scriptNow those operating pre nursery and KG schools will also have to take | अब प्री नर्सरी और केजी स्कूलों का संचालन करने वालों को भी लेनी होगी मान्यता | Patrika News

अब प्री नर्सरी और केजी स्कूलों का संचालन करने वालों को भी लेनी होगी मान्यता

- राज्य सरकार द्वारा शाला पूर्व शिक्षा नीति को किया गया लागू

नीमच

Published: April 26, 2022 07:42:18 pm

नीमर्च। मध्य प्रदेश स्कूल में व्यवस्था की गई है। दरअसल प्री नर्सरी, नर्सरी और केजी कक्षाओं का संचालन करने के लिए स्कूलों को मान्यता लेना अनिवार्य होगा। राज्य सरकार द्वारा शाला पूर्व शिक्षा नीति 2022 को लागू कर दिया गया है।
अब प्री नर्सरी और केजी स्कूलों का संचालन करने वालों को भी लेनी होगी मान्यता
अब प्री नर्सरी और केजी स्कूलों का संचालन करने वालों को भी लेनी होगी मान्यता

वहीं नीति के लागू होने के साथ ही अब बगैर मान्यता यदि स्कूलों का संचालन किया जाता है तो संचालकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसपर बड़ा एक्शन लिया जाएगा। नवीन नीति के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों में नजदीक के 3 से 6 साल के बच्चों को शाला पूर्व शिक्षा दिया जाएगा। बता दे कि नवीन नीति की मंजूरी के साथ ही इसका उद्देश्य बच्चों को पहली कक्षा के लिए बुनियादी तौर पर पूर्ण रुप से तैयार करना है। साथ ही शिक्षा व्यवस्था को सूचित करना है। बाल संस्कार केंद्र, शिशु विकास केंद्र, नर्सरी केंद्र के नाम से संचालित की जाती है। इसके लिए राज्य शासन की मंजूरी लेनी है। आंगनवाड़ी केंद्रों में अतिरिक्त कक्षा तैयार की जाएगी। वहीं आंगनबाड़ी केंद्रों को स्कूल के तौर पर तैयार किया जाएगा।प्री नर्सरी-नर्सरी-केजी के छात्रों को पढ़ाने के लिए शिक्षक की नियुक्ति की जाएगी और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। 5 साल के लिए इस नीति को तैयार किया जा रहा था। जिसे अब लागू किया गया है। जानकारी के मुताबिक किसी भी स्कूल में पहली कक्षा में प्रवेश के लिए 6 साल की उम्र को चुना गया है। शासकीय स्कूल में प्रवेश लेने से पहले बच्चों को तैयार किया जाएगा। उनकी बुनियाद को वितरण किया जाएगा और शिक्षा नीति इस खाली स्थान को भरेगी।

महिला बाल विकास विभाग के जिला अधिकारी प्री नर्सरी- केजी स्कूल को मान्यता देंगे
शाला पूर्व शिक्षा नीति के तहत इसके लिए अलग से पाठ्यक्रम तैयार किए जाएंगे और अतिरिक्त सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए व्यवस्था किया जाएगा। नवीन नीति के तहत महिला बाल विकास विभाग के जिला अधिकारी प्री नर्सरी- केजी स्कूल को मान्यता देंगे। साथ ही अधिकारियों को नोडल बनाया जाएगा। जिसके बाद उचित निरीक्षण और कार्रवाई की जाएगी। यह नियम आंगनबाड़ी केंद्र, शिशु गृह प्ले स्कूल, शाला पूर्व शिक्षा केंद्र, नर्सरी स्कूल, किंडर गार्डन, प्रारंभिक स्कूल गृह आधारित देखरेख केंद्र पर लागू किए जाएंगे।

इनका यह कहना है
प्री नर्सरी स्कूल की मान्यता को लेकर शिक्षा विभाग के पास कोई निर्देश नहीं आए है। जहां तक जानकारी है कि महिला बाल विकास विभाग से मान्यता लेनी होगी।
- सीके शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी नीमच।
पूर्व में जानकारी दी गई थी कि जुलाई सत्र से खुलने वाले प्री नर्सरी व केजी स्कूलों को महिला बाल विकास विभाग से मान्यता जारी होगी। इसके विस्तृत निर्देश अभी प्राप्त नहीं हुए है। मैं जानकारी लेकर आपको कल बताता हूं।
- संजय भारद्धाज, महिला बाल विकास अधिकारी नीमच।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Crisis: क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया के फॉर्मूले जैसा ही एकनाथ शिंदे गुट को लाने की तैयारी में बीजेपी, समझें क्या है पार्टी का प्लान बीMaharashtra: ईडी के समन पर संजय राउत ने कसा तंज, बोले-ये मुझे रोकने की साजिश, हम बालासाहेब के शिवसैनिकPresidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बागी मंत्रियों के छीने विभागMaharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.