइडलाइन के साथ शुरू करने के निर्देश दिए है। लेकिन प्रदेश शिक्षा मंत्रालय से भी कोई दिशा-निर्देश प्राप्त नहीं हुए है। जिला कलेक्टर कार्यालय में भी इसको लेकर बैठक है। उसके बाद ही आगे का निर्णय बता पाऊंगा।
- केएल बामनिया, प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी नीमच।

Virendra Rathod Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned