मेरा शहर मेरा मुद्दा, ये कैसा शहर जहां नहीं वाहनों को खड़े करने की जगह

मेरा शहर मेरा मुद्दा, ये कैसा शहर जहां नहीं वाहनों को खड़े करने की जगह

harinath dwivedi | Publish: Oct, 13 2018 10:52:00 PM (IST) Neemuch, Madhya Pradesh, India

मेरा शहर मेरा मुद्दा, ये कैसा शहर जहां नहीं वाहनों को खड़े करने की जगह

नीमच. जनसंख्या बढ़ोतरी के साथ साथ दिनों दिनों शहर में दो पहिया व चार पहिया वाहनों की बढ़ोतरी होती जा रही है। लेकिन पार्किंग व्यवस्था के अभाव में फैल रही अव्यवस्था के कारण आमजन का मुख्य मार्ग से निकलना भी दुश्वार हो चुका है। हर बार जनप्रतिनिधि चुने जाते हैं। लेकिन इस ओर किसी ने ध्यान नहीं दिया। यही कारण है कि अवैध पार्किंग की समस्या विकराल रूप धारण करती जा रही है।
पत्रिका द्वारा मेरा शहर मेरा मुद्दा अभियान के तहत जब शहर की ओर नजर डाली तो हालात आश्चर्य जनक नजर आए। शहर का एक भी मार्ग ऐसा नहीं था। जहां आमजन को आवाजाही करने में दिक्कत नहीं हो रही हो। कहीं घरों के सामने, कहीं दुकानों के सामने, कहीं सरकारी और कहीं प्रायवेट संस्थाथानों के सामने भी अव्यवस्थित पार्किंग ने अपने पैर पसार रखे हैं।

केस 1. कहने को तो गायत्री मंदिर रोड शहर का सबसे लंबा चोड़ा मार्ग है। इसे उत्कृष्ट सड़क भी कहा जाता है। लेकिन अव्यवस्थित पार्किंग के चलते सबसे बुरी गत इसी मार्ग की हो रही है। इस मार्ग की दोनों सड़क पर सैंकड़ों की संख्या में अवैध रूप से दो पहिया वाहन खड़े होते हैं। जिससे हमेशा दुर्घटना का भी भय बना रहता है।

केस 2. शहर की दाना गली में कतारबद्ध तरीके से लोगों की दुकानें और मकान हैं। लेकिन पार्किंग की व्यवस्था नहीं होने के कारण घर और दुकानों के सामने दो पहिया व चार पहिया वाहनों का जमावड़ा लग जाता है। जिससे मुख्य सड़क गली का रूप धारण कर लेती है।

केस 3. शहर के तिलक मार्ग के हालात ओर भी बद्तर हो रहे हैं। यहां आवाजाही के दौरान एक भी चार पहिया वाहन सामने आ जाए तो निश्चित ही जाम लग जाता है। कई बार यहां लगने वाला जाम विवाद के बाद ही खुल पाया है। दिन में कई बार जाम लगना यहां की आम बात हो चुकी है। जिसका मुख्य कारण पार्किंग का अभाव है।

केस 4. कहने को तो टेगौर मार्ग पर पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है। नपा ने नो पार्किंग का भी बोर्ड लगा रखा है। लेकिन यहां चार पहिया वाहन कतारबद्ध तरीके से खड़े होते हैं। जिससे मुख्य सड़क गली का रूप ले चुकी है। लेकिन इस ओर जिम्मेदारों का ध्यान नहीं है।


वर्तमान विधायक दिलीपसिंह परिहार को विधानसभा चुनाव में भाजपा का प्रमुख दावेदार माना जा रहा है। हालांकि पत्रिका से चर्चा में उन्होंने बताया कि टिकिट तय करना पार्टी और संगठन का काम है। अगर मुझे मौका मिलता है तो निश्चित ही चहुं ओर विकास के लिए निरंतर कार्य करूंगा। वहीं पार्किंग वाले मुद्दे पर उन्होंने बताया कि इस संबंध में नगरपालिका के साथ बैठकर ऐसी प्लानिंग की जाएगी। जिससे शहरवासियों को व्यवस्थित पार्किंग मिले।

- दिलीपसिंह परिहार

आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस नेता तरूण बाहेती का नाम सामने आ रहा है। पत्रिका से चर्चा में उन्होंने बताया कि मुझे मौका मिला तो सबसे पहले नीमच विकासखंड में अधूरे पड़े कार्यों को पूरा करवाया जाएगा। साथ ही स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करेंगे। विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के लिए बाहर जाना पड़ता है। इस समस्या का निराकरण शीघ्र करेंगे। वहीं सबसे बड़ी समस्या रोजगार की सामने आती है। जिसके कारण युवा जिला तक छोड़कर जाने पर मजबूर है। ऐसे में उद्योग धंधे स्थापित करवाने से लेकर रोजगार के अवसरों को बढ़ाया जाएगा। बंगला बगीचा का लीज रेंट खत्म करवाने, ग्रामीण क्षेत्रों में अस्पताल से लेकर मुलभुत सुविधाओं में बढ़ोतरी की जाएगी। पार्किंग के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि नीमच मंदसौर जिले का संयुक्त विकास प्राधिकरण तैयार किया जाना चाहिए। नीमच की सीमा बढ़ाई जानी चाहिए। ताकि पार्किंग जैसी कई समस्याएं स्वत: ही हल हो जाएगी। इसके लिए हम महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

- तरूण बाहेती

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned