लॉक डाउन की छूट कहीं न पड़ जाए भारी

लॉक डाउन की छूट कहीं न पड़ जाए भारी

नीमच। जिले में इस समय प्रशासन ने लॉक डाउन घोषित किया हुआ है, इसके बावजूद बड़ी तादाद में लोग प्रशासन की छूट का फायदा उठाते हुए बाजारों में बेवजह घूमते नजर आ रहे हैं। प्रशासन ने यह छूट लोगों की सहूलियत के लिए दी थी, लेकिन इसका बेवजहा फायदा उठाते हुए लोग यहां वहां बेपरवाह घूमने में लगे हैं, जो कि आमजन और प्रशासन के लिए ही बड़ा ही घातक हो सकता है।

 

हालात यह है कि प्रशासन ने किराना, सब्जी, दूध सहित अन्य आवश्यक सेवा की दुकानों को सुबह आठ से १२ बजे तक खुलने की छूट दी है। कई लोग इसकी आड़ में बगैर काम के भी घूमने में लगे हैं, वही सब्जी मंडी में भी बड़े पैमाने पर लोग पहुंचकर बीमारियों को न्यौता देने में लगे हैं। कई लोगों का कहना है कि मंदसौर में जिस तरह से किराना की घर पहुंच सेवा के लिए किराना व्यापारियों के नाम और नंबर जारी किए हैं, इसी तरह नीमच में भी प्रशासन को ऐसा कोई कदम उठाना चाहिए नहीं तो इसके गंभीर परिणाम नीमच वासियों को भुगतने पड़ सकते हैं और कोरोना जैसा वायरस यहां फैलते से देर नहीं लगेगी।

किराना दुकानों के लिए भी नियम
महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगना सहित कई राज्यों में कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते लॉक डाउन के दौरान किराना, दूध व सब्जी के लिए मिलने वाली छूट के दौरान किराना दुकान पर भीड़ न करने के आदेश है। वहीं प्रशासन ने दुकानों के आगे गोले बनाकर खरीददार की प्रत्येक व्यक्ति से दूरी सुनिश्चित कर दी है। जिससे एक-दूसरे के संपर्क से दूर रहे है और संक्रमण न फैल सके।

दूरी बनाकर रखे, परिवार सुरक्षित रखे
एक बार फि र हम आम जनता से यह अपील करते हैं कि अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर गंभीर रहें और लॉक डाउन का समर्थन करते हुए अपने अपने घरों में सुरक्षित रहें नहीं तो ऐसा ना हो कि अब प्रशासन कोई कड़ा निर्णय लें और मिलने वाली छूट भी बंद करनी पड़ जाए।
- जितेंद्र सिंह राजे, जिला कलेक्टर नीमच।

Virendra Rathod Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned