पैरों के निशान ने बताया बेटे ने किया था मां का कत्ल

पैरों के निशान ने बताया बेटे ने किया था मां का कत्ल

By: harinath dwivedi

Published: 12 Oct 2018, 11:14 PM IST

मनासा. अरोपी के पैरों के निशान से तीन दिन पहले हुए अंधे कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली। महिला का कत्ल करने वाला कोई ओर नहीं बल्कि उसका बड़ा बेटा ही निकला। जिसने किसी काम की बात में हुए झगड़े के चलते कुल्हाड़ी से वार कर अपनी ही मां की जीवन लीला समाप्त कर दी।

काम करने की बात को लेकर बेटे ने ही की थी मां की हत्या
नगर से 6 किलोमीटर दूर स्थित गांव दरगपुरा में तीन दिन पहले हुए अन्धे कत्ल की गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। एसडीओपी आरसी फाकर एवं थाना प्रभारी किशोर पाटनवाला ने बताया कि 9 अक्टूबर को गांव दरगपुरा के जोगणिया माता मंदिर में किसी महिला की शव मिलने की सूचना मिली थी। शव गांव की भुलीबाई पति कनीराम बंजारा (55) की थी। जिसकी किसी व्यक्ति ने धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी। प्रारंभिक तोर पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ धारा 302 में मामला दर्ज कर विवेचना शुरू की। पुलिस ने घटनास्थल पर भौतिक साक्ष्यों एवं अज्ञात व्यक्ति के दाहिने पैर के निशान जो खून में रंगे होकर दूसरे रास्ते की ओर जा रहे थे। वहीं ग्रामीणों ने बताया कि मृतका भुलीबाई का बड़ा बेटा जयसिंह बंजारा आश्रम पर ही मोजूद था। पुलिस ने घटना स्थल पर पाए गए पैरों के निशान एवं मृतका के बड़े बेटे के पैरों के निशान को मिलाया तो दोनों एक ही व्यक्ति के पाए जाने के बाद पुलिस ने तीन दिन में अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा ली। जिसके बाद पुलिस ने जयसिंह से दबाव बनाकर पुछताछ की तो जयसिंह ने अपना गुनाह कबुल लिया। आरोपी जयसिंह पिता कनीराम दायमा बंजारा (25) वर्ष निवासी दरगपुरा ने बताया कि काम की बात को लेकर मां से झगड़ा हो गया था। इस दौरान पास में रखी कुल्हाड़ी से मांं के सिर पर पीछे से वार कर फरार हो गया था।

harinath dwivedi Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned