Farmer यहां के किसानों के साथ ऐसा क्या हुआ कि वे स्वयं को ठगा महसूस कर रहे हैं

Farmer यहां के किसानों के साथ ऐसा क्या हुआ कि वे स्वयं को ठगा महसूस कर रहे हैं

Mukesh Sharaiya | Publish: Aug, 08 2019 01:40:54 PM (IST) Neemuch, Neemuch, Madhya Pradesh, India

सोसायटी में जमा नहीं हुई राशि, बीमा लाभ से हो गए हजारों किसान वंचित

नीमच. विधानसभा चुनाव के पहले किसानों से वादा किया गया था कि उनका कर्जा माफ कर दिया जाएगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। इसका दुष्परिणाम अब निकल कर सामने आ रहे हैं। किसानों के खातों में राशि नहीं पहुंचने की वजह से जिले के करीब 14 हजार से अधिक किसान बीमा योजना का लाभ लेने से वंचित रहे गए हैं।

नहीं पहुंची खातों में राशि तो हो गए 'ओवरड्यू'
जिले से हजारों किसानों ने विभिन्न बैंकों और सोसायटियों से ऋण किया था। जिले में 64 हजार 636 किसान हैं। सोसायटी से ही पिछले साल 53 हजार 331 किसानों ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लिया था। विधानसभा चुनाव निपटने के बाद किसानों के खाते में राशि आ जाना चाहिए थी, लेकिन लोकसभा चुनाव के चलते आचार संहिता लगने से खातों में राशि नहीं डाली जा सकी। किसान उम्मीद लगाए बैठे रहे, लेकिन खातों में राशि नहीं आई और वे 'ओवरड्यू' हो गए। पिछले साल सोसायटी से 53 हजार 331 किसानों ने बीमा कराया था। इस बार यह संख्या घटकर 39 हजार 135 रह गई है। उपलब्ध आंकड़ों के मान से जिले के 14 हजार 193 किसान प्रधानमंत्री बीमा योजना का लाभ लेने से वंचित रह गए हैं। जानकारी लेने में स्पष्ट रूप से कोई बताने को तैयार नहीं दिखा। कुरेदने पर बताया कि जिन किसानों ने ऋण की राशि जमा नहीं कराई है वे योजना से वंचित रहे गए हैं। 2 लाख से अधिक का ऋण लेने वाले किसानों की संख्या न के बराबर है। ऐसे में किसान 'ओरवड्यू' कैसे हो गए। जानकारी लेने पर पता चला कि किसानों को ऋण माफी के प्रमाण पत्र को बांट दिए गए, लेकिन राशि खातों में जमा नहीं कराई गई। इसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ा है।

शासन को करा दिया है अवगत
यह बात सही है कि जिले के 14 हजार से अधिक किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने से वंचित रह गए हैं। किसानों को होने वाले नुकसान से मैंने प्रदेश शासन को अवगत करा दिया है। हमारा प्रयास रहेगा कि किसानों को किसी प्रकार का नुकसान न हो।
- अजीत कांठेड़, कांग्रेस जिलाध्यक्ष
दोहरी मार पड़ रही है किसानों पर
कांग्रेस सरकार ने किसानों के साथ वादा खिलाफी की है। किसान पर दोहरी मार पड़ी है। एक उनका 2 लाख रुपए तक को ऋण माफ नहीं किया। दूसरा ऋण माफ नहीं होने से वे ओवरड्यू हो गए। इसके चलते किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने से भी वंचित रह गए हैं। पिछले दिनों पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान नीमच आए थे। उन्होंने किसानों के हित में सड़क पर उतरकर आंदोलन करने की बात कही थी। जल्दी ही हम किसानों के हित में आंदोलन करेंगे।
- दिलीपङ्क्षसह परिहार, विधायक नीमच
ऋण राशि जमा नहीं होने नहीं हुआ बीमा
यह बात सही कि जिन किसानों की ऋण की राशि बैंक खाते में जमा नहीं हुई है उनकी फसल बीमा नहीं हुआ है। ऐसे किसानों को संख्या करीब 14 हजार है।
- रामप्रसाद नागदा, जिला क्षेत्रीय अधिकारी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned