स्टॉफ की कमी से जूझ रहा आरटीओ कार्यालय

स्टॉफ की कमी से जूझ रहा आरटीओ कार्यालय

By: Virendra Rathod

Updated: 18 Dec 2018, 12:03 PM IST

नीमच। आरटीओ परिसर में इन दिनों स्टॉफ कमी से जूझ रहा है, यह हाल जिले का नहीं है, वरन समूचे प्रदेश में विभाग की यही हालत है। जिले की बात करे तो लंंबे समय एआरटीओ और आरटीआई अर्थात परिवहन निरीक्षक का पद रिक्त है। लेकिन अभी तक नियुक्ति नहीं हुई और तो और यहां पर चपरासी की नियुक्ती भी नहीं हुई है। परिणामस्वरूप चपरासी का काम भी क्लर्क को ही करना पड़़ता है। इसका खामियाजा आवेदकों ने कतार में लगकर भुगताना पड़ता। आधे घंटे की प्रक्रिया के लिए दो घंटे तक इंतजार करना पड़ता है। दिनभर में अलग-अलग कामों से करीब 150 लोग आ जाते हैं। जो लोग फ ोर व्हीलर का ट्रायल देने पहुंचे है, उनको टेस्टिंग की जरूरत ही नहीं पड़ी। कागजों में ही प्रक्रिया कर दी जाती है। फि टनेस शाखा पर तो दिनभर ताला लगा मिलता है।

 

परिवहन कार्यालय में आरटीओ बरखा गौड़, सहायक ग्रेड.2 प्रकाश श्रीवास्तव, ग्रेड.3 सुमित चौहान क्लर्क एमके सिसौदिया सहित एक चौकीदार का स्टाफ है। जो कि इतने बड़े ऑफिस को संभालते है। फिटनेस, ट्रायल, लाइसेंस अन्य संबंधी काम यहीं संभालते है। स्टॉफ कमी के चलते वाहनों की चैकिंग भी समय पर नहीं हो पाती है। जिसका नतीजा शहर में कई वाहन बिना परमिट के सड़क पर दौड़ रहें हैं। वही बिना ट्रायल के ही चालक को लाइसेंस थमा दिया जाताी है।

 

 

गुरुवार का दिन ट्रायल के लिए निश्चित
आरटीओ में खासकर वाहनों की ट्रायलए टेस्टिंग के लिए मंगलवार और गुरुवार का दिन निर्धारित है। इस दिन आवेदकों की भीड़ रहती है। लंबी लोगों की कतार लगी होने से कई बार बिना ट्रायल दिए भी आवेदक निकल जात है। जो एंजेंट के मार्फत आते है, उनका काम जल्द हो जाता है।

यह पद है रिक्त
पद रिक्त संख्या
एआरटीओ------01
आरटीआई------01
क्लर्क----------02
चपरासी--------01

 

वर्क लोड रहता है
प्रदेश में कई जिलो में परिवहन विभाग के कार्यालयों कई पद रिक्त पड़े है, नीमच में भी स्टाफ शॉर्ट है। जिससे वर्कलोड पड़ता है। यहां तक की चपरासी का पद रिक्त होने के कारण वह काम भी हम बाबू को ही करना होता है। उसके अलावा अन्य काम भी देखने होते हैं। कई बार छुट्टी के दिन भी काम करना होता है।
- प्रकाश श्रीवास्तव, सहायक गे्रड द्वितीय

 

स्टाफ कम है
निर्धारित संख्या से स्टॉफ कम है। प्रशासन के लिख रखा है। एआरटीओ, आरटीआई, दो बाबू का पद रिक्त है। लेकिन मौजूदा स्टाफ से भी अच्छा काम हो रहा है। अन्य विभागों में भी सरकारी पद रिक्त ही चल रहें हैं।
- बरखा गौड़, आरटीओ नीमच।

Virendra Rathod Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned