Neemuch यहां अंग्रेजों के जाने के बाद भी इस समस्या से जूझ रहे हैं लोग


१४६७ प्रकरणों में से मात्र ५३२ प्रकरण हुए निराकृत
बंगला बगीचा व्यवस्थापन का प्रभारी डिप्टी कलेक्टर को
लगातार शिकायतों के बाद बदला गया प्रभार

By: Mukesh Sharaiya

Updated: 05 Sep 2019, 01:32 PM IST

नीमच. बंगला बगीचा व्यवस्थापन प्रक्रिया में लगातार कमी आ रही थी। बंगला बगीचा क्षेत्र के रहवासी की समस्याओं का निराकरण नहीं होने से परेशानी बढ़ रही थी। व्यवस्था की सुस्त प्रक्रिया की कलेक्टर को लगातार शिकायतें मिल रही थी। इसके बाद एसडीएम से प्रभार हटाकर डिप्टी कलेक्टर को सौंप दिया गया। 1467 लोगों में से मात्र 523 लोगों के प्रकरणों का ही निराकरण हुआ। इसमें से भी 486 लोगों ने ही नपा में व्यवस्थापन शुल्क जमा कराया।

लगातार तबादलों से भी हुई देरी
बंगला बगीचा समस्या के निराकरण के लिए प्रदेश शासन ने व्यवस्थापन बोर्ड का गठन किया था। इस बोर्ड ने बंगला बगीचा क्षेत्र के रहवासियों की समस्याओं के निराकरण के लिए नियमित सुनवाई की। तत्कालीन एसडीएम आदित्य शर्मा ने काफी तेजी से बंगला बगीचा के प्रकरणों का निराकरण किया। उनके स्थानांतरित होने के बाद व्यवस्थापन प्रक्रिया काफी सुस्त हो गई थी। विधानसभा और इसके बाद लोकसभा चुनाव। एसडीएम क्षितिज शर्मा ने भी अपने स्तर पर प्रकरणों का निराकरण करने में तेजी दिखाई थी। उनके कार्यकाल में करीब 170 प्रकरण निराकृत हुए। इस बीच उनका भी तबादला हो गया। एसएल शाक्य ने एसडीएम का कार्य संभाला। उनके कार्यकाल में एक भी प्रकरण का निराकरण नहीं हुआ। पिछले 8 महीने में बंगला बगीचा व्यवस्था बोर्ड द्वारा एक भी प्रकरण निराकृत नहीं किया गया। इस कार्य में सहयोग कर रहे नपा के कर्मचारी का भी तबादला हो गया। अब डिप्टी कलेक्टर को प्रभार सौंपे जाने से उम्मीद जगी है।
व्यवस्थापन के 215 प्रकरण भोपाल में अटके
बंगला बगीचा क्षेत्र के 215 रहवासियों ने अपनी जमीन का उपयोग परिवर्तन किया है। व्यवसायिक रूप में उद्देश्य परिवर्तन कराए जाने की वजह से टाउन एंड कंट्री प्लॉनिंग विभाग ने प्रकरण को स्वीकृति के लिए भोपाल भेजा है। वहां से अब तक इस संबंध में अंतिम निर्णय नहीं हुआ है। इस कारण उक्त प्रकरणों में अंतिम सुनवाई नहीं हो सकी है। कुल एक हजार 467 जमा आवदेनों में से 947 प्रकरण की आगे बढ़ सके हैं। व्यवस्थापन बार्ड में अब तक मात्र 523 प्रकरणों का ही निराकरण किया है। इनमें से 486 लोगों ने नगरपालिका में व्यवस्थापन शुल्क के रूप में 3 करोड़ 14 लाख 31 हजार 301 रुपए की राशि जमा कराई है।
जल्द की जाएगी सुनवाई शुरू
व्यवस्थापन प्रक्रिया की सुनवाई की जिम्मेदारी मुझे मिली है। नगरपालिका क्षेत्र के अंतर्गत बंगला बगीचा क्षेत्र के रहवासियों के प्रकरणों की सुनवाई जल्द प्रारंभ की जाएगी।
- पीएल देवड़ा, डिप्टी कलेक्टर

Mukesh Sharaiya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned